गंभीर खतरे में हैं दिल्ली-एनसीआर के नौजवान!

गंभीर खतरे में हैं दिल्ली-एनसीआर के नौजवान!

By: | Updated: 22 Mar 2014 02:44 PM
नई दिल्ली: दिल्ली और एनसीआर के नौजवान अनसेफ सेक्स, टैटू के क्रेज और मौज-मस्ती वाली अपनी लापरवाह लाइफ स्टाइल के चलते जानलेवा बीमारियों के साये में हैं. एक खामोश कातिल इन नौजवानों के इर्द-गिर्द अपना जाल बिछा रहा है और पार्टी-मस्ती के दीवाने दिल्ली के बेखबर नौजवान इसके जाल में फंसते चले जा रहे हैं.

 

दिल्ली के लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज ने दिल्ली-एनसीआर के 15 साल से लेकर 40 साल तक की उम्र वाले नौजवानों पर एक खास अध्ययन किया है. इस अध्ययन के मुताबिक राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के नौजवानों के लिए छूत की बीमारी हेपेटाइटिस-सी की चपेट में आने का जोखिम बढ़ता जा रहा है. हेपेटाइटिस-सी लिवर से संबंधित एक गंभीर बीमारी है, जो कैंसर तक को जन्म दे सकती है. इसके अलावा अनसेफ सेक्स और टैटू के क्रेज के चलते नौजवान कभी भी एड्स जैसे जानलेवा संक्रमण के शिकार बन सकते हैं. 

 

इस अध्ययन में शामिल डॉ. मेनिका रजनी ने डेली मेल को बताया, " अनसेफ इन्जेक्शन, नसों के जरिए लिए जाने वाले ड्रग्स और अनसेफ सेक्स ये सब मिलकर हालात को बदतर बना रहे हैं." उन्होंने कहा कि भारत में होने वाले सभी रक्तदान से लिए गए खून की जांच अब तक जरूरी नहीं की गई है. जबकि ये जांचना जरूरी है कि खून के इन सैंपल में कहीं हेपेटाइटिस-सी के वायरस तो नहीं हैं.

 

दिल्ली के नौजवानों पर ये अध्ययन हॉस्पिटल के माइक्रोबायोलॉजी विभाग की पहल पर किया गया. विभाग के इस अध्ययन की रिपोर्ट हाल ही में कई मेडिकल जरनल्स में छपी है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story नसीमुद्दीन सिद्दीकी की 'घरवापसी' के बाद कांग्रेस में उठने लगे विरोध के स्वर