एफडीआई काले धन की चाबी: बाबा रामदेव

एफडीआई काले धन की चाबी: बाबा रामदेव

By: | Updated: 02 Jun 2012 11:03 PM


नई
दिल्ली:
योग गुरू बाबा
रामदेव ने 4 जून से लेकर 8
अगस्त तक तक देश के गांवों
में काले धन को राष्ट्रीय
संपत्ति घोषित करने के लिए
अभियान चलाने का एलान किया.




रामदेव के कार्यकर्ता
सोमवार से ही अपने अपने इलाके
में सांसदों से मुलाकात
करेंगे. इसके बाद नौ अगस्त को
गांव के लोगों की मांगों को
प्रधानमंत्री के सामने
रखेंगे.




इस मुहिम में समर्थन के लिए
रामदेव सोनिया गांधी से लेकर
लालू और मुलायम से भी
मिलेंगे.




अनशन शुरू होते ही बाबा
रामदेव ने अपने भाषण में
सरकार से देश में 20 लाख करोड़
के विदेशी निवेश का स्रोत
बताने की मांग की है. बाबा का
दावा है कि स्रोत का पता लगते
ही सच सामने आ जाएगा.

रामदेव
ने कहा, 'विदेशी निवेश काले धन
की चाबी है. सरकार 20 लाख करोड़
के विदेशी निवेश का स्रोत
बताए. जैसे ही सरकार इस स्रोत
का खुलासा करेगी पूरा सच
सामने आए जाएगा.'

आईपीएल
में काला धन होने की बात कहते
हुए उन्‍होंने कहा, 'काला धन
वहां पर लगा हुआ है जहां सुरा
और सुंदरी का खेल चलता है.'

इसके
अलावा बाबा रामदेव ने
नक्‍सलियों का समर्थन करते
हुए कहा कि उनकी लड़ाई के
तरीके पर सवाल उठ सकते हैं,
लेकिन उनकी मांगे जायज हैं.




प्रधानमंत्री पर हमला
इसी
के साथ उन्‍होंने
प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह
पर निशाना साधते हुए कहा कि
पीएम को अपने मंत्रिमंडल में
ईमानदार लोग रखने चाहिए.




उन्‍होंने कहा,
'प्रधानमंत्री कहते हैं कि
'मैं ईमानदार हूं', लेकिन देश
आप को व्यक्तिगत तौर पर नहीं
देखता. देश एक ईमानदार
व्यक्ति के रूप में आपका
सम्मान करता है, लेकिन आपको
राजनीतिक रूप से भी ईमानदार
होना चाहिए. देश आपको एक
सर्वोच्च संवैधानिक पद पर
बैठे व्यक्ति के रूप में
देखता है. आपकी व्यक्तिगत
ईमानदारी पर्याप्त नहीं है.
अपना मंत्रिमंडल ईमानदार
रखिए.'





'वापस लाकर रहूंगा काला धन'
जंतर
मंतर के मंच पर बाबा रामदेव
ने कहा कि सरकार ने उन्‍हें
और टीम अन्‍ना को बदनाम करने
की पूरी कोशिश की लेकिव वे
काला धन वापस लाने की
प्रतिज्ञा लेते हैं.





बाबा रामदेव के अनशन को
समर्थन देने के लिए अन्‍ना
हजारे के साथ उनकी टीम के
सदस्‍य अरविंद केजरीवाल,
किरण बेदी और मनीष सिसोदिया
भी मौजूद रहे. एक
साथ अन्‍ना और रामदेव






पिछले साल रामलीला मैदान में
किए गए अनशन के एक साल पूरा
होने के मौके पर बाबा रामदेव
ने दिल्ली के जंतर मंतर पर इस
अनशन का आयोजन किया था.
रामदेव को पिछले साल तीन और
चार जून के बीच आधी रात को
रामलीला मैदान से गिरफ्तार
कर लिया गया था.




बापू को पुष्‍पांजलि





अनशन शुरू करने से पहले
रामदेव और अन्ना ने राजघाट
जाकर महात्मा गांधी की समाधि
पर मत्था टेका. इसके बाद
दोनों ने शहीद पार्क में
शहीदों को श्रद्धांजलि दी. 
राजघाट
में रामदेव और अन्‍ना





गौरतलब है कि अनशन शुरू करने
से पहले योग गुरु बाबा रामदेव
ने एबीपी न्‍यूज़ के साथ खास
बातचीत में कहा था कि उन्‍हें
पूरा यकीन है कि उनके आंदोलन
से सरकार जरूर झुकेगी. वीडियो
देखें












आंदोलन
से जरूर झुकेगी सरकार: रामदेव






क्‍या
किंगमेकर बनना चाहते हैं
रामदेव?






राजनीतिक
हस्‍ती से मिलने की तमन्‍ना




फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story कुलभूषण जाधव मामला: भारत-पाकिस्तान को लिखित दलीलें जमा करने की समयसीमा तय