आर्थिक स्थिति से जुड़ा है नारी का सम्मान: तीरथ

आर्थिक स्थिति से जुड़ा है नारी का सम्मान: तीरथ

By: | Updated: 07 Nov 2012 09:35 PM


नई
दिल्ली:
केंद्रीय महिला और
बाल विकास राज्य मंत्री
(स्वतंत्र प्रभार) कृष्णा
तीरथ ने बुधवार को कहा कि
समाज में नारी का सम्मान
आर्थिक स्थिति से जुड़ा हुआ
है.

तीरथ ने बुधवार को
'भारत में महिलाओं द्वारा हाथ
में लिए गए घरेलू कार्य का
मूल्यांकन' विषय पर आयोजित
प्रथम परामर्शी बैठक की
अध्यक्षता करते हुए यह
उद्गार व्यक्त किया.

यह
बैठक देशभर से जुटे
शिक्षाविदों, विशेषज्ञों और
अर्थशास्त्रियों के साथ
परामर्श करना, घरेलू कार्यो
के संदर्भ में महिलाओं के
योगदान को महत्व देने और
परिवार तथा समाज में बिना
भुगतान के उनके श्रम को
मान्यता देने का एक प्रयास
है.

इस अवसर पर अपने भाषण
में तीरथ ने कहा, "पितृप्रधान
और पुरूष की प्रधान समाज के
एक बड़े हिस्से में परिवार
में महिलाओं के श्रम के
योगदान को कम करके आंका जाता
है. जबकि महिलाओं द्वारा
ग्रामीण और शहरी दोनों
क्षेत्रों में काफी
श्रमसाध्य कार्य किए जाते
हैं, जो परिवार में पुरूषों
की उत्पादकता बढ़ाने में मदद
करते हैं."

उन्होंने कहा
कि भारतीय समाज में नारी का
सम्मान उसकी आर्थिक स्थिति
से जुड़ा है. तीरथ ने कहा कि
व्यापक तौर पर हितधारकों को
शामिल करने के उद्देश्य से
मंत्रालय की ओर से क्षेत्रीय
स्तर पर भी इस प्रकार के
विचार-विमर्शो के आयोजन की
योजना तैयार की गई है.

उन्होंने
कहा कि महिला और विकास
मंत्रालय के अधीन एक कार्यबल
गठित किया जाएगा, जो इससे
जुड़े सुझावों और विस्तृत
रणनीति का अध्ययन करेगा.




फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story बजट से बड़ी उम्मीद: कम हो सकती है पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी, तेल मंत्रालय कर रहा विचार-सूत्र