कलेक्‍टर की रिहाई के लिए नक्‍सलियों की सौदेबाजी!

कलेक्‍टर की रिहाई के लिए नक्‍सलियों की सौदेबाजी!

By: | Updated: 22 Apr 2012 09:43 PM


रायपुर:
छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले के
अगवा कलेक्टर का अब तक कुछ भी
पता नहीं चला है. समाचार
एजेंसी पीटीआई के मुताबिक
नक्सलियों ने कलेक्टर की
रिहाई के लिए सौदेबाजी शुरू
कर दी है.

कब रिहा होंगे
अगवा कलेक्टर ? नक्सलियों ने
कलेक्टर को कहां रखा है ? किस
हाल में हैं कलेक्टर एलेक्स
पॉल ? दमा से पीड़ित पॉल की
तबीयत कैसी है ?

यह कुछ ऐसे
सवाल हैं जिनको लेकर कलेक्टर
एलेक्स पॉल मेनन का परिवार
बेचैन है. छत्तीसगढ़ सरकार के
साथ कलेक्टर के परिवार को भी
एक ही बात की चिंता सता रही है
कि किसी तरह उनकी सकुशल रिहाई
हो जाए.

इस बीच खबर है कि
नक्सलियों ने अगवा कलेक्टर
पॉल मेनन को छोड़ने के बदले
सौदाबाजी की शुरू कर दी है.
समाचार एजेंसी पीटीआई के
मुताबिक नक्सलियों कुछ
मांगें रखी है.

नक्‍सलियों
ने मांग की है कि दंतेवाड़ा
की जेल में बंद उनके आठ
साथियों को रिहा किया जाए,
नक्सलियों के खिलाफ चलाए जा
रहे ऑपरेशन ग्रीन हंट पर रोक
लगाई जाए, सुरक्षाकर्मियों
को बैरक में वापस बुलाया जाए
और कोटा में बीजेपी नेता
अवधेश गौतम पर हमले के
आरोपियों पर से मामले खत्म
हों.

शर्तें मानने के लिए
नक्‍सलियों ने सरकार को 25
अप्रैल तक का अल्टीमेटम दिया
है.

छत्तीसगढ़ सरकार पूरे
हालात पर कड़ी नजर रख रही है.
कलेक्टर के अपहरण के मुद्दे
पर रविवार देर रात बैठक भी
हुई. वैसे राज्य सरकार के पास
सीधे नक्सलियों की ओर से अभी
तक कोई मांग नहीं पहुंची है.

सुकमा
के अगवा कलेक्टर एलेक्स पॉल
मेनन की सुरक्षित रिहाई के
लिए समाजसेवी स्वामी
अग्निवेश भी आगे आए हैं. उनका
कहना है कि कलेक्टर की रिहाई
के लिए सरकार और नक्सलियों को
जिस पर भरोसा हो उसके जरिए
जल्द से जल्द बातचीत की कोशिश
होनी चाहिए.

सुकमा के
कलेक्टर एलेक्स पॉल मेनने को
शनिवार को नक्सलियों ने
मांझापाड़ा के पास उस वक्त
अगवा कर लिया था जब वो एक
सरकारी कार्यक्रम से वापस
लौट रहे थे.

वैसे
छत्तीसगढ़ पुलिस कुछ अहम
सुराग मिलने का दावा कर रही
है, लेकिन कलेक्टर कहां हैं
इसका खुलासा नहीं किया जा रहा
है.

साल 2006 बैच के आईएएस
एलेक्स पॉल मेनन छत्तीसगढ़
के नए जिले सुकमा के पहले
कलेक्टर बने थे. तेज तर्रार
स्वभाव के कलेक्टर एलेक्स
पॉल को नक्सलियों ने धमकी भी
दी थी, लेकिन तब भी वो ग्राम
स्वराज के कार्यक्रम में
हिस्सा लेने गए थे. इस
कार्यक्रम से लौटते समय ही
उन्हें अगवा कर लिया गया.




फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story दिल्ली: पटाखा फैक्ट्री में आग से 17 की मौत, BJP मेयर प्रीति अग्रवाल के बयान पर बवाल