आरबीआई की क्रेडिट पॉलिसी में कोई बदलाव नहीं

By: | Last Updated: Sunday, 17 June 2012 9:33 PM

नई दिल्ली: मध्य
तिमाही मौद्रिक नीति की
घोषणा में महंगाई पर
नियंत्रण करने की एक और कोशिश
के तहत भारतीय रिजर्व बैंक ने
सोमवार को प्रमुख ब्याज दरों
में कोई परिवर्तन न करते हुए
उन्हें जस का तस बनाए रखा.
लेकिन आरबीआई ने कहा है कि वह
संकटग्रस्त वैश्विक आर्थिक
हालात में राहत उपलब्ध कराने
के लिए तैयार है.

बाजार का अनुमान था आरबीआई
दरों में कटौती करेगा, यदि
ऐसा होता तो उपभोक्ताओं को
उपभोक्ता टिकाऊ वस्तु, आवास
और वाहन की खरीददारी के लिए
ऋण पर लगने वाली ब्याज दर कम
हो सकती थी.

आर्थिक विश्लेषकों के
मुताबिक उच्च ब्याज दर के
कारण बाजार में खरीददारी का
स्तर सुस्त बना रहेगा.

आरबीआई ने एक बयान में कहा,
“तरलता के प्रबंधन की
प्राथमिकता बरकरार है. यदि
तरलता की स्थिति सामान्य भी
हो गई, तो भी रिजर्व बैंक,
तरलता के दबावों से निपटने की
जरूरत पड़ने पर मुक्त बाजार
परिचालन (ओएमओ) व्यवस्था का
इस्तेमाल करता रहेगा.”

बयान में कहा गया है, “वैश्विक
हालात को संकटग्रस्त मानते
हुए, रिजर्व बैंक किसी भी
विपरीत घटनाक्रम पर त्वरित
एवं उचित प्रतिक्रिया के सभी
उपलब्ध उपादानों व उपायों का
इस्तेमाल करने के लिए तैयार
है.”

रिजर्व बैंक ने आगे कहा है कि
पिछली दर कटौती के बाद से
वैश्विक व्यापक आर्थिक
संकेतकों की स्थिति बिगड़ी
है और महंगाई दर सुविधाजनक
स्तर से काफी ऊपर है.

बैंक ने कहा है, “अप्रैल में
आरबीआई के वार्षिक नीतिगत
बयान के समय से वैश्विक
व्यापक आर्थिक और वित्तीय
हालात बिगड़े हैं. ठीक उसी
समय घरेलू आर्थिक हालात से भी
कई गम्भीर चिंताएं खड़ी हुई
हैं.”

दरों में कटौती न करके आरबीआई
ने उन दबावों का प्रतिरोध
किया है, जो दरों की कटौती के
लिए इस पर बन रहे थे. यह दबाव
हाल के उस आकड़े से पैदा हो
रहा था, जिससे यह स्पष्ट हुआ
था कि अर्थव्यवस्था निम्न
विकास दर का सामना कर रही है.

केंद्रीय सांख्यिकी
कार्यालय द्वारा जारी किए गए
हाल के आंकड़े के मुताबिक
अप्रैल महीने में देश का
औद्योगिक उत्पादन मामूली 0.1
फीसदी बढ़ा.

आरबीआई ने हालांकि कहा है कि
महंगाई लगातार बहुत
उच्चस्तर पर बनी रहेगी और
सामान्य स्तर से काफी ऊपर
रहेगी.

लेकिन आरबीआई ने कहा कि
महंगाई अब भी सुविधाजनक स्तर
से काफी ऊपर है.

बैंक ने कहा है, “जहां 2011-12 में
विकास दर काफी कम रही, वहीं
महंगाई दर, स्थिर विकास के
अनुकूल स्तरों से ऊपर बनी हुई
है. महत्वपूर्ण बात यह है कि
खुदरा महंगाई दर का रुख भी
ऊध्र्वमुखी बना हुआ है.”

खाद्य महंगाई छह महीने के
अंतराल के बाद अप्रैल 2012 में
फिर से दो अंकों पर पहुंच गई
है और यह रुख मई में भी बना हुआ
है.

मई में खाद्य महंगाई अप्रैल
महीने के 8.25 प्रतिशत से बढ़कर
10.74 प्रतिशत पर पहुंच गई,
क्योंकि सब्जियां, दालें,
दूध, अंडा, मांस और मछलियों के
दाम बढ़ गए.

मई में समग्र महंगाई इसके
पहले महीने के 7.23 प्रतिशत के
मुकाबले बढ़कर 7.55 प्रतिशत पर
पहुंच गई.

महंगाई से निपटने के लिए
आरबीआई ने मार्च 2010 से अपनी
प्रमुख ब्याज दरें 13 बार
बढ़ाई, लेकिन अप्रैल में रेपो
दर में 50 आधार बिंदु की कटौती
कर उसने इस दर चक्र को विपरीत
दिशा में घुमाने की कोशिश की.

इस तरह आरबीआई की रेपो दर आठ
फीसदी और रिवर्स रेपो दर सात
फीसदी पर बनी हुई है.

रेपो दर, रिजर्व बैंक द्वारा
व्यावसायिक बैंकों से
अल्पकालिक उधारियों पर ली
जाने वाली ब्याज दर है. जबकि
रिवर्स रेपो दर आरबीआई
द्वारा बैंकों को जमा राशि पर
दी जाने वाली ब्याज दर है.

अपरिवर्तित नीतिगत दर और
अनुपात प्रतिशत में इस
प्रकार हैं:

बैंक दर : 9.00 फीसदी

रेपो दर : 8.00 फीसदी

रिवर्स रेपो दर : 7.00 फीसदी

मार्जिनल स्टेंडिंग
फैसिलिटी रेट : 9.00 फीसदी

नकद आरक्षित अनुपात : 4.75 फीसदी

स्टेट्यूटरी लिक्वि डिटी
रेट : 24.00 फीसदी

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: आरबीआई की क्रेडिट पॉलिसी में कोई बदलाव नहीं
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

DEPTH INFORMATION: कैसे AADHAR बना यूनीक पहचान का जरिया, कैसे PM मोदी बने मुरीद?
DEPTH INFORMATION: कैसे AADHAR बना यूनीक पहचान का जरिया, कैसे PM मोदी बने मुरीद?

नई दिल्लीः देश में आज लगभग हर काम के लिए आधार कार्ड मांगा जाता है. अब तक करीब 115 करोड़ आधार कार्ड...

मानवता शर्मसार: अपने बच्चे के शव को पैदल ढोने को मजबूर थे परिजन
मानवता शर्मसार: अपने बच्चे के शव को पैदल ढोने को मजबूर थे परिजन

बारां: राजस्थान के बारां में मानवता को शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है. शाहबाद के सरकारी...

कोलकाता में ढही 100 साल पुरानी इमारत, बचाव अभियान जारी
कोलकाता में ढही 100 साल पुरानी इमारत, बचाव अभियान जारी

कोलकाता: शहर के बीच में स्थित लगभग सौ साल पुरानी इमारत का एक हिस्सा आज दोपहर ढह गया. इसमें कुछ...

बारिश की वजह से बढ़ा टमाटर का भाव, दिल्ली-एनसीआर में 100 रुपये किलो पहुंची कीमत
बारिश की वजह से बढ़ा टमाटर का भाव, दिल्ली-एनसीआर में 100 रुपये किलो पहुंची कीमत

नई दिल्ली: दिल्ली-एनसीआर के बाजार में टमाटर की कीमत 100 रुपये प्रति किलोग्राम तक पहुंच गई है....

यूपी: अमित शाह के लखनऊ दौरे के बाद लोकसभा से इस्तीफा दे सकते हैं सीएम योगी, केशव प्रसाद मौर्य
यूपी: अमित शाह के लखनऊ दौरे के बाद लोकसभा से इस्तीफा दे सकते हैं सीएम योगी,...

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य गोरखपुर...

राष्ट्रपति के शपथग्रहण के बाद सेंट्रल हॉल में लगे 'भारत माता की जय' और 'जय श्री राम' के नारे
राष्ट्रपति के शपथग्रहण के बाद सेंट्रल हॉल में लगे 'भारत माता की जय' और 'जय...

नई दिल्ली: संसद का सेंट्रल हॉल भारत के अनेक ऐतिहासिक पलों का गवाह रहा है. इसी सेंट्रल हॉल में आज...

ड्राइवरलेस कार की भारत में 'नो एंट्री', सरकार की दलील- देश में बढ़ेगी बेरोजगारी
ड्राइवरलेस कार की भारत में 'नो एंट्री', सरकार की दलील- देश में बढ़ेगी...

नई दिल्ली: दुनिया में बिना ड्राइवर वाली कार का तेज़ी से परीक्षण हो रहा है लेकिन भारत में...

मुंबई: घाटकोपर में बिल्डिंग गिरी, मलबे में 20 के दबने की आशंका, 4 की मौत
मुंबई: घाटकोपर में बिल्डिंग गिरी, मलबे में 20 के दबने की आशंका, 4 की मौत

मुंबई:  मुंबई के घाटकोपर उपनगर में आज सुबह चार मंजिला एक आवासीय इमारत ढह गई. इस हादसे में चार...

जानिए, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अपने पहले भाषण में क्या कुछ कहा
जानिए, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अपने पहले भाषण में क्या कुछ कहा

नई दिल्ली: देश को नया राष्ट्रपति मिल गया है. रामनाथ कोविंद ने राष्ट्रपति के पद और संविधान के...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017