क्या गद्दी 'हाथ' से निकलते देख डर गई है कांग्रेस?

By: | Last Updated: Monday, 4 November 2013 7:26 AM

<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
<b>नई
दिल्ली.</b> कांग्रेस ने चुनाव
आयोग के उस विचार का समर्थन
किया है जिसमें आयोग ने चुनाव
के दौरान मत सर्वेक्षणों पर
रोक लगाने की दलील दी है. इस
खबर के आते ही सियासत की
गलियारों में गरमागरम बहस चल
पड़ी. कुछ राजनीतिक दल
ओपिनियन पोल के पक्ष में तो
कुछ विरोध में स्वर बुलंद
करने लगे.
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
चलिए पहले एक नजर में हम आपको
एक बताते हैं कि कौन ओपिनियन
पोल के पक्ष में है और कौन
विरोध कर रहा है.<br /><br /><b>ओपिनियन
पोल के पक्ष में ये राजनीतिक
दल हैं. </b><br />अकाली दल <br />शिवसेना
<br />जेडीएस <br />बीजेपी <br />आप <br />बीएसपी
<br /><br /><b>ओपिनियन पोल के विरोध
में ये राजनीतिक दल हैं. </b><br /><br />कांग्रेस
<br />सीपीआई <br />सपा <br />
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
आपको बता दें कि कांग्रेस के
मानवाधिकार एवं कानून विभाग
के सचिव के.सी. मित्तल ने कहा,
‘हम चुनाव आयोग के चुनाव के
दौरान मतदान सर्वेक्षणों पर
रोक लगाने के विचार का समर्थन
करते हैं, क्योंकि यह
वैज्ञानिक नहीं होता है. इस
तरह के सर्वेक्षण सटीक और
पारदर्शी नहीं होते हैं.'<br /><br />कांग्रेस
महासचिव <a
href=”http://abpnews.newsbullet.in/ind/34-more/58709-2013-11-04-06-38-11″>दिग्विजय
सिंह ने ओपिनियन पोल को जोक
करार दिया है.</a><br />
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
http://www.youtube.com/watch?v=lm2D5l4UO1U<br /><br />चुनाव
आयोग ने राजनीतिक दलों से
चुनाव के दौरान चुनाव पूर्व
होने वाले मत सर्वेक्षणों के
प्रसारण प्रकाशन पर रोक
लगाने के बारे में विचार
मांगे थे. कांग्रेस की तरफ से
30 अक्टूबर को औपचारिक जवाब
दिया जा चुका है.<br /><br />उधर
कांग्रेस नेतृत्व के
विभिन्न वर्गों की तरफ से
रायशुमारी पर रोक लगाने
संबंधी मांग के बीच पंजाब के
मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह
बादल ने आज कहा कि कांग्रेस
इस तरह के जनमत सर्वेक्षणों
का विरोध इसलिए कर रही है
क्योंकि आने वाले चुनाव में
उसने अपनी हार भांप ली है.<br /><br />‘कांग्रेस
ऐसी मांग इसलिए कर रही है
क्योंकि उसे पांच राज्यों
में आने वाले विधानसभा चुनाव
में अपनी हार दिखाई दे रही है,
जिसके बाद 2014 के लोकसभा चुनाव
में भी उसका यही हाल होने
वाला है.’उन्होंने हैरानी
जाहिर करते हुए कहा,
‘कांग्रेस, जो इस तरह की
रायशुमारी का समर्थन करती
रही है, हवाओं को अपने
प्रतिकूल पाते ही इनका विरोध
करने लगी है.’ अब सबसे बड़ा
सवाल यही है कि चुनाव से पहले
टीवी न्यूज चैनलों के
ओपिनियन पोल से क्या
कांग्रेस और सरकार घबरा गई
है? <br />
</p>

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: क्या गद्दी ‘हाथ’ से निकलते देख डर गई है कांग्रेस?
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017