गैंगरेप केस: सात जनवरी को होगी आरोपियों की पेशी

By: | Last Updated: Saturday, 5 January 2013 7:22 AM

नई
दिल्ली:
दिल्ली दुष्कर्म
में पुलिस के आरोप पत्र पर
संज्ञान लेने के बाद यहां की
एक अदालत ने मामले के पांच
आरोपियों को पेश करने के लिए
प्रोडक्शन वारंट जारी किया
है.

पुलिस ने इस मामले में 3 जनवरी
को 33 पृष्ठों का आरोप पत्र
दाखिल किया था.

मामले में छठा आरोपी किशोर है
जिसके खिलाफ सुनवाई
जुवेलाइन जस्टिस बोर्ड में
होगी.

महानगर दंडाधिकारी
नम्रिता अग्रवाल ने पांचों
आरोपियों को 7 जनवरी को अदालत
में पेश करने के लिए
प्रोडक्शन वारंट जारी किया.
दंडाधिकारी ने कहा, “मैंने
संपूर्ण आरोप पत्र, मेडिकल
रिपोर्ट, पीड़िता का बयान और
अन्य दस्तावेजों का अवलोकन
किया.”

दंडाधिकारी ने आगे कहा, “सभी
आरापियों के विरुद्ध प्रथम
दृष्टया आईपीसी की धारा 302
(हत्या), 307 (हत्या का प्रयास),
376(2)(जी)(सामूहिक दुष्कर्म), 377
(अप्राकृतिक कृत्य), 395 (डकैती),
396 (डकैती में हत्या), 365 (बुरी
नीयत से किसी व्यक्ति को
कब्जे में रखना या अपहरण
करना), 394 (डकैती के दौरान घायल
करना), 201 (साक्ष्य मिटाना), 120बी
(साजिश), 34 (समान मंशा), 412
(बेइमानी से चोरी की संपत्ति
लेना) और 397 (हत्या या गंभीर रूप
से घायल करने के साथ लूट या
डकैती) के तहत आरोप बनता है.”

उन्होंने
कहा, “मैं आरोप पत्र पर
संज्ञान ले रही हूं. सभी
आरोपियों को सम्मन किया जाता
है. सभी आरोपियों को 7 जनवरी को
अदालत में पेश करने के लिए
प्रोडक्शन वारंट जारी किया
जाए.”

मामले के आरोपी बस
चालक राम सिंह, उसका भाई
मुकेश, फल विक्रेता पवन
गुप्ता, जिम इंस्ट्रक्टर
विनय शर्मा और बस का क्लीनर
अक्षय ठाकुर दिल्ली की
तिहाड़ जेल में बंद हैं.

सुनवाई
के दौरान लोक अभियोजक राजीव
मोहन ने अदालत को बताया कि
मामले में पुलिस ने सभी
दस्तावेज पेश कर दिए हैं.

मोहन
ने कहा, “शिकायतकर्ता
(पीड़िता के दोस्त) का बयान,
पीड़िता का बयान, डीएनए
रिपोर्ट, सफदरजंग अस्पताल का
रिकार्ड, सिंगापुर अस्पताल
से डेथ समरी-सभी कुछ पेश कर
दिया गया है.”

उन्होंने
कहा कि सिंगापुर अस्पताल से
हासिल डेथ समरी में कहा गया
है कि हमले में बुरी तरह
जख्मी होने के कारण पीड़िता
के अंग क्षतिग्रस्त हो गए थे
और अंगों ने काम करना बंद कर
दिया जिससे उसकी मौत हुई.
सफदरजंग अस्पताल के रिकार्ड
बताते हैं कि पीड़िता गंभीर
रूप से घायल थी.

ज्ञात हो
कि 16 दिसंबर की रात छह लोगों
ने चलती बस में 23 साल की
प्रशिक्षु फीजियोथेरापिस्ट
के साथ सामूहिक दुष्कर्म
किया और विरोध करने पर उसे और
उसके साथ चल रहे पुरुष मित्र
को मारपीट कर बुरी तरह घायल
कर दिया.

40 मिनट तक
हैवानियत दिखाने के बाद
दोनों को निर्वस्त्र,
लहूलुहान हालत में बस से बाहर
फेंक दिया गया था. सफदरजंग
में हालत बिगड़ने पर पीड़िता
को सिंगापुर ले जाया गया जहां
उसकी मौत हो गई.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: गैंगरेप केस: सात जनवरी को होगी आरोपियों की पेशी
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017