कर्नाटक में एक साथ 6 मुख्यमंत्री होंगे आमने-सामने

कर्नाटक में एक साथ 6 मुख्यमंत्री होंगे आमने-सामने

By: | Updated: 01 Apr 2014 04:17 PM

बेंगलुरू: कर्नाटक में राज्य के छह पूर्व मुख्यमंत्री लोकसभा चुनाव मैदान में अपना दांव आजमाने के लिए उतरे हुए हैं. इनमें से एक 18 महीने तक देश के प्रधानमंत्री भी रह चुके हैं.

 

छह मुख्यमंत्रियों में से दो कांग्रेस से (एम. वीरप्पा मोइली और एन. धरम सहि) और दो भाजपा से (बी. एस. येदियुरप्पा और डी.वी. सदानंद गौड़ा) हैं. इसके अलावा जनता दल-सेक्युलर (जद-एस) से एच.डी. देवगौड़ा और उनके बेटे एच. डी. कुमारस्वामी प्रत्याशी हैं.

 

मोइली केंद्र की संप्रग-2 (संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन) सरकार में पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री हैं.

 

अटल बिहारी वाजपेयी की 13 दिनों की सरकार के सत्ता से हटने के बाद देवगौड़ा दिसंबर 1994 से मई 1996 तक 18 महीने तक देश के प्रधानमंत्री रहे थे.

 

येदियुरप्पा को छोड़ शेष सभी सांसद रह चुके हैं. इनमें से मोइली, सिंह और गौड़ा निवर्तमान सदस्य हैं और फिर से चुने जाने के लिए मैदान में उतरे हैं. ये क्रमश: चिक्कबल्लापुर, बीदर और हासन से चुनाव लड़ रहे हैं.

 

सदानंद गौड़ा ओर कुमारस्वामी उदुपी-चिकमंगलूर और बेंगलुरू ग्रामीण से 2009 में चुने जा चुके हैं. लेकिन उन्होंने राज्य विधानसभा का चुनाव में जीतने के बाद कार्यकाल से पहले इस्तीफा दे दिया था.

 

सदानंद गौड़ा ने सितंबर 2011 में लोकसभा से इस्तीफा दे दिया था. इसके एक महीना पहले वे भाजपा के दूसरे मुख्यमंत्री बनाए गए थे और राज्य विधान परिषद के सदस्य चुने गए थे.

 

इसी तरह कुमारस्वामी ने रामनगर विधानसभा सीट से चुने जाने के बाद जून 2013 में संसद से इस्तीफा दे दिया था.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story राजस्थान विधानसभा भवन में 'बुरी आत्माओं' का साया, हवन कराने की मांग