गृह मंत्रालय ने पीएमओ को सौंपे 26/11 के पुख्‍ता सबूत!

गृह मंत्रालय ने पीएमओ को सौंपे 26/11 के पुख्‍ता सबूत!

By: | Updated: 07 Apr 2012 09:04 PM


नई
दिल्‍ली:
पाकिस्तान के
राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी
ने हाफिज सईद के मुद्दे पर
रणनीति बनाने के लिए भारत
यात्रा से पहले अपने सेना
प्रमुख और मंत्रियों से
मिलकर सलाह-मशविरा किया, तो
भारत भी अपनी तैयारियों में
पीछे नहीं है.

समाचार
एजेंसी पीटीआई के मुताबिक
गृह मंत्रालय ने
प्रधानमंत्री कार्यालय को
एक डोजियर सौंपा है, जिसमें
सिर्फ हाफिज सईद ही नहीं,
मुंबई हमले के बाकी
गुनहगारों के बारे में भी ठोस
सबूत दिए गए हैं. इन सबूतों का
इस्तेमाल जरदारी के सामने
मुंबई हमले का मुद्दा उठाने
में किया जा सकता है.

गृह
मंत्रालय ने शनिवार को
प्रधानमंत्री कार्यालय को
एक डोजियर सौंपा है, जिसमें 26/11
के मुंबई हमलों से जुड़े सबूत
दिए गए हैं. इनमें हमलों के
तार लश्कर-ए-तैयबा के सरगना
हाफिज सईद समेत कई
पाकिस्तानी आतंकवादियों से
जुड़े होने के सबूत शामिल
हैं.

समाचार एजेंसी
पीटीआई के मुताबिक सरकारी
सूत्रों का कहना है कि यह
डोजियर पीएमओ को इसलिए सौंपा
गया है, ताकि पाकिस्तानी
प्रतिनिधिमंडल के सामने ये
मुद्दा उठाने में मदद मिल
सके.

पीटीआई के मुताबिक
मुंबई हमले के दौरान
हमलावरों की अपने
पाकिस्तानी सरगनाओं के साथ
मोबाइल पर हो रही बातचीत का
ब्योरा और उनके सिम कार्डों
का विवरण भी गृह मंत्रालय के
डोजियर में शामिल है.

इसके
अलावा हमले में शामिल 10
पाकिस्तानी आतंकवादियों की
डीएनए रिपोर्ट और उनके
फिंगरप्रिंट्स भी इस डोजियर
में दिए गए हैं.

गृह
मंत्रालय की तरफ से पीएमओ को
सौंपे गए दस्तावेजों में
मुंबई की अदालत के सामने दर्ज
अजमल आमिर कसाब के बयान और
मुंबई हमलों की जांच से जुड़ी
केस डायरी भी शामिल है.

इनके
अलावा हमले के दौरान
इस्तेमाल गोला-बारूद, जीपीएस
और अन्य उपकरणों की फोरेंसिक
जांच रिपोर्ट भी डोजियर में
रखी गई है.




फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story दिल्ली की 20 सीटों का सर्वे: जानें, अगर अभी उपचुनाव हुए तो किस पार्टी को मिल सकती हैं कितनी सीटें