आठ दिनों की यात्रा पर पाकिस्तान जाएंगे नीतीश

आठ दिनों की यात्रा पर पाकिस्तान जाएंगे नीतीश

By: | Updated: 07 Nov 2012 09:20 PM


पटना:
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश
कुमार नौ से 17 नवंबर तक
पाकिस्तान की यात्रा पर
गुरुवार को पटना से रवाना
होंगे. उनके साथ 11 लोगों का एक
प्रतिनिधिमंडल भी जाएगा.

मुख्यमंत्री
दुबई के रास्ते सबसे पहले नौ
नवंबर को पाकिस्तान के कराची
पहुंचेंगे.




मंत्रिमंडल सचिवालय के
प्रधान सचिव और सामान्य
प्रशासन विभाग के प्रधान
सचिव दीपक कुमार ने बुधवार को
पत्रकारों को जानकारी देते
हुए कहा कि 10 नवंबर को
मुख्यमंत्री कायदे आजम के
संग्रहालय का भ्रमण करेंगे
तथा सिंध प्रांत के
मुख्यमंत्री सैयद कायम अली
शाह से मुलाकात करेंगे और
उसके बाद सिंध और बिहार के
अनुभवों पर एक सेमिनार में
अपने विचार रखेंगे. वे उसी
दिन सिंध एसेंबली के स्पीकर
निसार अहमद खुसरो से मिलेंगे.


उन्होंने बताया कि 11
नवंबर को सिंध स्थित
मोहनजोदड़ो के पुरातात्विक
स्थलों तथा सिंधु नदी के टापू
पर स्थित प्रसिद्घ शिव मंदिर
साडू बेलों मंदिर का भ्रमण
करेंगे और सिंध के गवर्नर
इशरातुल एबाद से मिलेंगे.
इसके बाद 13 नवंबर को
मुख्यमंत्री पाकिस्तान
इंस्टीच्यूट ऑफ लेजिसलेटिव
डेवलपमेंट एंड
ट्रांसपैरेंसी द्वारा
आयोजित परिचर्चा में पाक
सांसदों तथा सिविल सोसाइटी
के साथ 'बिहार ग्रोथ स्टोरी'
पर विचार साझा करेंगे.

इसके
बाद 14 नवंबर को मुख्यमंत्री
ऐतिहासिक तक्षशिला का भ्रमण
करेंगे। इस दिन पंजाब प्रांत
के नेताओं से मिलेंगे जबकि 15
नवंबर को दाता दरबार, डेरा
साहिब गुरुद्वारा और
महाराजा रणजीत सिंह के
समाधिस्थल का भ्रमण करेंगे.
इसके बाद लाहौर के जी़ सी़
यूनिवर्सिटी में गवर्नेंस
पर आधारित सेमिनार में भाग
लेंगे.

उन्होंने बताया कि
अगले दिन 16 नवंबर को पंजाब
प्रांत के गवर्नर लतीफ खान
खोसा से मिलकर मुख्यमंत्री
सड़क मार्ग से बाघा बोर्डर के
लिए प्रस्थान करेंगे और 11 बजे
सुबह अटारी भारत लौट आएंगे.
मुख्यमंत्री कुमार के साथ
जाने वाले 11 सदस्यीय
प्रतिनिधि मंडल में उद्योग
मंत्री रेणु कुमारी, कला
संस्कृति मंत्री सुखदा
पांडेय सहित कई अधिकारी
शामिल हैं.




फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story कुलभूषण जाधव मामला: भारत-पाकिस्तान को लिखित दलीलें जमा करने की समयसीमा तय