एफडीआई पर हर किसी से बातचीत की गई: शर्मा

एफडीआई पर हर किसी से बातचीत की गई: शर्मा

By: | Updated: 07 Dec 2012 06:21 AM


नई
दिल्ली:
केंद्रीय वाणिज्य
एवं उद्योग मंत्री आनंद
शर्मा ने शुक्रवार को विपक्ष
के उस आरोप को खारिज कर दिया,
जिसमें कहा जा रहा है कि
सरकार ने बहुब्रांड खुदरा
में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश
(एफडीआई) का कदम उठाने से पहले
राजनीतिक दलों और राज्य
सरकारों से परामर्श नहीं
किया.

खुदरा में एफडीआई
पर राज्यसभा में बहस में
हिस्सा लेते हुए शर्मा ने कहा
कि संयुक्त प्रगतिशील
गठबंधन (संप्रग) सरकार ने
किसानों, व्यापारियों,
उपभोक्ताओं, राज्यों, हर किसी
से बातचीत की.




उन्होंने कहा कि सरकार ने इस
मुद्दे पर अंतर मंत्रालयी
चर्चा भी की, सिफारिशों को
सुना और उसके बाद निर्णय लिया
गया.

शर्मा ने कहा, "मैं 14
मुख्यमंत्रियों से मिल चुका
हूं, दिल्ली में नहीं, बल्कि
राज्यों में जाकर.. मैंने
प्रकाश सिंह बादल से मुलाकात
की, नवीन पटनायक से मिला, ममता
बनर्जी से मिला, नीतीश कुमार
से मिला.. हमने इस मुद्दे पर
मुख्यमंत्रियों को पत्र भी
लिखा."

शर्मा ने कहा कि
उन्होंने दोनों सदनों के
पार्टी नेताओं को भी पत्र
लिखा. उन्होंने कहा, "अधिकांश
मुख्यमंत्रियों ने मेरे
पत्र का उत्तर दिया."

इस पर
भाजपा नेता एम. वेंकैया नायडू
ने नाराजगी के साथ कहा,
"परामर्श करने का मतलब पत्र
लिखना नहीं होता."

शर्मा
ने कहा कि 21 राज्यों ने एफडीआई
पर अपनी राय भेजी और कई ने कहा
कि वे इसे चाहते हैं.

शर्मा
ने कहा कि माकपा नेता प्रकाश
करात और तृणमूल कांग्रेस ने
उनसे कहा था कि वे एफडीआई का
समर्थन नहीं कर सकते. "यह
अच्छी बात है, लेकिन जो लोग
इसे चाहते हैं, उन्हें आप
एफडीआई से कैसे इंकार कर सकते
हैं."




फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story योगी सरकार का बड़ा फैसलाः कानपुर, मेरठ और आगरा में चलेगी मेट्रो