गुजरात की पतंग को चाहिए बरेली का मांझा : मोदी

By: | Last Updated: Tuesday, 1 April 2014 1:04 PM

लखनऊ /बरेली. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि गुजरात के पतंग उद्योग को बरेली के मांझा की जरूरत है. उन्होंने देश में बढ़ रही बेरोजगारी और बर्बाद हो रहे उद्योग धंधों के लिए राज्य और केंद्र सरकारों को जमकर कोसा. बरेली के महानगर मैदान में एक जनसभा को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि गुजरात में पतंग का उद्योग 35 करोड़ रुपये से बढ़कर अब 500 करोड़ का हो गया है, लेकिन बरेली के मांझा उद्योग में कमी आ गई है.

 

उन्होंने कहा कि चीन के माझा उद्योग ने बाजार पर कब्जा कर लिया है जिससे बरेली के लोग बेरोजगार हो गए हैं.

 

मोदी ने बरेली के उद्योग की बर्बादी के लिए उप्र की सपा सरकार और केंद्र की संप्रग सरकार को जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य सरकार सो रही है और केंद्र सरकार की नींद ही नहीं खुलती.

 

केंद्र सरकार पर तंज कसते हुए मोदी ने कहा कि कांग्रेस के लिए 365 दिन ही अप्रैल फूल है. उन्होंने कहा कि जब चुनाव आता है तब कांग्रेस को गरीब लोग दिखाई देने लगते हैं और वह गरीबों के नाम की माला जपने लगती है.

 

उन्होंने कहा कि जब अनाज सड़ रहा था तो ये कांग्रेस की सरकार सर्वोच्च न्यायालय के कहने के बावजूद गेहूं को गरीबों को नहीं दिया और बाद में औने-पौने दामों में उसे शराब बनाने वालों को दे दिया. गरीबों के साथ इससे बड़ा मजाक और क्या हो सकता है.

 

मोदी ने जम्मू एवं कश्मीर में दो जवानों के सिर काटे जाने की घटना का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार जवानों की अवहेलना करती रही है.

 

मोदी ने कहा कि पिछले कुछ दिनों से कांग्रेस, सपा व बसपा ने मिलकर योजना बनाई है कि मोदी को रोकने के लिए देश में अस्थिर सरकार बनाई जाए.

 

मोदी ने कहा कि जो लोग देश में कमजोर व अस्थिर सरकार बनाने की सोच रहे हैं, वे देश के सच्चे हितैषी नहीं हैं. उन्होंने मतदाताओं से अपील की कि वे भाजपा व उसके सहयोगी दलों के 300 सांसद चुनकर भेंजे ताकि देश को एक मजबूत और स्थिर सरकार मिल सके, तभी देश की प्रगति संभव है.

 

नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन के दौरान उप्र की अखिलेश सरकार को भी अपने निशाने पर रखा. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार पर उन्होंने उप्र को गुजरात का शेर दिया लेकिन यहां के मुख्यमंत्री कहते हैं कि उन शेरों को पिजड़े में बंद करके रखा है.

 

उन्होंने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को गुजरात आने का न्योता देते हुए कहा कि उनके यहां शेर खुले में घूमते हैं, उन्हें वहां बांधकर नहीं रखा जाता.

 

मोदी रैली में थोड़ देर से पहुंचे. इसके लिए उन्होंने लोगों से कई बार मांफी भी मांगी. उन्होंने आरोप लगाया कि उनके हेलीकॉप्टर को दिल्ली से उड़ान भरने की अनुमति देर से दी गई. मोदी ने कहा कि उन्हें हवाईअड्डे पर लगभग डेढ़ घंटे तक इंतजार करना पड़ा. उसके बाद उनके हेलीकाप्टर को उड़ने की अनुमति मिली.

 

रैली में पार्टी की उत्तर प्रदेश इकाई के अध्यक्ष लक्ष्मीकांत वाजपेयी, महामंत्री स्वतंत्र देव सिंह और बरेली से भाजपा प्रत्याशी संतोष गंगवार भी उपस्थित रहे.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: गुजरात की पतंग को चाहिए बरेली का मांझा : मोदी
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ele2014
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017