गांधी परिवार के रहस्य 16 मई को सामने आएंगे : मोदी

गांधी परिवार के रहस्य 16 मई को सामने आएंगे : मोदी

By: | Updated: 11 Apr 2014 02:03 PM
धमतरी (छत्तीसगढ़). भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता और गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को यहां कहा कि गांधी परिवार के रहस्य 16 मई को आम चुनाव के परिणाम घोषित होने के साथ बाहर आ जाएंगे. मोदी ने धमतरी में एक रैली को संबोधित करते हुए छत्तीसगढ़ के कांग्रेस नेता अजित जोगी की खिल्ली उड़ाई और कहा, "अजित जोगी गांधी परिवार के कुछ गोपनीय बातें जानते हैं.."

 

मोदी ने कहा, "चूंकि वह परिवार ही रहस्यमय है, इसलिए वहां रहस्य हैं. 16 मई को परिणाम घोषित होने के साथ ही सारे रहस्य बाहर आ जाएंगे."

 

यहां आयोजित चुनावी सभा में सोनिया गांधी, राहुल गांधी और केंद्र की संप्रग सरकार को आड़े हाथों लेते हुए मोदी ने कड़े प्रहार किए. नरेंद्र मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार के नुमाइंदे अपने काम का हिसाब तो देते नहीं और मेरे काम का हिसाब मांगते हैं.

 

धमतरी महासमुंद लोकसभा के अंतर्गत आता है. इस सीट पर कांग्रेस की ओर से पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी उम्मीदवार हैं. वहीं भारतीय जनता पार्टी ने मौजूदा सांसद चंदूलाल साहू को चुनाव मैदान में उतारा है.

 

उन्होंने कहा कि ये लोग गरीबी का उपहास उड़ाते हैं, जनता को अपनी जेब में रखा समझते हैं. इनके लिए गरीबी पर्यटन की तरह है. गरीब के यहां बैठकर ये फोटो खिंचवाते हैं और उसका खाना भी खा जाते हैं.

 

मोदी ने कहा कि कांग्रेस का अहंकार सातवें आसमान पर है. यदि इन्हें रात को भूखे पेट सोना पड़े तो पता चल जाएगा कि गरीबी क्या होती है. हम तो गरीबी में पले हैं इसलिए हमें पता है गरीब का दर्द क्या होता है. गरीब का दुख वही समझता है जो गरीबी जी चुका है.

 

राहुल को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, "शहजादे जी आप तो सोने की चमक लेकर पैदा हुए हो." मोदी के अनुसार कांग्रेस से कभी यह अपेक्षा नहीं करना चाहिए कि वह गरीबों का भला करेगी. हर राजनीतिक दल का यह दायित्व है कि वह अपने काम का हिसाब लोगों को दे, लेकिन कांग्रेस ने ऐसा नहीं किया. छत्तीसगढ़ की रमन सरकार ने विधानसभा चुनाव के दौरान ऐसा किया है. सोनिया और राहुल को पाई-पाई का हिसाब देना चाहिए.

 

मोदी का कहना था कि इन लोगों के चरित्र में लोकतंत्र नहीं है, इनका लोकतांत्रिक व्यवस्था में विश्वास नहीं है. ये लोग वंशवाद में जीते हैं, परिवारवाद को चलाते हैं.

 

उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में आकर हमेशा उन्हें अपनापन लगता है क्योंकि यहां संघ के कार्यकर्ता के रूप में उन्होंने काफी काम किया है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story नसीमुद्दीन सिद्दीकी की 'घरवापसी' के बाद कांग्रेस में उठने लगे विरोध के स्वर