गया में नरेंद्र मोदी को देखने के लिए उमड़ी भीड़ का हंगामा, काबू करने के लिए बिहार पुलिस ने बरसाई लाठियां

By: | Last Updated: Thursday, 27 March 2014 11:27 AM
गया में नरेंद्र मोदी को देखने के लिए उमड़ी भीड़ का हंगामा, काबू करने के लिए बिहार पुलिस ने बरसाई लाठियां

गया. पटना से 100 किलोमीटर दूर बिहार के गया में नरेंद्र मोदी की रैली में हंगामा हुआ है. रैली में लोगों की इतनी भीड़ हो गई कि पुलिस काबू नहीं कर पाई. गया की रैली में नरेंद्र मोदी को देखने के लिए लोग बेकाबू हो गये. नतीजा हुआ कि बिहार की पुलिस ने मोदी को देखने और सुनने आए लोगों पर लाठीचार्ज कर दिया. इसके बाद पुलिस पर भी मोदी समर्थकों ने पत्थर बरसाए.

 

बिहार के गया में नरेंद्र मोदी रैली ने लोगों संबोधित किए. उन्होंने नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए कहा कि कुछ लोगों को वोट बैंक की चिंता है. कुछ लोगों को सिर्फ कुर्सी की चिंता है.

 

 

सैलानी अब बम ब्लॉस्ट होने के बाद नहीं बिहार नहीं आ रहे हैं. सैलानी कम होने से लोगों की रोजी रोटी छिन गई है. आतंक तोड़ता है पर्यटन जोड़ता है. गया दुनिया को जोड़ने की धरती है.

 

लालू पर निशाना साधते हुए मोदी ने कहा कि जेल से आने वाले नेता जवाब दें कि लातेहार डैम का क्या हुआ.

 

कांग्रेस का घोषणापत्र झूठ और नहीं निभाये गए वादों का पुलिंदा

 

गुमला (झारखंड) कांग्रेस के घोषणापत्र पर तीखा प्रहार करते हुए भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेन्द्र मोदी ने इसे ‘झूठ का पुलिंदा’ करार दिया और कहा कि पार्टी ने इसमें 2004 और 2009 में किये गए पुराने वादों को दोहराया है लेकिन इनमें से किसी को पूरा नहीं किया. नरेन्द्र मोदी ने यहां एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘ कांग्रेस ने कल घोषणापत्र पेश किया था जो झूठ का पुलिंदा है. उन्होंने 2004 और 2009 में यहीं वादे किये थे.’’ मोदी ने कहा, ‘‘ कल कांग्रेस पार्टी ने अपना घोषणापत्र जारी किया है. राजनीतिक दलों के लिए घोषणापत्र गीता, कुरान और बाइबल के समान होना चाहिए और किसी ऐसे दस्तावेज की तरह नहीं होना चाहिए जो लोगों की आंखों में धूल झोंके . कांग्रेस पार्टी ने घोषणापत्र को राजनीतिक हथियार बना दिया है और इसकी पवित्रता को बरकरार नहीं रखा है.’’ उन्होंने लोगों से पूछा कि क्या वे कांग्रेस की बातों या उनके घोषणापत्र की बातों पर भरोसा करते हैं ? मोदी ने कहा, ‘‘ आप उनसे (कांग्रेस) पूछे कि पिछले पांच सालों में घोषणापत्र में किये गए कितने वादे पूरे किये गए. उन्होंने कहा था कि वे कीमतों को घटा देंगे और हर परिवार के एक व्यक्ति को रोजगार देंगे. क्या उन्होंने रोजगार दिया ? ’’ उन्होंने कहा कि अगर आप इनसे सवाल पूछेंगे तब आप राजनीतिक दलों की ओर से गलत घोषणापत्र जारी करने के चलन को रोक सकेंगे.

 

भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार ने कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव तूफान बन चुका है जो लुटेरों और विध्वंसकों को देश से बहा ले जायेगा.

 

उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस नेता कोयला और लौह अयस्क के खनन से जुड़े भ्रष्टाचार में लिप्त हैं जिससे लोगों की समृद्धि प्रभावित हो रही है.

 

मोदी ने आरोप लगाया कि भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू ने पृथक झारखंड राज्य के गठन की मांग का उपहास किया था.

 

मोदी ने उर्जा परियोजनाओं को मंजूरी देने में हुए कथित भ्रष्टाचार पर संप्रग सरकार को आड़े हाथों लिया और पूर्व पर्यावरण मंत्री जयंती नटराजन पर हमला किया और ‘जयंती टैक्स’ विशेषण का उपयोग करते हुए चुटकी ली. भ्रष्टाचार के लिए संप्रग सरकार पर निशाना साधते हुए भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार ने कहा कि जब भी दिल्ली में खानों की बात होती है, पर्यावरण मंत्रालय रोड़ा अटका देती है. आपने आयकर, बिक्री कर के बारे में सुना होगा. वहां दिल्ली में जयंती कर भी है. ‘‘ अगर किसी को पर्यावरण मंजूरी चाहिए तो उन्हें पैसा देना पड़ता है. बिना भुगतान के फाइलों को मंजूरी नहीं दी जाती.

 

मोदी ने इस अवसर पर चुनाव आयोग से आग्रह किया कि ऐसा नियम बनाया जाना चाहिए कि जिसके तहत सत्ता में आने वाली पार्टी को यह बताने को कहा जाए कि सत्ता में रहते हुए उन्होंने अपने घोषणापत्र के कितने वायदे पूरे किये.

 

उन्होंने कांग्रेस पर आदिवासियों के हितों को नजरंदाज करने का आरोप लगाया.

 

उन्होंने कहा, ‘‘ कांग्रेस के लोगों को इस बात का पता ही नहीं है कि हमारे देश में आदिवासी भाई और बहन भी रहते हैं. पिछले छह दशकों में कई कांग्रेसी सरकारें आई. नेहरू प्रधानमंत्री बने. लेकिन उन्होंने आदिवासियों के कल्याण के लिए मंत्रालय के गठन के बारे में नहीं सोचा.’’ मोदी ने कहा कि राजग के प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने आदिवसियों के लिए समर्पित मंत्रालय बनाया और अलग से बजट दिया.

 

भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार ने कहा, ‘‘कांग्रेस की कई सरकारें आई लेकिन उन्होंने आपके हाथों में अधिकार नहीं दिये. वाजपेयीजी ने हमें झारखंड दिया, उन्होंने हमें इस बात का निर्णय करने का अधिकार दिया कि हम अपनी प्रगति कैसे करें. नेहरूजी ने झारखंड के गठन की मांग का उपहास किया था.’’ उन्होंने कहा, ‘‘अब झारखंड बन गया है, कांग्रेस सत्ता हासिल करने के लिए हर तरह का हथकंडा अपना रही है. वह कभी एक का समर्थन करते हैं और दूसरी बार किसी और का.’’ मोदी ने राजद प्रमुख लालू प्रसाद पर चुटकी लेते हुए कहा, ‘‘ बिहार में एक नेता हैं जो कहते थे कि झारखंड मेरी लाश पर बनेगा. अब वे कहां हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘ इसका संदेश यह है कि दिल्ली में अगर मजबूत और निर्णायक सरकार है तो निर्णय लिये जाते हैं. झारखंड इसका जीता जागता प्रमाण है.’’ मोदी ने कहा कि राज्य में इतनी खानें होने के बावजूद यहां के लोग गरीब हैं. ‘‘ ऐसा इसलिए है क्योंकि कुछ सरकारों और नेताओं के लिए खान भ्रष्टाचार का बडा अवसर प्रदान करती है.

 

राहुल का नाम लिये बिना मोदी ने भ्रष्टाचार के खिलाफ संघर्ष की उनकी पहल पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘ केवल वायदा करने के अलावा कुछ नहीं हुआ. अगर इरादे साफ हों तो भ्रष्टाचार रोका जा सकता है. नेता में ताकत होनी चाहिए.’’

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: गया में नरेंद्र मोदी को देखने के लिए उमड़ी भीड़ का हंगामा, काबू करने के लिए बिहार पुलिस ने बरसाई लाठियां
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017