क्या दिग्विजय सिंह की बात मानेंगी स्मृति ईरानी ?

क्या दिग्विजय सिंह की बात मानेंगी स्मृति ईरानी ?

By: | Updated: 31 May 2014 11:41 AM
नई दिल्ली. स्मृति ईरानी की शिक्षा को लेकर विवाद के बीच दिल्ली यूनिवर्सिटी के पांच कर्मचारी सस्पेंड कर दिए गए हैं . निलंबन पर स्मृति ने दिल्ली यूनिवर्सिटी के वीसी से कर्मचारियों को फिर बहाल करने की अपील की . कांग्रेस ने स्मृति के इस फैसले का स्वागत तो किया लेकिन स्मृति की शिक्षा पर हमला भी जारी रखा .

 

कांग्रेस के छात्र संगठन NSUI ने दिल्ली यूनिवर्सिटी में मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी का इस्तीफा मांगा हैं. दरअसल स्मृति ईरानी की शिक्षा से जुड़ी जानकारी लीक करने के आरोप में दिल्ली यूनिवर्सिटी के पांच कर्मचारी सस्पेंड किए गए हैं.

 

स्मृति ईरानी ने निलंबित अधिकारियों को बहाल करने की अपील की 

ये कर्मचारी स्कूल ऑफ ओपन लर्निंग विभाग से जुड़े हैं. कर्मचारियों को सस्पेंड करने का फैसला पिछले दिनों एक अखबार में छपी उस रिपोर्ट के बाद किया गया जिसमें ये कहा गया था कि स्मृति ईरानी ने पिछले साल दिल्ली यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ ओपन लर्निंग में दाखिला लिया था लेकिन परीक्षा नहीं दी थी . हालांकि स्मृति ईरानी ने भी पांचों कर्मचारियों का निलंबन वापस लेने की अपील डीयू के वाइस चांसलर से की है. दिल्ली यूनिवर्सिटी टीचर्स एसोसिएशन यानी डूटा ने भी स्मृति के फैसले का स्वागत किया है .

 

कांग्रेस ने भी स्मृति की अपील का स्वागत किया लेकिन हमला बोलने का मौका भी नहीं छोड़ा है . कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने कैमरे पर तो सवाल नहीं उठाया लेकिन ट्विटर पर उन्होंने स्मृति से एक बार फिर वही सवाल दोहरा दिया है .

 

दिग्विजय सिंह ने ट्विटर पर लिखा है कि सस्पेंड किए गए कर्मचारियों को बहाल करने की अपील के लिए स्मृति का धन्यवाद. अब लोगों को अपनी सही डिग्री बता दीजिए .

 

स्मृति ईरानी की शिक्षा पर कांग्रेस ने सवाल उठाए थे. स्मृति के हलफनामों में शिक्षा पर अलग अलग जानकारी देने पर विवाद खड़ा हुआ था. स्मृति ईरानी ने 2004 में  लोकसभा चुनाव लड़ते वक्त हलफनामे में शैक्षिक योग्यता बीए बताई थी. 2011 में राज्यसभा के लिए चुने जाते समय और फिर 2014 के लोकसभा चुनाव में दिए हलफनामे में उन्होंने शैक्षिक योग्यता बी कॉम फर्स्ट ईयर बताई थी.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story राज्य सभा चुनाव: बंगाल से जया बच्चन का नाम अभी फाइनल नहीं?