घोषणापत्र: गडकरी ने कहा, झूठा आरोप लगाने पर सूचना प्रसारण मंत्री मनीष तिवारी ने माफी मांगी

By: | Last Updated: Tuesday, 15 April 2014 3:37 PM
घोषणापत्र: गडकरी ने कहा, झूठा आरोप लगाने पर सूचना प्रसारण मंत्री मनीष तिवारी ने माफी मांगी

नई दिल्ली. एबीपी न्यूज के खास कार्यक्रम घोषणापत्र में आज हमारे तीखे सवालों का जवाब दे रहे हैं बीजेपी के वरिष्ठ नेता नितिन गडकरी.

 

नितिन गडकरी ने कहा कि देश की जनता गरीब है देश धनवान है. भय, भूख और भ्रष्टाचार से मुक्त देश को बनाने के लिए बीजेपी को अपना मत दें.

 

सवाल. क्या मोदी गुलाबी क्रांति के बहाने हिंदुत्व का मुद्दा उठा रहे हैं ? इससे भी बड़ा सवाल ये कि आखिर विकास और सुशासन से शुरू हुई 2014 की लड़ाई आखिर हिंदू मुस्लिम और सांप्रदायिकता तक क्यों पहुंची? और इसे हिंदू मुस्लिम तक किसने पहुंचाया?

 

उत्तर. देखिए हम हिन्दू मुसलमान पर नहीं लड़ते हैं. कांग्रेस का चुनावी रणनीति है. मुसलमानों में डर पैदा करना. मुस्लिम मोहल्ले में सीडियां बांटी हैं. देखिए कांग्रेस आतंकियों के नाम पर तुष्टिकरण की राजनीति करती है.

 

संजय जोशी के मुद्दे पर गडकरी ने कहा कि पार्टी के हित संजय जोशी को निकालना पड़ा.

 

सवाल. हिंदुस्तान टाइम्स अखबार ने रिपोर्ट दी है कि बीजेपी का मीडिया के जरिए चुनाव प्रचार का खर्च ही करीब पांच हजार करोड़ रुपये तक हो सकता है हालांकि खर्च के औपचारिक आंकड़े पर बीजेपी में कोई बोलने को तैयार नहीं है. लेकिन ये सवाल तो देश पूछ ही रहा है कि प्रचार के लिए पैसा कहां से आ रहा है ?

 

उत्तर. मैं आप सबको क्लियर बता दूं. नरेंद्र मोदी के जरिए नेशनल फंड में एक रूपया नहीं आया है. केजरीवाल के यहां टोपी..पोस्टर कहां से आ रहे हैं. प्रचार के लिए पैसा कहां से आ रहा है. कोई जादूगर है क्या..कोई भगवान दे रहा है.

 

हां, ये सत्य है हम चंदा मांगते हैं. अडानी के जहाज में दामाद क्यों गये थे. देखो उद्योगपति बहुत होशियार होते हैं. सभी को पैसे देते हैं. केजरीवाल को भी देते हैं. भाजपा को भी देते हैं. हमारे यहां कुछ ही लोग हैं जो पैसा इकट्ठा करते हैं. जैसे फिल्म इंडस्ट्री में अफवाह होता है वैसे ही आजकल मोदी के खिलाफ भी हो रहा है.

 

सवाल. बीजेपी का पूरा प्रचार मोदी केंद्रित है. मोदी ही सबसे बड़े स्टार प्रचारक हैं. मोदी ही सबसे ज्यादा रैलियां कर रहे हैं. नारा भी यहा है – अबकी बार मोदी सरकार तो फिर खुद बीजेपी में ही लहर को लेकर असमंजस क्यों ?

 

उत्तर. हमारे देश में बीजेपी की लहर है लेकिन नेतृत्व मोदी जी का है. इसलिए कोई कन्फ्यूजन नहीं है. पहले कहते थे कि जब हम पीएम उम्मीदवार घोषणा नहीं किये तो आप पीएम उम्मीदवार घोषणा नहीं कर रहे हैं. जब हम उम्मीदवार घोषित कर दिये तो आप लोग कह रहे हैं कि मोदी केंद्रित हैं. बीजेपी मोदी के नेतृत्व में चुनाव लड़ रही है.

 

मोदी की रैली नागपुर में क्यों नहीं. इस पर उन्होंने कहा कि मैं तो जीत ही रहा हूं. मोदी को कमजोर सीट पर भेजेंगे.

 

क्या मुसलमानों की वजह से मोदी की रैली आपके यहां नहीं हुई. इस पर उन्होंने कहा कि नहीं, ऐसा कुछ नहीं है. मुझे इस बात का गर्व है कि मैं संघ का कार्यकर्ता हूं. मुझे इस पर गर्व है. आम मुसलमानों के बीच इसको लेकर कोई दिक्कत नहीं है. केवल दूसरे वामपंथी केवल वोट बैंक की राजनीति के लिए एंटी मुसलमान का ठप्पा लगाते हैं.

 

मुझे पार्टी जो भी रोल देगी. मैं करता रहूंगा. हमारी पार्टी में सामूहिक नीति तय होती है.

 

मैं सोशल वर्क करता हूं. मैं कोई उद्योगपति नहीं हूं. मैं प्रोफेशनल राजनीतिज्ञ नहीं हूं. मैं बायोडाटा लेकर कभी संघ के कार्यालय या बीजेपी के किसी नेता के पास नहीं गया.

 

कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने आज मुझसे फोन करके माफी मांगी है. मैंने उनसे कहा कि आप कोर्ट में अपना एक स्टेटमेंट दे दीजिए.  उन्होंने मुझ पर झूठा प्रचार किया था आदर्श में फ्लैट है. यहां केजरीवाल झूठे आरोप लगाता है मीडिया दिखाने लगती है. अब इस कानून बननी चाहिए कि कोई झूठा आरोप नहीं लगाये.