गुजरात: ओड गांव के दंगा मामले में 23 दोषी, 23 बरी

गुजरात: ओड गांव के दंगा मामले में 23 दोषी, 23 बरी

By: | Updated: 08 Apr 2012 10:18 PM


अहमदाबाद:
गुजरात की एक विशेष अदालत ने
साल 2002 के दंगों के दौरान ओड
गांव में हुई हिंसा और
कत्लेआम मामले में जिंदा 46
आरोपियों में से 23 को दोषी
ठहराया है, जबकि 23 को बरी कर
दिया है.




सोमवार को विशेष अदालय ने यह
फैसला सुनाया. अदालत ने 22 में
से 18 दोषियों को हत्या का दोषी
पाया, जबकि चार को हत्या की
कोशिश का दोषी पाया है.




धारा 302 के तहत दोषी पाए गए
लोगों के नाम:
विनुभाई
भिखाभाई पटेल, विजयभाई
राजीबभाई पटेल, दिलीपभाई
वल्लभभाई पटेल, हरीशभाई
वल्लभभाई पटेल, जयेंद्रभाई
सनाभाई पटेल, सुरेशभाई
भाईलाभाई पटेल, दिलीपभाई
विनुभाई पटेल, परेशभाई
रंछोड़भाई पटेल, अरविंदभाई
उर्फ मेदी रंछोड़भाई पटेल,
हेमंतभाई सनाभाई उर्फ गोकुल
पटेल, कनक कुमार रंछोड़भाई
पटेल, मनुभाई जेठाभाई पटेल,
दिलीपभाई रंछोड़भाई पटेल,
पूनमभाई लालजीभाई पटेल,
धर्मेशभाई नाथूभाई पटेल,
विनुभाई सनाभाई पटेल,
नाथूभाई मंगलभाई पटेल,
परवीणभाई मंगलभाई पटेल.




धारा 307 के तहत दोषी पाए गए
लोगों के नाम:
देवेंद्रभाई
हरीशदभाई पटेल, गिरीशभाई
सोमाभाई पटेल, प्रकाशभाई
जशभाई पटेल, दिलीपभाई सनाभाई
पटेल.





आणंद से 10 किलोमीटर दूर ओड में
एक मार्च 2002 को दंगाइयों ने 23
लोगों की जिंदा जलाकर मार
डाला था. 27 फरवरी 2002 को गोधरा
दंगे के बाद भड़के दंगों की
चपेट में आया था ओड.




इस केस में कुल 47 लोगों को
आरोपी बनाया गया था. एक आरोपी
की मौत हो चुकी है. सुप्रीम
कोर्ट के आदेश पर आर के राघवन
की अध्यक्षता वाली एसआईटी ने
ओड केस की भी जांच की थी.





एक मार्च 2002 को जान बचाने के
लिए इस गांव के पीरावली भोगल
इलाके में अल्पसंख्यक
समुदाय के 30-32 लोग एक घर में
इकट्ठा हुए थे. तभी दंगाइयों
ने उस घर में पेट्रोल और
केरोसिन डालकर आग लगा दी थी,
जिसमें 23 लोगों की मौत हो गई
थी.




इंसाफ की लड़ाई




दस साल बाद इस मामले में
अदालत का फैसला आया है, लेकिन
इस पड़ाव तक आने से पहले
पीड़ितों को काफी मशक्कत
करनी पड़ी.




पहले स्थानीय पुलिस ने इस
मामले की जांच की, फिर
सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर
आरके राघवन की अगुवाई वाली
एसआईटी से इसकी जांच करवाई
गई.




सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर जिन
नौ मामलों की जांच एसआईटी ने
की थी, उनमें यह तीसरा मामला
है. इस मामले में 37 आरोपियों
के खिलाफ सुनवाई पूरी हो चुकी
है.




http://www.youtube.com/watch?v=F1DT7cRYNdw




फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story योगी सरकार का बड़ा फैसलाः कानपुर, मेरठ और आगरा में चलेगी मेट्रो