ईरानी कोर्ट ने फेसबुक के जुकेरबर्ग को प्राइवेसी के मुद्दे पर तलब किया

ईरानी कोर्ट ने फेसबुक के जुकेरबर्ग को प्राइवेसी के मुद्दे पर तलब किया

By: | Updated: 28 May 2014 03:07 AM

तेहरान: ईरान के एक न्यायाधीश ने फेसबुक के संस्थापक एवं सीईओ मार्क जुकेरबर्ग को तलब कर इन आरोपों का जवाब देने को कहा है कि कंपनी के एप्लीकेशन ने लोगों की प्राइवेसी का हनन किया है. यह मामला ईरानी नरमपंथियों और कट्टरपंथियों के बीच दरार को रेखांकित करता है. नरमपंथी इंटरनेट पर कम प्रतिबंध की मांग करते हैं जबकि कट्टरपंथी अधिक प्रतिबंध लगाने की मांग करते हैं.

 

आईएसएनए समाचार एजेंसी की खबर के मुताबिक फार्स प्रांत स्थित अदालत ने आदेश के मुताबिक जुकेरबर्ग को अभियोजक के कार्यालय में रिपोर्ट करना होगा . क्षतिपूर्ति की रकम अदा करनी होगी.

 

ट्विटर और फेसबुक सहित सोशल नेटवर्क तक पहुंच को ईरानी अधिकारी नियमित रूप से बाधित करते रहते हैं.

 

एक वरिष्ठ ईरानी सुरक्षा अधिकारी ने आईएसएनए को बताया कि प्राइवेसी के हनन और व्हाट्स एप तथा इंस्टाग्राम से होने वाली समस्याओं के बारे में कुछ देशवासियों की शिकायत के बाद न्यायपालिका के अधिकारियों ने इन दोनों साफ्टवेयरों पर प्रतिबंध लगाने का आदेश दिया है. फेसबुक का इंस्टाग्राम और व्हाट्सएप पर मालिकाना हक है.

 

हालांकि रिपोर्ट में यह नहीं बताया गया है कि प्राइवेसी का कथित तौर पर क्या हनन हुआ है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story पीएनबी घोटाले पर बोले राहुल गांधी: कहां हैं 'न खाऊंगा, न खाने दूंगा' कहने वाला देश का चौकीदार