'आप' सबसे बड़ी पार्टी के साथ करना चाहती है समझौता: निष्कासित सदस्य

By: | Last Updated: Tuesday, 8 April 2014 12:08 PM
‘आप’ सबसे बड़ी पार्टी के साथ करना चाहती है समझौता: निष्कासित सदस्य

चंडीगढ़: ‘आप’ के निष्कासित सदस्य अश्विनी उपाध्याय ने आज आरोप लगाया कि पार्टी का एकमात्र उद्देश्य ‘‘केंद्र में अस्थिर सरकार लाना है, ताकि यह सबसे बड़ी पार्टी के साथ समझौता कर सके.’’

 

आप की राष्ट्रीय परिषद के पूर्व सदस्य उपाध्याय ने कहा, ‘‘आप इसलिए लोकसभा चुनाव लड़ रही है, ताकि केंद्र में अस्थिर सरकार बने क्योंकि इससे पार्टी को सबसे बड़े संगठन के साथ समझौता करने में मदद मिलेगी.’’ उन्होंने कहा कि आप भ्रष्टाचार के मुद्दे पर लोगों को गुमराह करने की कोशिश कर रही है.

 

लोकसभा चुनाव का टिकट नहीं मिलने पर बागी हुए उपाध्याय ने कहा कि वह आप का ‘‘भंडाफोड़’’ करने के लिए पूरे देश की यात्रा करेंगे जो अपने एजेंडे से ‘‘भटक’’ गई है.

 

उपाध्याय ने कहा कि आप की स्थापना भ्रष्टाचार, सांप्रदायिकता, वीआईपी संस्कृति, वंशवाद की राजनीति, आपराधिक और जाति आधारित राजनीति जैसे मुद्दों से लड़ने के लिए हुई थी . अब इन मुद्दों की परवाह किए बिना ‘‘समझौते’’ किए जा रहे हैं.

 

उन्होंने आरोप लगाया कि आप ने अपने खेमे में राष्ट्रविरोधी तत्वों को शामिल किया है . पार्टी को विदेश से धन और मदद मिल रही है. आप सदस्यों द्वारा संचालित गैर सरकारी संगठनों को फोर्ड फाउंडेशन से डोनेशन मिल रहा है.

 

उन्होंने आरोप लगाया कि इसके अतिरिक्त, फोर्ड फाउंडेशन की मदद से चल रहे ‘कबीर’ सहित गैर सरकारी संगठन माओवादियों या आतंकवादियों के प्रति हमदर्दी रखते हैं . फोर्ड फाउंडेशन अमेरिकी हितों के लिए काम करती है.

 

उपाध्याय ने आरोप लगाया, ‘‘लोकसभा चुनाव के लिए टिकट पहले से तय थे तथा पार्टी ने फॉर्म जमा करने वाले लोगों के डाटा का सिर्फ और सिर्फ इस्तेमाल किया तथा वह केवल धन एकत्र कर रही है.’’ आप ने हालांकि, पूर्व में अश्विनी के आरोपों से इनकार किया था.

 

अश्विनी को आप से कथित पार्टी विरोधी गतिविधियों की वजह से निकाल दिया गया था.

 

उन्होंने आरोप लगाया कि केजरीवाल ने कांग्रेस के साथ गुप्त समझौता किया है . ‘‘वे हाल में एक होटल में मिले थे, और एक समझौता हुआ जिसमें योगेंद्र यादव को हरियाणा का मुख्यमंत्री, अरविन्द केजरीवाल को दिल्ली का मुख्यमंत्री बनाए जाने में मदद की बात हुई और कहा गया कि यदि त्रिशंकु लोकसभा रहती है तो आप प्रधानमंत्री पद के लिए कांग्रेस का समर्थन करेगी.’’

 

उपाध्याय ने आरोप लगाया, ‘‘केजरीवाल जिन्दल और जीएमआर के खिलाफ कुछ नहीं बोलते, लेकिन अंबानी और अडानी पर हमला करते हैं .’’ उन्होंने कहा कि आप उम्मीदवार योगेंद्र यादव और आशुतोष जाति तथा समुदाय के आधार पर वोट मांग रहे हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ‘आप’ सबसे बड़ी पार्टी के साथ करना चाहती है समझौता: निष्कासित सदस्य
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ele2014
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017