एबीपी न्यूज़ सर्वे: मोदी की लीडरशिप में बीजेपी की आंधी में उड़ जाएगी कांग्रेस, एनडीए को मिल सकती है 236 सीटें

By: | Last Updated: Saturday, 22 February 2014 1:23 PM

नई दिल्ली: एबीपी न्यूज़-नीलसन का एक और ताज़ा सर्वे नरेंद्र मोदी के मैजिक के देशभर में ज़ोर पकड़ने की चुग़ली कर रहा है और बीजेपी उस ऊंचाई को पहुंचेगी, जहां अटल बिहार वाजपेयी भी इस पार्टी को नहीं ले जा पाए.

 

सर्वे के मुताबिक बीजेपी अकेले 217 सीटें जीत सकती है, जो कि एक रिकार्ड होगा. अब तक के लोकसभा चुनावों में बीजेपी 200 सीटों का आंकड़ा पार नहीं कर सकी है. बीजेपी का सबसे बढ़िया रिकार्ड वाजपेयी के नेतृत्व में 186 सीटें जीतने का है.

 

मोदी के नेतृत्व में उनकी सहयोगी पार्टियां भी अच्छी बैटिंग कर रही हैं और एबीपी न्यूज़-नीलसन सर्वे के मुताबिक एनडीए को 236 सीटें मिलने का अनुमान है.

 

मोदी ख़ेमे के लिए राहत की बात यह है कि लगातार ‘मोदी के लहर’ में तेज़ी देखी जा रही है, क्योंकि जनवरी में कराए गए एबीपी न्यूज़ के सर्वे में एनडीए को 226 सीटें ही मिल रही थीं यानी बीते एक महीने में ही ‘मोदी मैजिक’ से एनडीए को 10 सीटों के फायदा का अनुमान है.

बतौर पीएम मोदी हैं पहली पसंद

 

एबीपी न्यूज़-नीलसन सर्वे के मुताबिक जनता के बीच मोदी पीएम के सबसे प्रबल दावेदार हैं. 57 फीसदी जनता उन्हें बतौर पीएम देखना चाहती है, जबकि 18 फीसदी जनता की पसंद राहुल हैं. दोनों नेताओं के पसंद करने वाली की संख्या बढ़ी है, जबकि केजरीवाल को बड़ा झटका लगा है. अरविंद केजरीवाल को 3 फीसदी जनता पसंद कर रही है यानी 4 फीसदी की गिरावट आई है.

 

हालांकि, मोदी मैजिक के बाद भी एनडीए बहुमत के जादुई आंकड़े से बहुत दूर दिख रहा है और गैर-एनडीए और गैर-यूपीए दलों को 186 सीटें मिलने का अनुमान है.

 

एबीपी न्यूज़ सर्वे: जानें उन 10 पार्टियों को जो नई सरकार के गठन में हो सकती हैं अहम फैक्टर

 

एबीपी न्यूज़ सर्वे: जानें किन किन राज्यों में एनडीए-यूपीए फैक्टर नहीं है

 

 

एबीपी न्यूज-नीलसन सर्वें: पीएम की रेस में मोदी से कोसों दूर राहुल और केजरीवाल

 

एबीपी न्यूज-नीलसन सर्वे: जानें किस राज्य में किस पार्टी का पलड़ा रहेगा भारी 

रसातल में जाती कांग्रेस

 

दूसरी ओर कांग्रेस को अपने सबसे बुरे दौर का सामना करना पड़ सकता है और वह रसातल में जाती दिख रही है. सर्वे के मुताबिक कांग्रेस महज़ 73 सीटों पर सिमट जाएगी, जोकि कांग्रेस का अब तक का सबसे बुरा प्रदर्शन होगा.

 

कांग्रेस के लिए मुश्किल यह है कि जैसे-जैसे चुनाव के दिन करीब आ रहे हैं ‘सत्ता विरोधी लहर’ का दायरा बढ़ता जा रहा है, क्योंकि जनवरी में कराए गए एबीपी न्यूज़ के सर्वे में कांग्रेस को 81 सीटें मिल रही थीं यानी बीते एक महीने में ही उसकी 8 सीटों के कम होने का अनुमान है. 1996 में हुए चुनाव में कांग्रेस को सबसे कम 140 सीटें मिली थीं.

 

कांग्रेस की सहयोगी पार्टियां भी फ्लॉप दिख रही हैं. सर्वे के मुताबिक यूपीए को 92 सीटें मिलने का अनुमान है यानी गठबंधन को 9 सीटों का नुकसान होगा. 

 

आप का हाल बुरा

 

दिल्ली के सियासी पारे को हमेशा गर्म रखने वाली आम आदमी पार्टी दिल्ली के बाहर फ्लॉप साबित होती दिख रही है. दिल्ली की सात में से छह सीटें ‘आप’ के जीतने का अनुमान है.

 

एबीपी न्यूज़ के सर्वे के मुताबिक ‘आप’ पूरे देश में सिर्फ 10 सीटें जीत पाएगी, जोकि एबीपी न्यूज़ के पिछले महीने के सर्वे से एक सीट कम है यानी दिल्ली की सत्ता छोड़ने के बाद ‘आप’ का जलवा फीका पड़ रहा है.

 

लेफ्ट का हाल बेहाल

 

बदलती सियासी बिसात में लेफ्ट पार्टियां कुछ खास कर पाने में लगातार नाकाम दिख रही हैं. तमिलनाडु में सत्ताधारी एआईडीएमके से सीपीआई के गठजोड़ करने के बाद भी लेफ्ट पार्टियों की सीटें नहीं बढ़ रही हैं. सर्वे के मुताबिक लेफ्ट पार्टियों के 29 सीटें जीतने का अनुमान है, जोकि एबीपी न्यूज़ के पिछले सर्वे से एक सीट कम है.

 

आपको बता दें कि पिछले लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को 206 और बीजेपी को 116 सीटें मिली थीं.

 

कौन हो सकते हैं 10 बड़े दल

 

एबीपी न्यूज़ के सर्वे के मुताबिक बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरेगी और उसे 217 सीटें मिलने का अनुमान है. दूसरे नंबर पर कांग्रेस हो सकती है जिसे 73 सीटें मिलने के आसार हैं.

 

तीसरी बड़ी पार्टी ममता बनर्जी की टीएमसी हो सकती है जिसके बारे में 29 सीटें जीतने का अनुमान है. इसके बाद आंध्र प्रदेश की वाईएसआर कांग्रेस 22 सीटें जीत सकती है.

 

जयललिता की एआईडीएमके 19, सीपीएम 18, नवीन पटनायक की बीजेडी 16, मुलायम की एसपी 14, मायावती की बीएसपी 13 और करुणानीधि की डीएमकी 13 सीटें जीत सकती है.

 

कहां कहां है एनडीए मज़बूत

 

एबीपी न्यूज़ के सर्वे के मुताबिक उत्तर और पश्चिम भारत में एनडीए का जबरदस्त जलवा दिख रहा है. पश्चिम में गुजरात और महाराष्ट्र तो उत्तर में मध्य प्रदेश, यूपी, बिहार, राजस्थान काफी अच्छा कर रही है.

 

एनडीए पश्चिमी भारत की 116 सीटों में से 88 सीटें जीतती दिख रही है तो उत्तर भारत की 151 में 88 सीटें जीत सकती है. पूर्वी भारत की 142 में 39 सीटें एनडीए को मिल सकती है तो दक्षिणी भारत की 134 में 21 सीटें उनकी झोली में जा सकती है.

 

पिछले चुनाव में आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु में काफी बेहतर करने वाली यूपीए सरकार को इस बार वहां काफी बड़ा झटका लगता दिख रहा है. तमिलनाडु में जयललिता का जलवा है तो आंध्र प्रदेश में वाईएसआर के जगन रेड्डी का जलवा है.

 

वोट शेयर

 

सर्वे के मुताबिक एनडीए 31 फीसदी वोट अपनी झोली में खींच सकती है, जबकि यूपीए पिछले सर्वे के मुकाबले एक फीसदी इज़ाफे के साथ 24 फीसदी मत ही हासिल कर पाएगी. लेफ्ट पार्टियों को 5 फीसदी वोट मिलेंगे, जबकि अन्य पार्टियों के खाते में सबसे ज्यादा 40 फीसदी वोट जाएंगे.

 

यह सर्वे देश के कुल 29066 लोगों के बीच किया गया जिनमें से 18222 पुरूष और 10884 महिला मतदाता हैं. इन मतदाताओं में से 9849 शहरी और 19278 मतदाता ग्रामीण हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: एबीपी न्यूज़ सर्वे: मोदी की लीडरशिप में बीजेपी की आंधी में उड़ जाएगी कांग्रेस, एनडीए को मिल सकती है 236 सीटें
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: kbp KBPm
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017