क्या अजय राय से डर गये हैं मोदी ?

क्या अजय राय से डर गये हैं मोदी ?

By: | Updated: 19 Apr 2014 05:36 PM
नई दिल्ली. वाराणसी में बीजेपी के पीएम उम्मीदवार नरेंद्र मोदी के खिलाफ खड़े कांग्रेसी उम्मीदवार अजय राय दावा कर रहे हैं कि नरेंद्र मोदी उनसे डर गए हैं. इस दावे की वजह है मोदी के करीबी अमित शाह का आरोप. अमित शाह ने आरोप लगाया है कि अजय राय का नाम AK-47 रायफलों की अवैध खरीद बिक्री से जुड़ा है.

 

वाराणसी में नरेंद्र मोदी के खिलाफ कांग्रेसी कैंडिडेट पर हमला करने के लिए लखनऊ में मोर्चा संभाला अमित शाह ने. अमित शाह जिस मामले का जिक्र कर रहे हैं वो साल 1996 से जुड़ा हैं जिसमें बिहार के डॉन शहाबुद्दीन ने कश्मीर के रास्ते एके 47 राइफल मंगवाई थीं. अमित शाह का आरोप है कि इसी खेप की खरीद फरोख्त की कड़ी अजय राय से भी जुड़ती है.

 

 

हाल ही में बिहार सरकार को सौंपी गई एक रिपोर्ट सामने आई जिसके हवाले से खुलासा किया गया है कि अजय राय ने फिलहाल जेल की हवा खा रहे अंडरवर्ल्‍ड डॉन शहाबुद्दीन से 1996 के आसपास AK-47 राइफलें खरीदी थीं.

 

2003 में बिहार के तत्कालीन डीजीपी डीपी ओझा ने 82 पन्नों की रिपोर्ट उस वक्त के गृह सचिव को भेजी थी जिसमें शहाबुद्दीन और दूसरे अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई की सिफारिश की गई थी.

 

रिपोर्ट में लिखा गया है कि शहाबुद्दीन ने 8-10 एके 47 रखकर बाकी दूसरे अपराधियों को बेच दीं. रिपोर्ट में ओझा ने 24 अपराधियों के नाम लिए हैं जिसमें अजय राय का नाम भी शामिल है.

 

बीजेपी के हमले के बाद कांग्रेस ने भी तीखे सवाल पूछे हैं सबसे बड़ा सवाल ये कि जिस समय की ये घटना है उस समय अजय राय बीजेपी विधायक थे और तब बीजेपी को जांच की बात क्यों याद नहीं आई.

 

अजय राय  इलाके में बाहुबली के तौर पर मशहूर हैं और 1996 से 2007 के बीच कोलासला से बीजेपी की टिकट पर विधायक रहे हैं. 2009 में वाराणसी में लोकसभा टिकट ना मिलने पर उन्होंने बीजेपी छोड़ी थी.

 

2009 में एसपी की टिकट पर चुनाव लड़े लेकिन हारे. उसके बाद 2009 के उपचुनावों में फिर से कोलासला से विधायक चुने गए. 2012 में वो पिंडारा सीट से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव जीते. अब कांग्रेस ने मोदी के खिलाफ अजय राय को उतार दिया है.

 

अपने नामांकन में अजय राय की कुल संपत्ति है 72 लाख 30 हजार रुपये दिखाई है. अजय राय पर 9 मामले दर्ज हैं जिसमें से एक हत्या की कोशिश का मामला भी है. हालांकि अजय राय अपने ऊपर लगे आरोपों को गलत बता रहे हैं.

 

वाराणसी में 12 मई को वोटिंग होनी है. अरबिंद केजरीवाल पहुंच चुके हैं. अजय राय नामांकन दाखिल कर चुके हैं और मौजूदा हालात को देखकर लगता है कि आने वाले वक्त में वाराणसी में चुनावी माहौल और गर्माने वाला है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story जम्मू कश्मीर में आतंकी हमला, दो पुलिसकर्मी शहीद