कितने गुर्जर मारे गए, पर माफी आज तक नहीं मांगी : गहलोत

By: | Last Updated: Sunday, 24 November 2013 10:57 PM
कितने गुर्जर मारे गए, पर माफी आज तक नहीं मांगी : गहलोत

<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
<b>भरतपुर : </b>राजस्थान के
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने
भाजपा प्रदेशाध्यक्ष
वसुन्धरा राजे पर बौखलाहट
में झूठ बोलकर सत्ता हासिल
करने का प्रयास करने का आरोप
लगाते हुए कहा कि उनके राज
में 21 बार गोलियां चलने की
घटनाओं में 70 गुर्जरों सहित 90
लोग मारे गए, लेकिन आज तक
उन्होंने माफी नहीं मांगी.<br /><br />गहलोत
ने कल नगर में कांग्रेस
उम्मीदवारों के पक्ष में
जनसभा को सम्बोधित करते हुए
कहा कि वसुंधरा की बौखलाहट इस
बात से साफ हो जाती है कि वह
मुफ्त दवा योजना के तहत बांटी
जा रही दवाओं को जहर और
बुजुर्गों, एकल महिलाओं और
निशक्त जनों को दी जा रही
सम्मान पेंशन को रेवड़ियां
बांटना बता रही हैं तथा
प्रदेश में गत पांच साल में
हुए विकास को नकार रही हैं.<br /><br />उन्होंने
कहा कि किसानों ने पानी मांगा
तो किसानों को अपराधी एवं
असामाजिक तत्व कहा. गुर्जरों
ने आन्दोलन किया तो उन पर
गोलियां चलाई गईं जिसमें 70
निर्दोष गुर्जर मारे गये.<br /><br />गहलोत
ने वसुन्धरा राजे के पांच साल
को कुशासन बताते हुए कहा कि
भ्रष्टाचार को संस्थागत रूप
दिया गया तथा बाहर से आये लोग
प्रदेश में लूट खसोट करते
रहे.<br /><br />उन्होंने कहा कि
मुफ्त दवा योजना से आज
प्रतिदिन ढाई लाख लोग लाभ उठा
रहे हैं और अब तक यह योजना 12
करोड़ से अधिक लोगों को
लाभान्वित कर चुकी है.
उन्होंने कहा कि दवा को जहर
बताकर वसुन्धरा राजे लोगों
के मनोबल को तोड़ने की कोशिश
कर रही हैं जिसका जवाब मतदाता
चुनावों में देंगे. यह ऐसी
योजना है, जिसकी तारीफ देश
में ही नहीं, पूरे विश्व में
की जा रही है.<br /><br />गहलोत ने कहा
कि पेंशन योजना के सहारे आज
बुजुर्गों को सम्मान से जीने
का अवसर मिला है तथा वे घर आई
बहन-बेटी को अपनी इच्छा से
पांच-पचास रुपये देकर
आत्मसंतोष की अनुभूति कर
सकते हैं. ऐसे में पंेशन को
रेवड़ियां कहकर प्रदेश के
बुजुर्गों, एकल महिलाओं एवं
निशक्तों का अपमान किया जा
रहा है. जारी <br />
</p>

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: कितने गुर्जर मारे गए, पर माफी आज तक नहीं मांगी : गहलोत
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017