क्या नेताओं के कारण भड़का मुजफ्फरनगर में दंगा?

क्या नेताओं के कारण भड़का मुजफ्फरनगर में दंगा?

By: | Updated: 18 Sep 2013 08:12 AM


मुजफ्फरनगर/ लखनऊ/ नई
दिल्ली:
दंगा भड़काने के
आरोपी तीन बीजेपी विधायकों
की गिरफ्तारी हो सकती है.
बीजेपी विधायक संगीत सोम,
भारतेंदु और सुरेश राणा को
गिरफ्तार करने पुलिस
विधानसभा पहुंची थी लेकिन
तीनों विधायक उमा भारती के
साथ वहां से बीजेपी दफ्तर चले
गए. कोर्ट ने बीजेपी विधायक
समेत सोलह नेताओं के खिलाफ
वारंट जारी किया है.

मुजफ्फरनगर
कोर्ट ने भड़काऊ भाषण देने के
आरोपी बीजेपी विधायक संगीत
सोम और भारतेंदू सिंह के
खिलाफ वारंट जारी किया है.
कोर्ट ने इनके अलावा बीएसपी
सांसद कादिर राना, बीएसपी
विधायक नूर सलीम सहित सोलह
लोगों के खिलाफ वारंट जारी
किया है. दंगा भड़काने का
आरोप यूपी के शहरी विकास
मंत्री आजम खान पर भी लगा है.
बड़ा सवाल ये है कि क्या
नेताओँ ने दंगा भड़काया ?

क्या
आजम खान ने पुलिसवालों को
ड्यूटी से रोका ? क्या आजम के
दबाव पर छोड़े गए हत्या के
आरोपी ? और सबसे बड़ा सवाल ये
कि क्या आजम खान की वजह से ही
मुजफ्ऱफनगर में दंगा भड़का ?


मुजफ्फऱनगर के जानसठ
थाने में 27 अगस्त को दोपहर
पौने तीन बजे पुलिस ने FIR दर्ज
की थी. एफआईआर उस सचिन और गौरव
के घऱवालों ने दर्ज कराई थी
जिनकी उसी दिन करीब एक बजे
हत्या हुई थी. इस एफआईआर में
आठ लोगों के नाम लिखे हुए हैं.






स्टिंग ऑपरेशन में क्या है ?

स्टिंग
ऑपरेशन में जानसठ तहसील के
सीओ जेआर जोशी बता रहे हैं कि
27 अगस्त को ढाई बजे डबल मर्डर
हुआ और शाम को 4.30 बजे उन्होंने
8 लोगों को हत्या और
सांप्रदायिक माहौल खराब
करने के आरोप में गिरफ्तार
किया. इसी बीच शाम को कलेक्टर
और एसएसपी का तबादला हुआ और
फिर रात को ऊपरी दबाव के बाद
इन लोगों को रिहा करने का
आदेश मिला.

अब इसी के बाद
ये सवाल उठ रहे हैं कि क्या ये
दबाव आजम खान की ओर से बनाया
गया. लेकिन आजम खान इस तरह के
किसी आरोप को खारिज कर रहे
हैं. आजम भले ही इनकार कर रहे
हैं लेकिन इस स्टिंग ऑपरेशन
में एक बार आजम खान का नाम भी
साफ साफ लिया गया है .

आजम
का नाम कैसे आया ?


पत्रकार
की बातचीत फुगाना थाने के
सेकेंड अफसर आर एस भगौर से हो
रही है. इस इलाके में सात
सितंबर को हुई हिसा में सोलह
लोगों की जान गई थी. घटना तो
लेकर स्टिंग ऑपरेशन में जब
पत्रकार ने पूछा कि दबाव का
मेन रोल आजम खान का रहा तो
भागौर स्टिंग ऑपरेशन में
बिल्कुल ठीक- बिल्कुल ठीक बोल
रहे हैं. 

बस इसी के बाद
विरोधियों के हमले की बंदूक
हर तरफ से आजम खान की ओर घूम
गई. इसलिए ये सवाल उठ रहे हैं
कि क्या जो हुआ उसके लिए आजम
खान जिम्मेदार हैं.

भडकाऊ
भाषण के आरोप कई पर


वैसे
आरोप सिर्फ आजम खान तक ही
सीमित नहीं है. बीजेपी के उन
नेताओं के साथ 16 लोगों के
खिलाफ मुजफ्फऱनगर की अदालत
ने वारंट जारी कर दिया जिन पर
हिंसा भड़काने की नीयत से
भडकाऊ भाषण देने का आरोप है.
बीजेपी विधायक संगीत सोम भी
उनमें से ही एक हैं.

अदालत
ने संगीत सोम के साथ ही
बीजेपी विधायक भारतेंदु
सिंह बीएसपी सांसद कादिर
राना, बीएसपी विधायक नूर
सलीम, बीएसपी विधायक मौलाना
जमील, कांग्रेस नेता
सैदुज्जमा और भारतीय किसान
यूनियन के प्रमुख नरेश टिकैत
समेत सोलह लोगों के खिलाफ
वारंट जारी किया है. सवाल ये
है कि क्या नेताओं ने
मुजफ्फरनगर में दंगा करवाया?




फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story बिहार में बेकाबू बोलेरो ने स्कूली बच्चों को रौंदा, 9 की मौत, 20 से अधिक जख्मी