कोयला खदानों के आवंटन पर आईएमजी की बैठक

कोयला खदानों के आवंटन पर आईएमजी की बैठक

By: | Updated: 02 Sep 2012 10:58 PM








नई दिल्ली: 
कोयला घोटाले पर मचे हंगामे
के बीच सोमवार को दिल्ली में
इंटर मिनिस्ट्रियल ग्रुप  की
बैठक हो रही है. इस बैठक में
आवंटित किए गए 58 कोल ब्लॉक्स
पर चर्चा होगी.




इस समूह को 15 सितंबर तक अपनी
रिपोर्ट देनी है. बड़ा सवाल
ये है कि क्या मंत्रालयों का
समूह 58 कोयला खदानें रद्द
करने की सिफारिश करेगा?




इस बैठक में 58 खदानों पर
समीक्षा की जाएगी जिसके बाद
इन खदानों का भविष्य तय होगा.




केंद्रीय कोयला मंत्री के
मुताबिक फिलहाल कोई भी आंवटन
रद्द नहीं होगा, लेकिन आईएमजी
की रिपोर्ट में अगर गलत तरीके
से खदान मिलने की बात साबित
हुई तो आवंटन को रद्द किया जा
सकता है.




इंटर मिनिस्ट्रियल ग्रुप
यानी आईएमजी की रिपोर्ट 15
सितंबर तक आएगी. लेकिन बीजेपी
कोयला घोटाले पर सीएजी की
रिपोर्ट के आधार पर 142 खदानों
का आवंटन रद्द करने की मांग
कर रही है.




अब देखना होगा कि आईएमजी की
बैठक में क्या बात निकलकर
सामने आती है.




ग़ौरतलब है कि सीएजी ने अपनी
रिपोर्ट में कोयला खदानों के
आवंटन में गड़बड़ी की बात कही
है. अपनी रिपोर्ट में सीएजी
ने कहा कि कोयला खदानों के
आवंटन में पारदर्शिता में
कमी के कारण सरकार के खजाने
को 1.86 लाख करोड़ का अनुमानित
घाटा हुआ है.




बीजेपी इस मुद्दे पर
प्रधानमंत्री के इस्तीफ़े
की मांग कर रही है, जबकि सरकार
चर्चा चाहती है. हालांकि,
बीजेपी के रुख में नरमी देखी
जा रही है, लेकिन उसकी मांग है
कि कोयला खदानों के आवंटन
रद्द किए जाएं.




संबंधित खबरें:





पीएम
के इस्तीफे की मांग पर नरम
हुई बेजीपी!






'यूपीए
को सत्ता में रहने का अधिकार
नहीं'






1.86
लाख करोड़ का कोयला घोटाला






http://www.youtube.com/watch?v=PWvosbKQzps



फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story कुलभूषण जाधव मामला: भारत-पाकिस्तान को लिखित दलीलें जमा करने की समयसीमा तय