कोयला पर किचकिच: पारेख के हमले के बाद बीजेपी उठा रही है पीएम पर सवाल

By: | Last Updated: Wednesday, 16 October 2013 5:06 AM
कोयला पर किचकिच: पारेख के हमले के बाद बीजेपी उठा रही है पीएम पर सवाल

<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”></p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
<b>नयी
दिल्ली.</b> बीजेपी ने पूर्व
कोयला सचिव पीसी पारेख की
टिप्पणी के बाद कांग्रेस और
सरकार पर जमकर भड़ास निकाला.
पीएम पर हमला बोलते हुए
बीजेपी ने कहा कि कोयला ब्लॉक
आवंटन के लिए अंतिम मंजूरी
देने वाला कोई व्यक्ति अपनी
जिम्मेदारी से कैसे बच सकता
है. बीजेपी ने सीबीआई द्वारा
पीएम मनमोहन सिंह का नाम नहीं
लेने पर आश्चर्य जताया और कहा
कि पीएम अपनी जिम्मेदारी से
कैसे बच सकते हैं.
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
<br />आपको बता दें कि पीसी पारेख
ने कहा था कि कोयला घोटाले
में प्रधानमंत्री का नाम
‘‘साजिशकर्ता’’ के रूप में
लिया जाना चाहिए.
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
भाजपा नेता यशवंत सिन्हा ने
कहा, ‘‘पारेख के लिए बोलने का
समय आ गया है. उन्होंने कम
बोला है, उन्हें अब साफ..साफ
कहना चाहिए, सार्वजनिक तौर पर
बयान देने चाहिए कि उस समय जब
प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह
कोयला मंत्रालय के प्रभारी
थे, कितनी फाइलें निपटाई
गईं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘किस
तरह कांग्रेस पार्टी के
मुख्यालय से प्रधानमंत्री
कार्यालय में चिट प्राप्त
हुईं और प्रधानमंत्री
कार्यालय ने कोयला ब्लॉक
आवंटन के लिए वे निर्देश
कोयला मंत्रालय को दिए ’’<br /> <br />भाजपा
नेता ने आश्चर्य जताया कि वह
व्यक्ति अपनी जिम्मेदारी से
कैसे बच सकता है जिसने कोयला
ब्लॉक आवंटन को अंतिम मंजूरी
दी और उन लोगों पर अधिक
जिम्मेदारी कैसे डाली जा
सकती है जिन्होंने
प्रधानमंत्री को सिर्फ
सिफारिशें कीं. सिन्हा की
टिप्पणी पारेख के इस बयान के
बाद आई है कि अंतिम फैसला
करने वाले व्यक्ति
प्रधानमंत्री थे और मामले
में उनका नाम
‘‘साजिशकर्ता’’ के रूप में
लिया जाना चाहिए .<br /><br />उन्होंने
कहा, ‘‘मुझे इस बात को लेकर
हैरत नहीं है कि पारेख ने कहा
है कि कोयला घोटाले में <a
href=”http://abpnews.newsbullet.in/ind/34-more/57058–pm-“>प्रधानमंत्री
को आरोपी संख्या..1 बनाया जाना
चाहिए.</a>’’ सिन्हा ने कहा,
‘‘हम सभी इस तथ्य से अवगत हैं
कि जब कोयला घोटाला हुआ था तब
उनके पास कोयला मंत्रालय का
प्रभार था और कोयला ब्लॉक का
प्रत्येक आवंटन उनके
हस्ताक्षर के बाद ही हुआ.’’ <br /><br />कांग्रेस
ने कहा कि मामले की जांच की जा
रही है और इसकी निगरानी
उच्चतम न्यायलय कर रहा है.
केंद्रीय मंत्री मनीष
तिवारी ने कहा, ‘‘यह अनवाश्यक
अटकलबाजी है. इससे बचना
चाहिए.’’ उन्होंने कहा कि
सरकार मामले में पूरा सहयोग
कर रही है.<br /><br />कांग्रेस
महासचिव दिग्विजय सिंह ने
कहा कि पारेख कुछ भी बोलने को
आजाद हैं, लेकिन उन्हें मामले
में जो कुछ भी कहना है, सीबीआई
के समक्ष कहना चाहिए.<br /><br />उल्लेखनीय
है कि सीबीआई ने कथित आपराधिक
साजिश तथा भ्रष्टाचार
निरोधक कानून की विभिन्न
धाराओं तथा आदित्य बिड़ला
समूह के चेयरमैन 46 वर्षीय
बिड़ला तथा पारेख के अलावा
अज्ञात लोगों तथा हिंडाल्को
एवं कोयला मंत्रालय के
अधिकारियों का नाम एफआईआर
में दर्ज की है. अरबों रुपये
के इस घोटाले में यह 14वीं
प्राथमिकी है.<br /><br />सीबीआई
सूत्रों ने बताया कि बिड़ला.
पारेख तथा अन्य आरोपी को
पूछताछ के लिये बुलाया जाएगा.<br /><br />
</p>

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: कोयला पर किचकिच: पारेख के हमले के बाद बीजेपी उठा रही है पीएम पर सवाल
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017