आडवाणी के कहने पर यशवंत सिन्हा ने समर्थकों सहित जमानत ली

By: | Last Updated: Wednesday, 18 June 2014 8:55 AM

नई दिल्ली: जेल में बंद बीजेपी नेता और पूर्व केन्द्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने पार्टी के वरिष्ठ लालकृष्ण आडवाणी के समझाने पर आज यहां न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में जमानत याचिका पेश की जिसके बाद उन्हें जमानत पर रिहा करने के आदेश दिए गए.

 

हजारीबाग के न्यायिक मजिस्ट्रेट आर बी पाल ने बीजेपी नेता यशवंत सिन्हा और उनके 57 समर्थकों की जमानत याचिका स्वीकार करते हुए आज उन्हें सात-सात हजार रुपये की दो जमानतों पर जेल से रिहा करने के आदेश दिये.

 

इससे पूर्व सोमवार को इस मामले में आपराधिक प्रक्रिया संहिता की धारा 164 के तहत अदालत में दर्ज कराये गये अपने बयान में इस मुकदमे के शिकायतकर्ता झारखंड राज्य विद्युत बोर्ड के महाप्रबंधक धनेश झा ने स्पष्ट कहा था कि उन्होंने सिन्हा और उनके समर्थक प्रदर्शनकारियों को स्वयं नहीं देखा था. उन्होंने अदालत को बताया कि उन्होंने दूसरे लोगों के कहने पर सिन्हा और अन्य लोगों के नाम प्राथमिकी में लिखवाये थे.

 

धनेश झा के इस बयान से पहले ही यह मामला कमजोर हो गया था जिसके चलते आज जमानत याचिका पेश किये जाते ही अदालत ने सिन्हा और उनके 57 समर्थकों की जमानत मंजूर कर ली और सात-सात हजार रुपये की दो जमानतों पर सभी को रिहा करने के आदेश दिये.

 

अदालत के आदेश के बाद आज शाम तक सिन्हा और उनके समर्थकों के जेल से बाहर आ जाने की संभावना है.

 

सिन्हा ने हजारीबाग में बिजली की दस घंटे तक की कटौती के खिलाफ आंदोलन करते हुए दो जून को अपने समर्थकों के साथ अपनी गिरफ्तारी के बाद जमानत लेने से मना कर दिया था. इसके बाद न्यायिक मजिस्ट्रेट आरबी पाल ने इन सभी को 3 जून को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया था. यह अवधि पूरी होने के बाद एक बार फिर जमानत लेने से इनकार करने पर अदालत ने उनकी तथा उनके समर्थकों की हिरासत अवधि 28 जून तक बढ़ा दी थी. आरोप है कि सिन्हा के निर्देश पर बिजली कटौती के खिलाफ आंदोलनरत महिला भाजपा कार्यकर्ताओं ने झारखंड राज्य विद्युत बोर्ड के महाप्रबंधक धनेश झा का घेराव कर उन्हें रस्सी से बांध दिया था. इसके बाद इन सभी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी और कानूनी कार्रवाई के तहत उन्हें जमानत न लेने पर जेल भेज दिया गया था.

 

पार्टी के पूरे आंदोलन को इस वर्ष के अंत में झारखंड में होने वाले विधानसभा चुनावों से जोड़कर देखा जा रहा है.

 

कल बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी दिल्ली से यहां आए और जेल में बंद सिन्हा तथा उनके समर्थकों से मुलाकात कर आंदोलन के साथ अपनी एकजुटता प्रकट की थी. उन्होंने सिन्हा से कहा था कि वह जमानत लेकर जेल से बाहर आयें और पूरे राज्य में बिजली और अन्य जनसमस्याओं को लेकर बड़े आंदोलन का नेतृत्व करें.

 

समझा जाता है कि आडवाणी और इससे पूर्व भाजपा के अध्यक्ष राजनाथ सिंह द्वारा भेजे गये पार्टी महासचिव राजीव प्रताप रूड़ी एवं राष्ट्रीय प्रवक्ता सैयद शाहनवाज हुसैन के अनुरोध को देखते हुए आज सिन्हा ने जमानत के लिए अदालत में याचिका पेश की.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: आडवाणी के कहने पर यशवंत सिन्हा ने समर्थकों सहित जमानत ली
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017