अमिताभ को घसीटे जाने की जांच हो: बीजेपी

अमिताभ को घसीटे जाने की जांच हो: बीजेपी

By: | Updated: 26 Apr 2012 03:01 AM


नई
दिल्‍ली:
बीजेपी नेता जसवंत
सिंह
ने लोकसभा में मांग की
कि सरकार न्यायिक आयोग बनाकर
जांच करे कि बोफोर्स घोटाले
में अमिताभ बच्चन को कैसे
फंसाया गया था. वीडियो
देखें


स्वीडन के पूर्व
पुलिस प्रमुख स्टेन
लिंडस्ट्रोम ने पत्रकार
चित्रा सुब्रमण्यम को दिये
इंटरव्यू में कहा है कि
बोफोर्स जांच के दौरान
अमिताभ का नाम उछालने का दबाव
दिया गया था.

बोफोर्स पर
जब लोकसभा में बहस शुरू हुई
तो बीजेपी नेता जसवंत
सिंह
ने कहा कि इस मामले पर
क्‍वात्रोकी को भारत नहीं
लाया जा सका. उन्‍होंने कहा
कि कांग्रेस ने बोफोर्स
मामले पर काफी सीटें गवांई.  वीडियो
देखें


जसवंत
सिंह
ने मांग की कि
क्‍वात्रोकी को सुरक्षित
भगाने और इस मामले में अमिताभ
बच्‍चन को फंसाने की
न्‍यायिक जांच की जानी चाहिए.

उन्‍होंने
कहा, 'मुझे इस बात की बेहद खुशी
है कि आखिरकार यह साबित हो
गया है कि बोफोर्स घोटाले से
अमिताभ बच्‍चन को कोई
लेना-देना नहीं है. इसलिए मैं
मांग करता हूं कि आयोग का गठन
कर जांच की जाए कि अमिताभ को
इस मामले में कैसे घसीटा गया.
यह जानना जरूरी है कि यह
क्‍यों और कैसे हुआ.' वीडियो
देखें


वहीं, बीजेपी ने
स्वीडन के पूर्व पुलिस
प्रमुख स्टेन लिंडस्ट्रोम
के खुलासे पर केंद्र सरकार से
स्पष्टीकरण मांगा. सांसदों
ने कहा कि इस मामले में अभी तक
सरकार की ओर से सफाई नहीं आई
है.

बीजेपी नेता
'क्वात्रोक्की को किसने
बचाया' की नारेबाजी कर रहे थे.
जवाब में कांग्रेस के
सदस्यों ने चिल्लाकर कहा,
'भाजपा!'

उधर, वामपंथी दलों
ने भी मांग की है कि सरकार नए
सिर से बोफोर्स की जांच कराए.


बीजेपी ने सरकार को सदन
में घेरा तो कांग्रेस सांसद संजय
निरुपम
ने भी करार हमला
किया. उन्‍होंने कहा कि राजीव
गांधी को बदनाम करने के लिए
बीजेपी देश से माफी मांगे.

संजय
निरुपम के मुताबिक, 'राजीव
गांधी को बदनाम करने के लिए
बीजेपी के सांसदों को देश से
माफी मांगनी चाहिए. इस मामले
न्‍यायिक जांच नहीं हो सकती
क्‍योंकि सुप्रीम कोर्ट ने
अपने फैसले में राजीव गांधी
को क्‍लीन चिट दी है. यही नहीं
जिस पत्रकार ने इंटरव्‍यू
दिया है उसने भी राजीव गांधी
को क्‍लीन चिट दी है. रही बात
बिजनेसमैन (क्‍वात्रोकी) की
तो एनडीए सरकार छह बरस तक
सत्ता में रही तब उसने उसके
खिलाफ कार्रवाई क्‍यों नहीं
की. ऐसे में न्‍यायिक जांच का
तो सवाल ही नहीं उठता.' वीडियो
देखें


इससे पहले
स्वीडिश पुलिस के पूर्व
अधिकारी स्टेन लिंडस्ट्रोम
की ओर से बोफोर्स घोटाले में
क्लीन चिट मिलने के बाद
बुधवार को बॉलीवुड के
महानायक अमिताभ बच्चन ने कहा
था कि परिवार खुश है, लेकिन
उन्हें दुख है कि बेगुनाही
साबित होने में 25 साल लगे.

25
साल के लंबे अर्से में जो दुख
अमिताभ ने झेला उसे बयान करते
हुए कहा, 'दुख इस बात का है कि
स्वीडिश पुलिस चीफ ने 25 पहले
ऐसा क्यों नहीं कहा, जबकि मैं
पहले दिन से ही कह रहा था कि
निर्दोष हूं. बहुत दुख है कि 25
साल तक हमें बदनामी और
बेइज्जती के साथ जीना पड़ा.'

गौरतलब
है कि स्वीडिश पुलिस के पूर्व
अधिकारी स्टेन लिंडस्ट्रोम
ने 25 साल बाद पत्रकार चित्रा
सुब्रमण्यम को इंटरव्यू
दिया है, जिसमें उन्होंने
आरोप लगाया है कि राजीव गांधी
के इशारे पर हथियारों के दलाल
ओत्तावियो क्वात्रोकी को
बचाया गया.

हालांकि स्टेन
का यह भी कहना है कि राजीव
गांधी की बोफोर्स तोप की खरीद
में घूस लेने का कोई सबूत
नहीं है. उन्‍होंने यह भी कहा
था कि बोफोर्स मामले में
अमिताभ बच्‍चन को फंसाया गया
था.




संबंधित खबरें




देश
से माफी मांगे बीजेपी: संजय
निरुपम
|नहीं
होगी बोफोर्स घोटाले की जांच:
सूत्र
  | अमिताभ
बच्‍चन के दर्द के वो 25 साल

| राजीव
गांधी ने क्‍वात्रोकी को
बचाया: लिंडस्‍ट्रोम
| आखिर
25 साल बाद खुलासा क्‍यों?
वी‍पी
सिंह पर लगे आरोप











फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story अंग्रेजी मीडियम से पढ़ा, इंजिनियर है तौकीर कुरैशी, कई बम धमाकों में शामिल था ये मोस्ट वॉन्टेड आतंकी