क्या आपने किसी कुत्ते को मंदिर की परिक्रमा करते देखा है?

क्या आपने किसी कुत्ते को मंदिर की परिक्रमा करते देखा है?

By: | Updated: 05 Apr 2014 04:18 AM

रायपुर/छुरा: आपने मनुष्य को भक्ति भावना के चलते किसी मंदिर का चक्कर लगाते हुए देखा होगा, लेकिन कोई कुत्ता भक्ति भावना में मंदिर का चक्कर लगाए ऐसा कभी सुना नहीं होगा. जी हां लेकिन इस बार एक कुत्ता पिछले तीन दिनों से एक मंदिर का चक्कर लगा रहा है.

 

मामला छुरा ब्लाक के मुड़ागांव का है. जहां एक कुत्ता गांव में स्थित प्राचीन मंदिर बजरंग बली श्रीजानकी मंदिर का पिछले तीन दिनों से चक्कर लगा रहा है. मंदिर का चक्कर लगाता हुआ कुत्ता ग्रामीणों के लिए कौतूहल का विषय बना हुआ है. कुत्ते के चक्कर लगाने की खबर के बाद ग्रामीणों ने सोचा कि कुत्ता मंदिर के पास घूम रहा होगा, लेकिन जब वह लगातार कई घंटे तक मंदिर की परिक्रमा करने लगा तो लोग भी इसे आश्चर्यचकित होकर देखने लगे.

 

वहीं कई घंटों तक लगातार परिक्रमा करने की खबर के बाद लोगों की भीड़ मंदिर तक पहुंची. लोगों की भीड़ को देखकर भी कुत्ते का ध्यान नहीं भटका और वह नियमित परिक्रमा करता रहा. लेकिन लगातार चलने की वजह से कुत्ता बीमार पड़ गया और लोग कुत्ते की खातिरदारी में लग गए.

 

ग्रामीणों के मुताबिक कुत्ता लगातार परिक्रमा करने लगा जिसके चलते वह वह गुरुवार को कुछ घंटों के बाद अस्वस्थ होकर बैठ गया और उसकी आंख से आंसू निकलने लगे. इस दौरान ग्रामीणों ने उसका इलाज पशु चिकित्सक डॉ. देवेश जोशी से करवाया. जोशी ने उसे ड्रिप लगाया. इस दौरान कुत्ता फिर उठ खड़ा हुआ और परिक्रमा करने में जुट गया.

 

मंगलवार अलसुबह से बिना अन्न-जल ग्रहण किए कुत्ता परिक्रमा लगा रहा है. गांव के बुजुर्ग धनीराम के मुताबिक वह कुत्ते को मंगलवार से ही यहां देख रहे हैं. वह बिना अन्न-जल ग्रहण किए लगातार परिक्रमा कर रहा है.

 

धनीराम ने बताया कि कुत्ता एक परिक्रमा पूरी कर मंदिर के मुख्य द्वार पर भगवान के सामने मत्था टेकता है. उन्होंने बताया कि ग्रामीण कुत्ते की परिक्रमा के पीछे तर्क दे रहे हैं कि कुत्ते को पिछले जन्म में जरूर किसी तरह का श्राप मिला होगा, जिसके चलते वह श्राप से मुक्त होने के लिए लगातार परिक्रमा कर रहा है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story केजरीवाल सरकार का फैसला, दिल्ली में राशन के लिए आधार कार्ड नहीं होगा अनिवार्य