गंगा के पानी में भारी तादाद में मिले खतरनाक 'सुपरबग'

By: | Last Updated: Wednesday, 19 February 2014 2:14 PM
गंगा के पानी में भारी तादाद में मिले खतरनाक ‘सुपरबग’

नई दिल्ली: देश के अस्पताल और शहर ही सुपरबग के निशाने पर नहीं हैं, बल्कि हमारे तीर्थस्थल भी इस बैक्टीरिया का बड़ा अड्डा बनते जा रहे हैं. एक रिपोर्ट के मुताबिक गंगा के पानी में सुपरबग की मौजूदगी पाई गई है. इससे गंगा के किनारे बसे तमाम शहर सीधे-सीधे सुपरबग के खतरे में हैं.

 

देश की सबसे बड़ी नदी गंगा के पानी में सुपरबग की खोज आईआईटी दिल्ली और ब्रिटेन की न्यू कासल यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने एक अध्ययन के तहत की है. इस अध्ययन रिपोर्ट के मुताबिक पतित पावनी गंगा का पानी अब सेहत के लिए सुरक्षित नहीं रहा, क्योंकि देश के कई इलाकों से लिए गए गंगा के पानी में भारी तादाद में सुपरबग पाए गए हैं.

 

रिपोर्ट में ये भी बताया गया है कि खास धार्मिक अवसरों पर हरिद्वार, ऋषिकेश और कई धार्मिक स्थलों पर जब गंगा में स्नान के लिए तीर्थयात्रियों का तांता लग जाता है, ऐसे में गंगा के पानी में सुपरबग्स की तादाद सामान्य दिनों के मुकाबले 60 गुना ज्यादा बढ़ जाती है. हरिद्वार और ऋषिकेश में गंगा के पानी में ऊपरी इलाकों के मुकाबले ज्यादा गंदगी पाई गई.

 

सुपरबग ऐसे बैक्टीरिया हैं जिनपर कोई भी एंटीबायोटिक असर नहीं करती. अगस्त 2010 में जब स्वास्थ्य पत्रिका लैंसेट ने दिल्ली के पानी और पर्यावरण में नया सुपरबग होने का दावा किया था, तो इसे भारत के मेडिकल कारोबार को तबाह करने की साजिश करार दिया गया था.

 

आईआईटी दिल्ली और ब्रिटेन की न्यू कासल यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों की इस अध्ययन रिपोर्ट में कहा गया है कि ये समस्या केवल भारत ही नहीं बल्कि दुनिया भर में है. इंसानों के एक जगह से दूसरे जगह पर जाने के कारण सुपरबग का प्रसार हो रहा है. सीवेज को ठीक से ट्रीट किए बिना नदियों में छोड़ा जाना भी इसकी बड़ी वजह है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: गंगा के पानी में भारी तादाद में मिले खतरनाक ‘सुपरबग’
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017