अमेरिका मीडिया ने भारत की तुलना चीन से की

अमेरिका मीडिया ने भारत की तुलना चीन से की

By: | Updated: 19 Apr 2012 11:20 AM









नई
दिल्ली/न्यूयॉर्क/बीजिंग/इस्लामाबाद
:
परमाणु क्षमता से लैस देश की
पहली इंटरकॉन्टिनेंटल
बैलेस्टिक मिसाइल 'अग्नि 5' के
सफल परीक्षण के बाद अमेरिकी
मीडिया ने भारत की बराबरी चीन
से की, वहीं चीन ने इसपर सधी
हुई प्रतिक्रिया दी है तो
पाकिस्तानी वेबसाइट्स पर यह
खबर छाई रही.




अमेरिकी मीडिया ने आशंका
जताई है कि भारत के इस कदम से
उस क्षेत्र में हथियारों की
रेस बढ़ेगी.




न्यूयॉर्क टाइम्स ने अग्नि-5
के सफलतापूर्वक परीक्षण पर
लिखा, "इशिया में सैन्यीकरण
की अंतरराष्ट्रीय आशंका के
बीच अग्नि-5 का परीक्षण हुआ है.
इससे  अमेरिका और चीन की
सामरिक प्रतिद्वंद्विता भी
बढ़ेगी."




5500 किलोमीटर तक मार करने वाली
अग्नि-5 रेंच चीन के शहर
बीजिंग और शंघाई तक पहुंचते
हैं.




अमेरिकी अखबार वॉल स्ट्रीट
जनरल ने एक रक्षा विशेषज्ञ की
बयान छापा जिसमें लिखा गया है
कि अग्नि-5 भारत का सबसे उत्तम
मिसाइल है और इसका निशाना
बीजिंग तक जाता है, जबकि चीन
के पास भारत के अंदर तक मार
करने वाली मिसाइल पहले ही से
हैं.




चीन की सधी हुई प्रतिक्रिया




अग्नि-5 के सफल परीक्षण के बाद
चीन ने सधी हुई प्रतिक्रिया
व्यक्त करते हुए कहा कि वह
उसका प्रतिद्वंद्वी नहीं
बल्कि सहयोगी है. जबकि चीन के
मीडिया ने इसकी आलोचना की है.




चीन के सरकारी
समाचार पत्र 'ग्लोबल टाइम्स'
ने इसके लिए भारत की आलोचना
करते हुए कहा कि वह 'मिसाइल
भ्रम' की स्थिति पाले है.




भारत के अग्नि-5 मिसाइल के सफल
परीक्षण के बाद चीनी विदेश
मंत्रालय के प्रवक्ता ली
वीमिन ने कहा, "चीन को भारत के
मिसाइल परीक्षण के बारे में
जानकारी है. भारत और चीन,
दोनों उभरती अर्थव्यवस्थाओं
वाले देश हैं. हम
प्रतिद्वंद्वी नहीं, बल्कि
सहयोगी हैं."




वहीं, सरकारी समाचार पत्र
'ग्लोबल टाइम्स' ने अपने
सम्पादकीय में कहा, "भारत
मिसाइल भ्रम की स्थिति पाले
है. भारत के पास चीन के
ज्यादातर हिस्सों के
लक्ष्यों तक पहुंच सकने वाली
मिसाइलें हो सकती हैं लेकिन
समग्र हथियारों की दौड़ में
वह चीन के सामने कहीं नहीं
टिकता."




पाकिस्तानी वेबसाइट्स की
हलचल





बैलिस्टिक मिसाइल अग्नि-5 के
सफल परीक्षण के मिनटों बाद ही
पाकिस्तानी वेबसाइट्स पर यह
खबर छा गई.




'न्यूज इंटरनेशनल' पर एक
एजेंसी के समाचार को 'इंडिया
सक्सेसफुली टेस्ट्स अग्नि-5
मिसाइल' शीर्षक के साथ
प्रकाशित किया गया. इस समाचार
के साथ वेबासाइट पर अग्नि-5 की
गणतंत्र दिवस परेड के दौरान
दिल्ली में ली गई तस्वीर भी
जारी की गई.




पाकिस्तान के एक प्रमुख
दैनिक 'डॉन' ने 'इंडिया
टेस्ट्स लांग-रेंज
न्यूक्लीयर-कैपेबिल मिसाइल:
सोर्स' शीर्षक नाम से एक
एजेंसी समाचार चलाया. समाचार
में एक रक्षा सूत्र के हवाले
से कहा गया है कि यह मिसाइल
चीन में किसी भी स्थान पर एक
टन परमाणु मुखास्त्र
पहुंचाने में सक्ष्म है.




समाचार के साथ भारतीय राज्य
ओडिशा में अग्नि-5 के परीक्षण
की तस्वीर जारी की गई है.




फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story जस्टिस अरुण मिश्रा ने जज लोया की मौत से जुड़े केस की सुनवाई से खुद को किया अलग