एंटनी के बयान पर बवाल, विपक्ष का हमला तेज़

By: | Last Updated: Tuesday, 6 August 2013 5:53 AM
एंटनी के बयान पर बवाल, विपक्ष का हमला तेज़

जम्मू कश्मीर के पुंछ
क्षेत्र में पाकिस्तान की
तरफ से हमले में भारत के पांच
जवान शहीद हो गये. इस पर रक्षा
मंत्री एके एंटनी के संसद में
दिये गये बयान से विपक्ष
नाराज है और बयान ने नये
विवाद को जन्म दे दिया है.

एंटनी का कहना है कि यह हमला
बीस आंतकवादियों ने किया जो
भारी गोला बारुद से लैस थे और
उनके साथ पाकिस्तान की सेना
की वर्दी पहने कुछ लोग थे. इस
पर विपक्ष का कहना है कि
एंटनी ने एक तरह से पाक सेना
को क्लीन चिट दे दी है. आखिर
एंटनी को कैसे पता चला कि सभी
आंतकवादी थे.

आखिर एंटनी ने यह कैसे जान
लिया कि पाक सेना कि वर्दी
पहने लोग पाक सेना के नहीं थे?
विपक्ष की तरफ से अरुण जेटली
और रामगोपाल यादवा ने खासतौर
से भारत सरकार के रक्षा
मंत्री के बयान की आलोचना की.
इनका कहना है कि ऐसा बयान
देने के बाद भारत सरकार आखिर
पाकिस्तान से किस प्रकार
विरोध दर्ज कर पाएगी.

एक तरफ सोनिया गांधी से लेकर
राहुल गांधी तक इस हमले की
निंदा करते हुए साफ कर चुके
हैं कि हमें धोखे में और
ज्यादा नहीं रखा जा सकता है
तो दूसरी तरफ रक्षा मंत्री कह
रहे हैं कि यह हमला तो दरअसल
आंतकवादियों की तरफ से किया
गया था जिसमें पाकिस्तान
सेना की भूमिका तो सिर्फ इतनी
थी कि उसकी वर्दी का कुछ
लोगों ने इस्तेमाल किया.

बड़ा सवाल है कि आखिर एंटनी
ने इस तरह का बयान क्य़ों दिया
जो पाकिस्तान सरकार को एक तरह
से रक्षा कवच देता है.
अंतरराष्ट्रीय बार्डर पर
भारत की तरफ से बीएसएफ तो
पाकिस्तान की तरफ से वहां के
पाक रेंजर गश्त करते हैं. इसी
तरह एलओसी पर दोनों देशों की
सेना ही आमतौर पर गश्त करती
है.

सवाल उठता है कि बीस
आंतकवादी, भारी गोला बारुद से
लैस होकर एलओसी तक आने में
कैसे कामयाब हो गये. सवाल
उठता है कुछ लोग पाक सेना की
वर्दी पहन कर एलओसी तक कैसे
पहुंच गये. साफ है कि यह काम
पाक सेना की मदद के बगैर नहीं
हो सकता है.

आखिर एलओसी पर किसी बाहरी
नागरिक के जाने पर भी आमतौर
पर पांबदी रहती है, सेना का
तगड़ा पहरा रहता है. ऐसी सूरत
में बीस आंतकवादी यूं टहलते
हुए एलओसी तक पहुंच जाएं यह
बात किसी को हजम नहीं हो सकती.

रक्षा मंत्री के बयान से साफ
है कि पाकिस्तान को यह कहने
का मौका मिल जाएगा कि यह उसकी
सेना का काम नहीं है और खुद
भारत के रक्षा मंत्री ने इसे
स्वीकारा है और भारत का विरोध
भी कमजोर पड़ जाएगा.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: एंटनी के बयान पर बवाल, विपक्ष का हमला तेज़
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017