एमपी के लिए बोरियों की व्यवस्था कर रहा है केंद्र

एमपी के लिए बोरियों की व्यवस्था कर रहा है केंद्र

By: | Updated: 10 May 2012 10:43 AM


नई
दिल्ली:
केंद्रीय खाद्य
मंत्री केवी थॉमस ने गुरुवार
को कहा कि केंद्र सरकार मध्य
प्रदेश के लिए बोरियों की
व्यवस्था कर रही है. उन्होंने
प्रदेश में खाद्यान्न का
भंडारण करने के लिए बोरियों
की कमी की खबर पर यह बात कही.

जन
वितरण प्रणाली मजबूत करने से
सम्बंधित एक कार्यशाला में
थॉमस ने कहा, "मध्य प्रदेश,
उत्तर प्रदेश और असम में
खाद्यान्न भंडारण और
बोरियों की जरूरत पर एक
मूल्यांकन किया गया था. मध्य
प्रदेश की सरकार ने कहा था कि
वह 50 फीसदी बोरियां बाहर से
खरीदेगी."

उल्लेखनीय है कि
बोरियों की कमी की वजह से
मध्य प्रदेश में गेहूं की
खरीद समय पर नहीं हो पा रही है.
मध्य प्रदेश सरकार ने
बोरियों में गेहूं भरकर लाने
वाले किसानों को प्रति बोरा 10
रुपये के हिसाब से बोरे की
कीमत देने का निर्णय लिया है. 


राज्य में इन दिनों
समर्थन मूल्य पर गेहूं की
खरीद का दौर चल रहा है. बोरा
(बारदाना) की कमी के चलते
किसानों का गेहूं खरीदने में
विलम्ब हो रहा है. राज्य
सरकार ने मंगलवार को
मंत्रिपरिषद की बैठक में
फैसला लिया कि अगर किसान अपने
बोरे में गेहूं लेकर आता है
तो उसे बोरे की कीमत प्रति
बोरा 10 रुपये के हिसाब से दी
जाएगी. 

भारतीय जनता
पार्टी के किसान मोर्चा के
अध्यक्ष बंशी लाल गुर्जर ने
कहा कि बारदाने की कीमत 10
रुपये तय की गई है, यह रकम कम
जरूर है, मगर किसानों को इससे
बड़ी राहत मिलेगी. जो किसान
खुद बारदाना लेकर आएगा, उसका
गेहूं तुरंत खरीद लिया जाएगा.





फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story ओम प्रकाश रावत होंगे नए मुख्य चुनाव आयुक्त, 23 जनवरी से संभालेंगे कामकाज