घटने के बावजूद 10 लाख करोड़ रुपये का काला धन

घटने के बावजूद 10 लाख करोड़ रुपये का काला धन

By: | Updated: 10 Jan 2013 02:58 AM


नई
दिल्‍ली:
क्या देश में काला
धन घटा है? नेशनल इंस्टीट्यूट
ऑफ पब्लिक फाइनांस एंड
पॉलिसी (एनआईपीएफपी) की ताजा
रिपोर्ट के मुताबिक फीसदी
में काला धन घटा है.

केंद्रीय
वित्त मंत्रालय को सौंपी गई
एक हजारा पन्‍नों की रिपोर्ट
के मुताबिक 2012 में काला धन कुल
जीडीपी का 10 फीसदी या करीब 10
लाख करोड़ पाया गया है.

एनआईपीएफपी
ने 1976 में जीडीपी का 15 से 18
फीसदी का अनुमान लगाया था. 1981
और 1984 में 18 से 21 फीसदी काले धन
का अनुमान लगाया था. पहले के
तीन अनुमानों के मुताबिक
काला धन घटा है.

वित्त
मंत्रालय ने ही काले धन का
अनुमान लगाने के लिए
एनआईपीएफपी से कहा था. सरकार
को दिसंबर में रिपोर्ट मिल
चुकी है और विचार करने के बाद
सरकार संसद में रिपोर्ट पेश
करेगी.

रिपोर्ट में कहा
गया है कि रियल एस्टेट,
टेलीकॉम और माइनस सेक्टरों
में सबसे ज्यादा काला धन है.


काले धन का अनुमान लगाने
के लिए सरकार ने नेशन काउंसिल
फॉर एप्‍लाइड इकोनॉमिक
रिसर्च यानी एनसीईएआर और
नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ
फाइनांशियल मैनजेंमेंट यानी
एनआईएफएम को भी काम सौंपा है.
सरकार को अभी दो रिपोर्ट का
इंतजार है.




फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story राजस्थान विधानसभा भवन में 'बुरी आत्माओं' का साया, हवन कराने की मांग