क्या यूं ही बेकार चला जाएगा देश का गुस्सा?

क्या यूं ही बेकार चला जाएगा देश का गुस्सा?

By: | Updated: 30 Dec 2012 05:29 AM


नई
दिल्ली:
दिल्ली में चलती बस
में लड़की से छेड़छाड़ की
घटना ने एक बार फिर ये सवाल
देश के सामने खड़ा कर दिया है
कि क्या देश का गुस्सा बेकार
जाएगा?

महिलाओं की
सुरक्षा और आजादी को लेकर दो
हफ्ते से देश में प्रदर्शन हो
रहे हैं, लोग सड़कों पर उतर
रहे हैं लेकिन न तो समाज सबक
ले रहा है और ना ही पुलिस और
प्रशासन.

दिल्ली में
क्लस्टर बसों को रात में चलने
की इजाजत नहीं है फिर भी
खयाला से जल विहार जा रही बस
कल रात सड़क पर चल रही थी. किसी
ने बस को रोकने की कोशिश नहीं
की.

वो तो संयोग कहिए कि
आंदोलन की वजह से रास्ते बदले
गए थे जिसके चलते बस का
ड्राइवर रास्ता भटका और फिर
पुलिस चेकिंग के दौरान बस में
अकेली लड़की के होने की खबर
लगी और ये मामला सामने आया.

सवाल
ये है कि देश में इतना कुछ हो
रहा है फिर भी लोग बदलने को
तैयार क्यों नहीं हैं, क्या
ये गुस्सा महज गुस्सा भर बनकर
रह जाएगा?




फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story संजय निरूपम ने तोगड़िया के आरोपों की जांच की मांग की