क्या बीजेपी इस आशंका को देखते हुए एनडीए का कुनबा बढ़ाने की कोशिश कर रही हैं ?

क्या बीजेपी इस आशंका को देखते हुए एनडीए का कुनबा बढ़ाने की कोशिश कर रही हैं ?

By: | Updated: 09 May 2014 02:48 PM
नई दिल्ली. 16 मई को नतीजे आने वाले है. उससे पहले मोदी को लगा है करंट. मायावती के बाद ममता ने भी कह दिया है कि मोदी की अगुवाई वाली सरकार के लिए उनके दरवाजे बंद हैं. कल मोदी ने एनडीए का दायरा बढ़ाने की बात की कही थी. आज मायावती ने भी कह दिया कि किसी भी कीमत पर वो मोदी को समर्थन नहीं देगी. हालांकि अमित शाह ने आज कहा कि बीजेपी राजनीतिक छुआछूत को नहीं मानती हैं

 

बीजेपी के नेता भले ही चुनावी सभाओं में तीन सौ से ज्यादा सीटें जीतने का दावा कर रहे हैं . लेकिन सवाल ये है कि अगर बहुमत नहीं मिलता तो क्या होगा ?

 

अंग्रेजी चैनल टाइम्स नाउ को दिए जवाब के बाद उठ रहे सवालों को लेकर मायावती ने अपना रुख साफ किया है . मायावती ने अपना रुख साफ कर दिया है . ममता पहले एनडीए में रह चुकी हैं लेकिन इन दिनों जिस तरीके से ठनी हुई है उससे साथ आना आसान नहीं दिख रहा . जयललिता से मोदी के रिश्ते तो अच्छे हैं लेकिन साथ आ ही जाएंगी इसको लेकर साफ साफ नहीं कहा जा सकता . बीजेडी, वाईएसआर कांग्रेस बड़े खिलाड़ी साबित हो सकते हैं .

 

कांग्रेस कह रही है कि मोदी बहुमत नहीं मिलता देख जाति की राजनीति करने पर उतर आये है . मोदी के ताजा संकेत के बाद कई तरह के सवाल उठने लगे हैं . अरविंद केजरीवाल तो खुद मोदी के वाराणसी से हारने की भविष्यवाणी तक कर रहे हैं .

 

हर कोई अपने अपने दावे को दुरुस्त करने में जुटा है . नरेंद्र मोदी भी जब बिहार के मोतिहारी पहुंचे तो लोगों की भीड़ देखकर ये दावा करने से नहीं चुके की मीडिया को हकीकत का अंदाजा नहीं लग रहा .

 

बीजेपी इस बार सहयोगियों के साथ मिलकर करीब 400 सीटों पर चुनाव लड़ रही है . लेकिन दावा 300 सीटें जीतने का हैं . केरल, तमिलनाडु, ओडिशा, प. बंगाल जैसे कई ऐसे राज्य हैं जहां बीजेपी और सहयोगियों के लिए जीत का सफर आसान नहीं दिख रहा . तो क्या बीजेपी इस आशंका को देखते हुए एनडीए का कुनबा बढ़ाने की कोशिश कर रही हैं ?

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story अफसर बनाम सरकार: केजरीवाल बोले- अमित शाह से सवाल पूछें एजेंसियां, BJP का पलटवार- भाषा की मार्यादा ना भूलें