अमित शाह ने आजमगढ़ को बताया आतंकवादियों का ठिकाना, दिग्विजय सिंह ने जताई आपत्ति

अमित शाह ने आजमगढ़ को बताया आतंकवादियों का ठिकाना, दिग्विजय सिंह ने जताई आपत्ति

By: | Updated: 05 May 2014 02:33 AM

आजमगढ..बलिया: बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पार्टी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेन्द्र मोदी के निकट सहयोगी अमित शाह द्वारा आजमगढ को आतंकवादियों का ठिकाना कहे जाने पर कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने कड़ी आपत्ति जताई है. दिग्विजय सिंह ने कहा है कि इस मामले में चुनाव आयोग को अमित शाह के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए.

 

दिग्विजय सिंह ने ट्विटर पर लिखा है-  आजमगढ़ हिंदू-मुस्लिमों के बीच अच्छे संबंधों के लिए जाना जाता है. आजमगढ़ में 1947 के बंटवारे और 1992 में बाबरी मस्जिद गिराए जाने के बाद भी दंगे नहीं हुए थे.

 

दिग्विजय ने ट्विटर पर लिखा है - मैं आजमगढ़ के बारे में अमित शाह की टिप्पणी की कड़ी निंदा करता हूं. चुनाव आयोग को इस पर कार्रवाई करनी चाहिए.

 

दिग्विजय सिंह ने ट्विटर पर लिखा है - क्या मोदी बम धमाकों के आरोपी असीमानंद और प्रज्ञा सिंह के एनजीओ शबरी आश्रम को अपनी सरकार की तरफ से दिए गए अनुदान के बारे में बताएंगे?'

 

यूपी में में सत्तारढ़ समाजवादी पार्टी ने भी अमित शाह के खिलाफ चुनाव आयोग से कार्रवाई की मांग की है.

 

शाह ने आजमगढ लोकसभा सीट से पार्टी उम्मीदवार रमाकांत यादव के समर्थन में आयोजित एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, ‘आजमगढ आतंकवादियों का ठिकाना है, इसलिए कि सपा सरकार उनको (आतंकी मामलों में गिरफ्तार) छोडने की पैरवी कर रही है.’ उन्होंने कहा, ‘उप्र में सरकार का कोई डर नहीं है और गुजरात बम विस्फोट के आरोपी भी आजमगढ के थे, जिन्हें गृह मंत्री रहते हुए हमने गिरफ्तार करवाया और तब से आज तक गुजरात में कोई आतंकी घटना नहीं हुई.’ शाह की इस टिप्पणी पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए सपा नेता सीपी राय ने कहा है कि चुनाव आयोग को उनकी इस टिप्पणी का संज्ञान लेकर उचित कार्रवाई करनी चाहिए.

 

शाह ने प्रदेश में सत्तारुढ सपा के मुखिया मुलायम सिंह यादव पर हमला बोलते हुए कहा, ‘उनका समाजवाद परिवारवाद बढाने में है.’ उन्होंने मैनपुरी के साथ ही आजमगढ से चुनाव लड रहे सपा मुखिया पर एक और बाण छोडते हुए आरोप लगाया कि वे अपने दूसरे बेटे के लिए राजनीतिक जमीन तैयार कर रहे हैं.

 

बीजेपी नेता ने कांग्रेसनीत संप्रग सरकार पर भ्रष्टाचार के आरोप पुन: दोहराते हुए कहा कि संप्रग से दस साल के शासनकाल में 12 लाख करोड रुपये का घोटाला हुआ है और यह भ्रष्टतम सरकार साबित हुई है.

 

उन्होंने केन्द्र सरकार पर सीमा की सुरक्षा का ध्यान नहीं रखने का आरोप लगाते हुए दावा किया कि केन्द्र में मोदी सरकार बनने के बाद चीन और पाकिस्तान अपने आप ही अपनी सीमा रेखा के 30 किमी अंदर चले जायेंगे.

 

शाह ने उत्तर प्रदेश की बदहाली के लिए जातिवादी राजनीति को जिम्मेदार ठहराया और कहा सपा मुखिया मुलायम और बसपा मुखिया मायावती प्रधानमंत्री बनने का ख्वाब देख रहे हैं, जबकि उत्तर प्रदेश के बाहर इनका कोई वजूद नहीं है.

 

बलिया में पार्टी उम्मीदवार भरत सिंह के समर्थन में एक जनसभा को संबोधित करते हुए अमित शाह ने दावा करते हुए कहा, ‘बीजेपी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेन्द्र मोदी 14 साल से गुजरात के मुख्यमंत्री हैं. मगर उन पर घोटाले का एक भी आरेाप नहीं है.’

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story राजस्थान विधानसभा भवन में 'बुरी आत्माओं' का साया, हवन कराने की मांग