आडवाणी को दरकिनार कर कल शाम चार बजे होगा मोदी के नाम का ऐलान?

By: | Last Updated: Wednesday, 11 September 2013 11:29 PM
आडवाणी को दरकिनार कर कल शाम चार बजे होगा मोदी के नाम का ऐलान?

नई दिल्ली: बीजेपी
में प्रधानमंत्री पद के
उम्मीदवार को लेकर जारी
रस्साकशी के बीच सूत्रों के
हवाले से खबर है कि कल यानी
शुक्रवार को ही पीएम पद के
लिए नरेंद्र मोदी के नाम का
ऐलान हो जाएगा. चाहे संसदीय
बोर्ड की बैठक हो या न हो.

बीजेपी अध्यक्ष राजनाथ सिंह
ने गुरुवार को मीडिया से कहा
है कि पार्टी में कोई नाराज
नहीं है और उन्होंने इस बात
से भी इनकार किया कि विरोधी
खेमे ने कोई शर्तें रखी हैं.

खबरें यही है कि पार्टी के
सबसे वरिष्ठ नेता लालकृष्ण
आडवाणी की बिना सहमति के
बावजूद ही नरेंद्र मोदी के
नाम का ऐलान होगा.

इससे पहले गुरुवार की सुबह जब
एक पत्रकार से राजनाथ सिंह से
पूछा कि मोदी के नाम का ऐलान
कब करेंगे तो सिर्फ उन्होंने
इतना कहा, ‘बात करने के बाद
ऐलान किया जाएगा.’

http://www.youtube.com/watch?v=cEzV0tIqpw0

सूत्रों का कहना है कि बीजेपी
अध्यक्ष राजनाथ सिंह
शुक्रवार को संसदीय बोर्ड
की बैठक में मोदी के नाम का
एलान कर सकते हैं. हालांकि,
राजनाथ सिंह ने बुधवार को
आडवाणी से मुलाकात की थी और
समझौते के फार्मूले पर
बातचीत की थी, लेकिन बात नहीं
बनी.

जानकार सूत्रों का कहना है कि
बीजेपी 2014 के लोकसभा चुनावों
में प्रधानमंत्री पद के
उम्मीदवार के तौर पर मोदी के
नाम का औपचारिक ऐलान करने का
मन बना चुकी है.

हालांकि, मोदी के सामने
आडवाणी खेमे ने तीन शर्तें
रखीं जिसे मोदी खेमे ने सिरे
से खारिज कर दिया.

आडवाणी की तीन शर्तें

कोलकाता से प्रकाशित होने
वाले अखबार ‘आनंद बाजार
पत्रिका’ के मुताबिक नरेंद्र
मोदी के प्रधानमंत्री पद के
एलान को लेकर मोदी विरोधी
खेमे ने तीन शर्तें रखी हैं.
पहली शर्त ये है कि नरेंद्र
मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री
पद से इस्तीफा दें. दूसरी
शर्त प्रचार समिति के प्रमुख
का पद छोड़ें और तीसरी शर्त
ये रखी गई है कि संगठन को लेकर
आडवाणी की उन मांगों पर
पार्टी विचार करें जिसको
लेकर पहले से वो सवाल उठाते
रहे हैं.

शर्तें हुई खारिज

प्रधानमंत्री पद का
उम्मीदवार बनने के लिए
नरेंद्र मोदी के सामने रखे गए
आडवाणी खेमे की शर्तों को
मोदी खेमे ने सिरे से खारिज
कर दिया है.

मोदी खेमे ने साफ किया है कि न
तो मोदी मुख्यमंत्री का पद
छोड़ेंगे और ना ही सुषमा
स्वराज के लिए बीजेपी चुनाव
प्रचार समिति की कमान.

हालांकि, मोदी खेमा राज्यसभा
में विपक्ष के नेता अरुण
जेटली को चुनाव प्रचार समिति
के प्रमुख की जिम्मेदारी
देने पर राजी हो सकता है.

http://www.youtube.com/watch?v=Cbf_F9hIm-Y

विकल्प क्या हैं

अब राजनाथ सिंह के पास विकल्प
क्या है.  सूत्र बता रहे हैं
कि राजनाथ सिंह आडवाणी को फिर
से मनाने की कोशिश करेंगे.
अगर आडवाणी नहीं मानते तो
सुषमा और जोशी को अपने पक्ष
में करने की कोशिश करेंगे.

आज दोपहर बाद राजनाथ सुषमा से
मिलने वाले हैं. अगर बात बनी
तो ठीक नहीं बनी तो संघ से हरी
झंडी लेकर बिना आडवाणी की
सहमति के ही एलान कर देंगे.

कौन है किसके साथ

बीजेपी संसदीय बोर्ड में कुल
12 सदस्य हैं. अटल बिहारी
वाजपेयी, लालकृष्ण आडवाणी,
सुषमा स्वराज, मुरली मनोहर
जोशी, राजनाथ सिंह, अरुण
जेटली, वैंकया नायडू, अनंत
कुमार, थावर चंद गहलोत, नितिन
गडकरी, राम लाल और नरेंद्र
मोदी इसके सदस्य हैं.

अगर मोदी के नाम पर आम सहमति
नहीं बनती है तो पार्टी
अध्यक्ष वोटिंग का सहारा ले
सकते हैं.

संसदीय बोर्ड की बैठक में
वाजपेयी का आना मुश्किल है और
नरेंद्र मोदी पर वोटिंग होनी
है इसलिए वह उसमें हिस्सा
नहीं ले सकते. लेकिन जो
तस्वीर निकल कर आ रही है
उनमें आडवाणी खेमे को हार का
सामना करना पड़ेगा.

अगर वोटिंग हुई तो लालकृष्ण
आडवाणी, सुषमा स्वराज और
मुरली मनोहर जोशी खुलकर मोदी
के खिलाफ वोट देंगे, जबकि
राजनाथ सिंह, अरुण जेटली,
वैंकया नायडू, अनंत कुमार,
थावर चंद गहलोत, नितिन गडकरी
और राम लाल मोदी के साथ होंगे.

http://www.youtube.com/watch?v=W643X3U2NoA

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: आडवाणी को दरकिनार कर कल शाम चार बजे होगा मोदी के नाम का ऐलान?
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017