उत्तर प्रदेश: मोदी ने मंगाई वाराणसी के गांवों की लिस्ट

उत्तर प्रदेश: मोदी ने मंगाई वाराणसी के गांवों की लिस्ट

By: | Updated: 31 Mar 2014 05:52 AM

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की ओर से प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार और वाराणसी लोकसभा सीट से प्रत्याशी नरेन्द्र मोदी ने काशी में चुनाव जीतने को लेकर अपनी रणनीति पर अमल करना शुरू कर दिया है.

 

पार्टी सूत्रों के मुताबिक मोदी ने प्रदेश के पार्टी अलाकमान से अपने संसदीय क्षेत्र के गांवों की लिस्ट मांगी है और इस काम को अंजाम देने में उनके बेहद करीबी अमित शाह जुट गए हैं. पार्टी सूत्रों के अनुसार, विधानसभावार गांवों की सूची ई-मेल के जरिए रविवार को भेज भी दी गई. खबर है मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र के नक्शे भी मंगाए हैं.

 

बीजेपी सूत्रों के अनुसार, अमित शाह ने वाराणसी लोकसभा क्षेत्र पर अपनी नजरें गड़ा दी हैं और अगले एक-दो दिनों में वह बनारस का दौरा कर सकते हैं. काशी चुनाव का प्रबंधन शाह किसी और के हाथ में जाने देना नहीं चाहते.

 

बनारस में पांच विधानसभा क्षेत्रों में सबसे अधिक गांवों की संख्या 161 सेवापुरी विधानसभा में है, जबकि सबसे कम वाराणसी उत्तर में 53 हैं. वाराणसी संसदीय क्षेत्र में कुल गांवों की संख्या 469 है. वाराणसी लोकसभा क्षेत्र में रोहनिया, वाराणसी उत्तरी, दक्षिणी, कैंट तथा सेवापुरी विधानसभा क्षेत्र शामिल हैं.

 

बीजेपी के प्रदेश सह प्रभारी सुनील बंसल ने बताया कि वाराणसी लोकसभा क्षेत्र की वर्तमान स्थिति कैसी है और विकास की दृष्टि से क्या करने की जरूरत है, इस पर उनकी रिसर्च टीम एक-एक गांव को ध्यान में रखकर शोध की तैयारी कर रही है और उसी रिसर्च पर मोदी विकास का पहिया आगे बढ़ाएंगे.

 

उन्होंने बताया कि वाराणसी लोकसभा क्षेत्र में आने वाले प्रत्येक गांवों में विकास की अलग-अलग आवश्कताएं हैं. प्रत्येक गांवों का समुचित विकास कैसे हो, इस पर उनकी रिसर्च टीम शोध करेगी.

 

बंसल ने बताया, "वाराणसी शहर को लेकर मोदी ने एक अलग रिसर्च टीम बना ली है. यह टीम वाराणसी के सांस्कृतिक धरोहरों, ऐतिहासिक स्थलों, गंगा, वरुणा की निर्मलता व अविरलता को पुन: वापस दिलाने के लिए हल तलाशने में जुटी हुई है."

 

बंसल ने बताया कि इसके अलावा काशी में जितने जल स्रोत हैं, उन्हें पुन: जीवनदान देना, सड़क, जाम की समस्या से निजात तथा पर्यटन के क्षेत्र में काशी दुनिया के लिए कैसे बड़ा केन्द्र बने, समेत कई बिन्दुओं पर उनकी टीम ने रिसर्च शुरू कर दिया है.

 

उन्होंने बताया कि मोदी रिसर्च टीम के कुछ सदस्य वाराणसी पहुंच चुके हैं.  मोदी के वाराणसी पहुंचने के सवाल पर हालांकि बंसल ने कहा कि अभी तय नहीं है, अनुमान है कि वह सीधे नामांकन करने के लिए ही वहां जाएंगे.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story मुंबई: डॉक्टरों की निगरानी में हैं गोवा के सीएम पर्रिकर, हालत सामान्य