गुरबाणी की तुक से छेडछाड के मामले में बिक्रम सिंह मजीठिया को कोर्ट ने नोटिस जारी किया

By: | Last Updated: Monday, 28 April 2014 4:43 AM
गुरबाणी की तुक से छेडछाड के मामले में बिक्रम सिंह मजीठिया को कोर्ट ने नोटिस जारी किया

नई दिल्ली: पंजाब के राजस्व मंत्री बिक्रमजीत सिंह मजीठिया की मुश्किलें लगातार बढ़ गई है. गुरबाण की तुक से छेडछाड के मामले में बिक्रम सिंह मजीठिया को चंडीगढ़ ज़िला अदालत ने नोटिस जारी किया है.

 

कोर्ट ने मजीठिया को 28 जुलाई तक जवाब देने के लिए कहा है. याचिकाकर्ता मनदीप कौर ने कोर्ट में मजीठिया के खिलाफ धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप लगाया है.

 

गुरबाण के शब्दों के साथ छेड़छाड़ करने के बाद नांदेड़ साहिब ने उन्हें ‘तनखइया’ घोषित कर दिया है.

कौम के नाम जारी हुक्मनामे में कहा गया है कि उससे कोई भी बात न करे, जबकि अकाल तख्त साहिब द्वारा इसका फैसला पांच सिंह साहिबान की होने वाली मीटिंग पर छोड़ा हुआ है.
 

बयान पर विवाद बढ़ने के बाद विक्रम मजीठिया ने अपनी गलती मानते हुए अकाल तख्त के जत्थेदार ज्ञानी गुरबचन सिंह से लिखित माफी मांगी है.

 

विक्रमजीत सिंह मजीठिया ने 24 अप्रैल को एक सभा के दौरान गुरबाणी के शब्दों में बदलाव करते हुए उसमें अरुण जेटली का नाम जोड़ दिया था.  गुरबाणी सिखों का पवित्र श्लोक है. मजीठिया राज्य के उपमुख्यमंत्री सुखबीर बादल के साले हैं.