उप्र: अगले चरण में हिंदुवादी नेताओं की अग्निपरीक्षा

By: | Last Updated: Monday, 28 April 2014 1:16 PM

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में बुधवार को 14 सीटों के लिए मतदान होना है, जो राज्य में मतदान का चौथा चरण है. प्रथम तीन चरणों में ही जहां कई दिग्गज नेताओं की किस्मत इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) में बंद हो चुकी है, वहीं दूसरी ओर अगले चरण में असली अग्निपरीक्षा हिंदुवादी नेताओं की होगी.

 

गोरखपुर संसदीय सीट से लगातार भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को जीत दिलाने वाले योगी आदित्यनाथ एक बार फिर चुनाव मैदान में हैं. गोरखपुर में पार्टी को जीत दिलाने के साथ ही उनकी जिम्मेदारी आसपास के लोकसभा क्षेत्रों में भाजपा प्रत्याशियों को जिताने की भी है.

 

योगी आदित्यनाथ कहते हैं, “इस बार पार्टी को पूर्वाचल में शानदार जीत हासिल होगी. गोरखपुर के अलावा देवरिया, बलिया सहित कई अन्य सीटों पर पार्टी जीत हासिल करने में कामयाब होगी.”

 

उन्होंने कहा कि महंगाई व भ्रष्टाचार को लेकर माहौल कांग्रेस के खिलाफ बन चुका है. अगली सरकार नरेंद्र मोदी की अगुवाई में ही बनेगी.

 

भाजपा के युवा नेता वरुण गांधी इस बार अपने पिता संजय गांधी की परंपरागत सुल्तानपुर संसदीय सीट से चुनाव लड़ रहे हैं. वरुण इससे पहले पीलीभीत से सांसद थे, लेकिन इस बार पार्टी ने उन्हें सुल्तानपुर से उम्मीदवार बनाया है. नई सीट होने की वजह से उन्हें कड़ा मुकाबला मिलने के आसार हैं.

 

वरुण सुल्तानपुर के लोगों से यह कहते दिख रहे हैं कि उनके पिता के जाने के बाद यहां के विकास की रफ्तार काफी सुस्त हो गई है, लेकिन इस बार वह अपने पिता के सपनों को पूरा करने आए हैं.

 

उधर, उमा भारती झांसी से लोकसभा चुनाव लड़ रही हैं. झांसी में उनकी टक्कर कांग्रेस नेता और केंद्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य से है. झांसी लोकसभा सीट पर जीतने के लिए उमा ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. इसके लिए उन्होंने बुंदेलखंड के लोगों का दिल जीतने का भरपूर प्रयास भी किया.

 

उमा ने बुंदेलखंड के लोगों को भरोसा दिलाया है कि केंद्र में मोदी की अगुवाई वाली सरकार बनने पर इस क्षेत्र को एक अलग राज्य का दर्जा दिलाया जाएगा, जिससे यहां का विकास होगा. उमा मौजूदा समय में बुंदेलखंड की चरखारी से विधायक हैं.

 

भाजपा की एक अन्य व विधायक नेता साध्वी निरंजन ज्योती भी इस बार चुनाव मैदान में हैं. पार्टी ने उन्हें फतेहपुर संसदीय सीट से टिकट दिया है.

 

फतेहपुर में हालांकि, बसपा के राष्ट्रीय महासचिव नसीमुद्दीन सिद्दीकी के बेटे अफजल सिद्दीकी चुनाव मैदान में हैं और दोनों के बीच कांटे की टक्कर होने की संभावना है.

 

हिंदुवादी नेता साक्षी महाराज भी उन्नाव से चुनाव लड़ रहे हैं. हालांकि, उन्नाव से कांग्रेस की अनु टंडन और मौजूदा सांसद से उन्हें टक्कर मिलेगी. टंडन को हरा पाना काफी मुश्किल होगा. साक्षी महाराज हालांकि, जौनपुर संसदीय से टिकट मांग रहे थे, लेकिन उन्हें वहां से टिकट नहीं मिल पाया.

 

एक अन्य विधायक साध्वी ज्योतिबा फूले को पार्टी ने बहराइच से टिकट दिया है.

 

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने हिंदुवादी नेताओं की उम्मीदवारी पर कहा, “मोदी के वाराणसी से नामांकन भरने के बाद से ही पूरे पूर्वाचल में लहर चल रही है और इसका लाभ सभी प्रत्याशियों का मिलेगा.”

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: उप्र: अगले चरण में हिंदुवादी नेताओं की अग्निपरीक्षा
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ele2014
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017