आडवाणी युग का अस्त नहीं, टिकट के लिए बीजेपी ने किया उनका अपमान: शिवसेना

By: | Last Updated: Saturday, 22 March 2014 4:43 AM

नई दिल्ली: शिवसेना के अखबार दोपहर के सामना में बीजेपी पर हमला किया गया है.  अखबार में कहा गया है कि जब नरेंद्र मोदी, राजनाथ सिंह और अरुण जेटली को उनके मुताबिक सीट मिल सकती है तो वरिष्ट नेता लालकृष्ण आडवाणी के साथ ऐसा क्यों सलूक किया गया. शिवसेना के मुखपत्र सामना में नरेंद्र मोदी को पीएम उम्मीदवार बनाने पर भी सवाल उठाए गए हैं. सामना के मुताबिक टिकट को लेकर आडवाणी का नाम पहली लिस्ट में आना चाहिए था.

 

सामना में लिखा है- आडवाणी तो आडवाणी ही हैं. बीजेपी की चाबिया आज भी उन्हीं की जेब में हैं, ये आडवाणी ने साबित किया है. जिन्होंने पार्टी खड़ी की उन्हीं को पार्टी ने आखिरी क्षण तक लटकाए रखा. बीजेपी में मोदी युग प्रारंभ हो चुका है लेकिन राजनीति में आडवाणी युग अस्त नहीं हुआ है. उन्होंने कहा कि भाजपा के इस दिग्गज के राजनीतिक चरित्र पर कोई दाग नहीं है.

 

उद्धव ठाकरे का यह बयान ऐसे समय आया है जब गत गुरूवार को आडवाणी ने कहा था कि उन्होंने गांधीनगर सीट से चुनाव लड़ने का निर्णय लिया है. उन्होंने राजनाथ सिंह और नरेंद्र मोदी समेत पार्टी नेताओं द्वारा मनाए जाने के बाद और यह बताए जाने के बाद निर्णय लिया कि उन्हें गुजरात और भोपाल दोनों सीटों के बीच चयन करने का अधिकार है. उद्धव ठाकरे ने कहा, ‘‘ मुरली मनोहर जोशी को कानपुर से लड़ने के लिए कहा गया ताकि मोदी वाराणसी से खड़े हो सकें. राजनाथ ने गाजियाबाद के बजाए लखनऊ की सुरक्षित सीट चुनी. नवजोत सिंह सिद्धू को हटाकर जेटली को अमृतसर से खड़ा किया गया. तो फिर आडवाणी के मामले में इतनी देर क्यों की गई.’’

 

उन्होंने कहा, ‘‘ दिग्गज नेता का आमजन के साथ संबंध अब भी वैसा ही है. मौजूदा राजनीतिक विवादों की तुलना में आडवाणी प्रकरण तुच्छ महसूस हो सकता है लेकिन यह बात ध्यान रखनी चाहिए कि ऐसी छोटी घटनाओं के जरिए बड़े हादसे हो सकते हैं.’’ उद्धव ठाकरे ने कहा, ‘‘समय बीत जाने के बाद किसी बात को समझने का कोई फायदा नहीं है.’’

 

भाजपा के पूर्व अध्यक्ष नितिन गडकरी की महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के नेता राज ठाकरे से मुलाकात के बाद शिव सेना और भाजपा के बीच पैदा हुई दरार के बीच उद्धव का यह तीखा बयान आया है. शिवसेना ने उत्तर प्रदेश, बिहार और दिल्ली से अपने उम्मीदवार खड़े करने के अपने निर्णय की कल घोषणा की थी.