कराची के कंट्रोल रूम में मौजूद था हाफिज सईद

कराची के कंट्रोल रूम में मौजूद था हाफिज सईद

By: | Updated: 29 Jun 2012 09:45 PM


नई
दिल्‍ली:
पाकिस्तान का
चेहरा एक बार फिर से बेनकाब
हो गया है. मुंबई हमले के आरोप
में गिरफ्तार जबीउद्दीन
उर्फ अबू हमजा ने मुंबई हमले
को लेकर अब तक का सबसे बड़ा
खुलासा किया है.




पुलिस पूछताछ के दौरान हमजा
ने बताया है कि कराची के
कंट्रोल रूम में हमले के दिन
लश्कर-ए-तैयबा का चीफ हाफिज
सईद भी मौजूद था.

हाफिज
सईद को लेकर पाकिस्तान हमेशा
से ये कहता रहा है कि उसके
खिलाफ कोई सबूत नहीं है लेकिन
हमजा ने खुलासा करके
पाकिस्तान के झूठ को बेपर्दा
कर दिया है.

वित्त मंत्री
पी चिदंबरम के मुताबिक, 'हमें
लगता है कि इस तरह का कंट्रोल
रूम बिना सरकार की मदद के
नहीं बनाया जा सकता. वहां
दूसरे लोग मौजूद थे और हमें
लगता है कि उनमें से एक हाफिज
सईद था.'

26 नवंबर को 10 आतंकी
मुंबई में आतंक मचा रहे थे और
यहां से 900 किलोमीटर दूर कराची
के वीवीआईपी इलाके में बने
कंट्रोल रूम से आतंकियों को
आदेश दिए जा रहे थे. इसी
कंट्रोल रूम में जबीउद्दीन
उर्फ अबू हमजा भी था और उसी ने
खुलासा किया है कि हाफिज सईद
भी वहां मौजूद था.

इसके
अलावा कंट्रोल रूम में
लश्कर-ए-तैयबा का कमांडर
जकीउर रहमान लखवी, मेजर इकबाल
उर्फ अबू अल कामा और लश्कर का
कंप्यूटर एक्सपर्ट अब्दुल
वाजिद उर्फ जरार शाह भी मौजूद
था.

कमरे में लश्कर का टॉप
कमांडर और आईएसआई का करीबी
साजिद मीर भी मौजूद था जो
पूरे ऑपरेशन को गाइड कर रहा
था. इनके अलावा मुंबई पर हमला
करने वाले आतंकियों को
मिलिट्री ट्रेनिंग देने
वाला मुजम्मिल बट भी कंट्रोल
रूम से आतंकियों को आदेश दे
रहा था.

कंट्रोल रूम में
बैठे हाफिज सईद सहित आतंक के
आका मुंबई के हमलावरों को
जरूरी निर्देश दे रहे थे. जिस
कमरे में कंट्रोल रूम बनाया
गया था वहां कंप्यूटर
स्क्रीन पर ये आतंकवादी
हेडली की रेकी का वीडियो
देखकर हमला करने वाले
आतंकियों को जरूरी निर्देश
भेज रहे थे.

कराची के
वीआईपी इलाके में कंट्रोल
रूम का होना और उस कमरे में
आतंक के आका हाफिज सईद का
मौजूद होना इस बात को साफ
करता है कि मुंबई हमले में
पाकिस्तान का सीधा हाथ है.

ये
वही हाफिज सईद है जिसे दुनिया
लश्कर के चीफ के रूप में
जानती है, लेकिन गुमराह करने
के लिए वो जमात उद दावा नाम का
संगठन चलाता है.

2009 में
अंतराष्ट्रीय दबाव के बाद
पाकिस्तान ने हाफिज को
नजरबंद कर दिया था, लेकिन
लाहौर कोर्ट ने सबूतों की कमी
के बाद उसे छोड़ दिया.

हाफिज
इसके बाद खुलेआम घूम कर आतंकी
साजिशों में शामिल रहा है,
लेकिन पाकिस्तान लगातार
इसका बचाव करता रहा है.
अमेरिका ने इसी साल हाफिज पर 50
करोड़ रुपये का इनाम भी रखा
है.

मुंबई हमले में हाफिज
के शामिल होने को लेकर
पाकिस्तान सबूतों की कमी का
रोना रोता रहा है, लेकिन अबू
हमजा के खुलासे के बाद एक बार
फिर से पाकिस्तान बेनकाब हो
गया है. मुंबई हमले में हमजा
का ये बयान हाफिज के खिलाफ
बड़ा सबूत होने के लिए काफी
है.





फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story पाकिस्तान फिर बेनकाब, पीएम अब्बासी ने आतंकी हाफिज सईद को ‘साहेब’ कहकर दी क्लीन चिट