ओडिशा: चक्रवात और बाढ़ से 36 की मौत

By: | Last Updated: Wednesday, 16 October 2013 11:17 PM

<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
<b>भुवनेश्वर:
</b>फैलिन चक्रवात और उसके बाद
आई बाढ़ की दोहरी आपदा से जूझ
रही ओडिशा सरकार ने राहत और
पुनर्वास कार्यों के लिए आज
केन्द्र सरकार से 1,523 करोड़
रूपये तुरंत जारी करने की
मांग की. उधर इन आपदाओं में
मृतकों की संख्या 36 हो गयी है.<br /><br />मुख्यमंत्री
नवीन पटनायक ने
प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह
को लिखा, “राहत और बचाव
कार्यों को तुरंत शुरू करने
के लिए मैं आपसे 1,000 करोड़ रूपए
एडवांस और वर्ष 2013-14 के लिए
राज्य आपदा मोचन कोष में
उपलब्ध 523 करोड़ रूपए जारी
करने का आग्रह करता हूं.” <br /><br />यह
बताते हुए कि इससे राज्य
सरकार को राहत और पुनर्वास
कार्य की तत्काल जरूरत को
पूरा करने में मदद मिलेगी,
पटनायक ने कहा कि एक ज्ञापन
के रूप में एक विस्तृत
रिपोर्ट नुकसान का आकलन करने
के बाद प्रस्तुत की जाएगी.<br /><br />पटनायक
ने अपने पत्र में कहा, “मामले
में तुरंत कार्रवाई सराहनीय
होगी.” गंजाम जिले में बिजली
व्यवस्था को हुए “व्यापक”
नुकसान, जिसे सही करने के लिए
900 करोड़ रूपए की जरूरत होगी,
का ब्यौरा देते हुए
मुख्यमंत्री ने बताया कि एक
प्रमुख ग्रिड स्टेशन तहस नहस
हो गया है. पूरे जिले में
बिजली का पूरा आधारभूत ढांचा
धराशायी हो गया है.<br /><br />पटनायक
ने कहा, “इसे तुरंत बहाल किए
जाने की जरूरत है, जिसके लिए
मैंने भारत सरकार और खास तौर
से बिजली मंत्रालय के
अंतर्गत काम करने वाले
सार्वजनिक क्षेत्र के
संस्थान जैसे पीजीसीआईएल,
एनटीपीसी और एनएचपीसी की मदद
मांगी है.” <br /><br />चक्रवात और
बाढ़ से उत्पन्न स्थिति के
पूरी तरह नियंत्रण में होने
का दावा करते हुए मुख्य सचिव
जे के महापात्र ने बताया कि
बिजली की बहाली जरूरी है
क्योंकि इससे 17 जिलों के
ग्रामीण और शहरी केन्द्रों
में पीने के पानी की आपूर्ति
पर असर पड़ा है.<br /><br />ओडिशा और
आंध्र प्रदेश में बिजली
आपूर्ति बहाल करने के लिए
केन्द्रीय बिजली मंत्रालय
द्वारा 300 से अधिक विशेषज्ञों
की सेवाएं ली जा रही हैं.<br /><br />राष्ट्रीय
आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के
उपाध्यक्ष एम शशिधर रेड्डी
ने बताया कि 300 इलेक्ट्रिकल
विशेषज्ञों की सेवाएं ली जा
रही हैं और इन्हें फौरन ओडिशा
के चक्रवात प्रभावित इलाकों
में तैनात किया जाएगा, जहां
शनिवार को फैलिन की दस्तक के
बाद से बिजली नहीं है. ओडिशा
के पांच उत्तरी जिलों
बालेश्वर, मयूरभंज, भद्रक,
जाजपुर और क्योंझर में बाढ़
के हालात में मामूली सुधार के
बावजूद राज्य के कुल 647 गांव
अभी जलमग्न हैं.<br />
</p>

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ओडिशा: चक्रवात और बाढ़ से 36 की मौत
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017