घोषणापत्र: नीतीश ने कहा- बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने पर भी मोदी को समर्थन नहीं

By: | Last Updated: Monday, 31 March 2014 2:08 PM

नई दिल्ली. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एबीपी न्यूज के खास कार्यक्रम घोषणापत्र में हमारे तीखे सवालों के जवाब दे रहे हैं. नीतीश कुमार ने कहा कि कांग्रेस के खिलाफ माहौल को भुनाया जा रहा है.

 

एक तरफा माहौल बनाया जा रहा है. विकास की बात होती है तो एक राज्य का उदाहरण दिया जाता है. विश्लेषण होना चाहिए. सार्थक चर्चा होनी चाहिए. बहर की श्रृंखला हो. इन दोनों चर्चा आरोपों और प्रत्यारोपों की हो रही है. सरकार कैसे चलाई जाएगी. नजरिया क्या है. पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के प्रति क्या नजरिया है. सियसत में नजरिया कैसा होगा.

 

केंद्र और राज्य के बीच कैसा संबंध हो. पहली बार लोकसभा चुनाव में इतना धन खर्च हो रहा है. पहले लोग सहयोग करते थे. पहली बार पूंजीपति निवेश कर रहे हैं. तो क्या नीति में इनको फायदा नहीं दिया जाएगा. इस देश में नीतियों पर चर्चा होनी चाहिए. इस देश में हिट एंड रन कैंपेन चल रहा है.

 

सवाल. मोदी के लिए कभी अच्छा तो कभी बुरा. मोदी-नीतीश का रिश्ता क्या कहलाता है? क्या आप पीएम बनने का सपना देख रहे हैं.

 

जवाब. आप लोग पूरे राजनीति के माहौल को व्यक्ति के चारो तरफ कर रहे हैं. दो अलग-अलग संदर्भ के झगड़े को मिला देते हैं. देश को देखने का अप्रोच अलग है. भाई अगर मतभेद हो तो इसका सम्मान करना चाहिए. एक व्यक्ति का लोकसभा मे एक दिन का अनुभव नहीं है. मेरा कोई ख्वाब नहीं है. मेरा ख्वाब है कि बिहार का गौरवशाली इतिहास वापस आए.

 

आपकी पार्टी के लोग भी आपको छोड़ रहे हैं. ऐसा कहा जा रहा है कि शरद यादव से आपके मतभेद हैं. क्या आपको लगता है कि शरद यादव जी भी आपका साथ छोड़ सकते हैं. इस पर नीतीश ने कहा कि यह तो सभी पार्टियों में आना जाना है. रही बात शरद जी की तो यह बेकार अफवाह है. हम लोग एकजुट होकर काम कर रहे हैं.

 

राम विलास पासवान का बीजेपी के साथ जाना कैसा देखते हैं. इस पर नीतीश ने कहा कि यह विचित्र किंतु सत्य है. तंज कसते हुए कहा कि यह एक सिंगल मामला है.

 

लोकसभा में हारेंगे तो क्या इस्तीफा देंगे और नया जनादेश लेंगे? हम सबको बधाई दे देंगे. हम तो जनादेश मांग रहे हैं जनता जनादेश देगी वह करेंगे.

 

 

सवाल. सर्वे तो साफ कह रहे हैं कि नीतीश को इस बार नुकसान होगा. तो क्या इस नुकसान की वजह बीजेपी से अलग होना है?

 

जवाब. राजनीति कोई सौदा नहीं है. जो यह नुकसान और फायदे के लिए किया जाए. यह सर्वे व्यक्तिगत रूप से कहते हैं कि कभी सही नहीं हुआ है. मुझे सर्वे के पक्ष पर जोर नहीं देना है. यह विविधताओं का देश है. यह सर्वे कभी उपयोगी नहीं होता है. यह पीआर एक्सरसाइज है.

 

क्या धर्मनिरपेक्षता की लड़ाई में आप लालू से पीछे हैं. इस सवाल पर नीतीश कुमार ने कहा कि एक भी सीट नहीं आए फिर भी हमें कोई फर्क नहीं पड़ता है. इस देश में बहुत ही लोग समझदार हैं. उनको पता है कि कौन क्या कर रहा है.

 

क्या आपको विशेष राज्य दर्जा एनडीए दे तो आप उसको अपना समर्थन देंगे. इस सवाल पर गोल गोल जवाब देते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि विशेष राज्य का दर्जा किसी की कृपा से नहीं मिलेगा. यह हमारा हक है. लेकिन हम विचारधार से समझौता नहीं करेंगे. इसका अर्थ यह है कि वह चुनाव के बाद भी मोदी का समर्थन नहीं करेंगे.

 

अयोध्या मुद्दे, आर्टिकल 370 जैसे मुद्दे बाहर रखे गये इसलिए हम लोग उनके साथ थे. आज परिस्थिति बदल चुकी है. 2004 में एनडीए हारी इसकी वजह गुजरात था. गुजरात बीजेपी के लोगों ने जीत लिया लेकिन देश हार गये. गैर भाजपाई और गैर कांग्रेसी सरकार बनती है. तो आर्थिक नीतियों के मामले में हम लेफ्ट के साथ होंगे.

 

हिट एंड रन की बात..पूंजीनिवेश की बात केजरीवाल भी करते हैं. आप पर क्या अरविंद केजरीवाल का प्रभाव है. इस पर उन्होंने कहा कि आप बेहद सरलीकरण कर रहे हैं. मुझ पर श्री बाबू..कर्पूरी ठाकुर, गांधी जी का असर है. हो सकता है कि मेरी विचार को किसी और के विचार से मेल खो हो जाए.

 

आप जाति के आधार पर टिकट दे रहे हैं. इस पर उन्होंने कि यह तो बिहार और देश में कॉमन बीमारी है. हम पर ही आरोप क्यों.

 

कौन हैं नीतीश कुमार

 

सत्तर के दशक का युवा इंजीनियर और आज के बिहार का मुख्यमंत्री.

 

छात्र जीवन से ही राजनीति में आए नीतीश जेपी आंदोलन से गहरे तक जुड़े रहे. जेल भी गए. जेपी आंदोलन से ही नीतीश ने समाजवादी विचारधारा अपनायी और आज तक वो इसी विचारधारा की राजनीति वो कर रहे हैं.

 

उम्र 63 साल, बिहार के बख्तियारपुर में जन्म. इंजीनियर की पढ़ाई.

1980 में पहला चुनाव लड़ा. 1985 में पहली बार विधायक बने. 1989 में जनता दल के महासचिव चुने गए.1989 में ही नीतीश ने पहली बार लोकसभा चुनाव जीता. वीपी सिंह सरकार में नीतीश कृषि राज्य मंत्री बनाए गए. 1994 में समता पार्टी बनी तो नीतीश ने लालू से नाता तोड़ा . अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में नीतीश रेल मंत्री बने. नीतीश ही इंटरनेट बुकिंग और तत्काल सेवा जैसी सुविधाएं लेकर आए.

 

2005 में लालू की पार्टी को हराकर नीतीश कुमार बिहार के मुख्यमंत्री बने . लगातार नौ साल से नीतीश कुमार मुख्यमंत्री हैं. 2005 में सत्ता में आने वाले नीतीश ने बिहार में जमकर विकास किया. यही वजह रही कि 2010 में लोगों ने नीतीश को जबरदस्त तरीके से चुना हालांकि उस वक्त बीजेपी नीतीश के साथ थी. 2013 में नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू का बीजेपी से नाता टूट गया.

 

नीतीश कुमार के साथ कई विवाद भी जुड़े…

 

नीतीश के ही कार्यकाल में 2002 में गोधरा ट्रेन हादसा हुआ . वही गोधरा ट्रेन हादसा जिसके बाद गुजरात में दंगे भड़के थे

नीतीश पर मौकापरस्ती का भी आरोप लगा. गुजरात दंगों के बाद 11 साल तक बीजेपी के साथ रहे लेकिन मोदी के नाम पर नाता तोड़ा.

 

कहने वाले कहते हैं कि नीतीश भी पीएम बनने का सपना देख रहे हैं इसीलिए उन्होंने एडीए से नाता तोड़ा. कभी मोदी की तारीफ करने वाले नीतीश अब कहते हैं कि देश में मोदी की नहीं ब्लोअर की हवा है.

 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: घोषणापत्र: नीतीश ने कहा- बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने पर भी मोदी को समर्थन नहीं
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ele2014
First Published:

Related Stories

‘साझी विरासत’ को बचाने के लिए एकजुट होकर लड़ेंगी विपक्षी पार्टियां
‘साझी विरासत’ को बचाने के लिए एकजुट होकर लड़ेंगी विपक्षी पार्टियां

नई दिल्ली:  लगभग एक दर्जन से ज्यादा विपक्षी पार्टियों ने कल एक मंच पर आकर आरएसएस पर तीखा हमला...

गोरखपुर ट्रेजडी: बच्चों की मौत के मामले पर इलाहाबाद HC में आज सुनवाई
गोरखपुर ट्रेजडी: बच्चों की मौत के मामले पर इलाहाबाद HC में आज सुनवाई

इलाहाबाद: गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में बच्चों की मौत के मामले की न्यायिक जांच की मांग को...

गुजरात में स्वाइन फ्लू से अबतक 230 की मौत, राज्य ने केंद्र से मांगी मदद
गुजरात में स्वाइन फ्लू से अबतक 230 की मौत, राज्य ने केंद्र से मांगी मदद

अहमदाबाद: गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने राज्य में स्वाइन फ्लू की स्थिति के बारे में...

मनमोहन वैद्य का राहुल को जवाब, कहा- 'RSS क्या देश के बारे में नहीं जानते कुछ'
मनमोहन वैद्य का राहुल को जवाब, कहा- 'RSS क्या देश के बारे में नहीं जानते कुछ'

नागपुर: राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के नेता मनमोहन वैद्य ने कहा है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल...

गोरखपुर ट्रेजडी: जारी है बच्चों की मौत का सिलसिला, गुरुवार को 8 की मौत
गोरखपुर ट्रेजडी: जारी है बच्चों की मौत का सिलसिला, गुरुवार को 8 की मौत

गोरखपुर: उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में बाबा राघव दास मेडिकल कालेज में बच्चों की मौत का सिलसिला...

मुरथल रेप केस: हाईकोर्ट ने SIT को एक महीने में जांच पूरी करने को कहा
मुरथल रेप केस: हाईकोर्ट ने SIT को एक महीने में जांच पूरी करने को कहा

चंडीगढ़: पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट ने साल 2016 के जाट आंदोलन के दौरान सोनीपत के निकट मुरथल में...

बाढ़ का कहर: बिहार में 98 तो असम में 133 की मौत, यूपी के 15 जिले भी चपेट में
बाढ़ का कहर: बिहार में 98 तो असम में 133 की मौत, यूपी के 15 जिले भी चपेट में

नई दिल्ली: बिहार, असम और पश्चिम बंगाल में बाढ़ ने जनजीवन पर बुरी तरह असर डाला है. बिहार में बाढ़...

यूपी के 7000 से ज्यादा किसानों को मिला कर्जमाफी का प्रमाणपत्र
यूपी के 7000 से ज्यादा किसानों को मिला कर्जमाफी का प्रमाणपत्र

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में गुरुवार को 7574 किसानों को कर्जमाफी का प्रमाणपत्र दिया गया. इसके बाद 5...

सेना की ताकत बढ़ाएंगे छह अपाचे लड़ाकू हेलीकॉप्टर, सरकार ने दी खरीदने की मंजूरी
सेना की ताकत बढ़ाएंगे छह अपाचे लड़ाकू हेलीकॉप्टर, सरकार ने दी खरीदने की...

नई दिल्ली: रक्षा मंत्रालय ने गुरुवार को एक बड़ा फैसला लिया. मंत्रालय ने भारतीय सेना के लिए...

क्या है अमेरिकी राजदूत के हिंदू धर्म परिवर्तन कराने का वायरल सच?
क्या है अमेरिकी राजदूत के हिंदू धर्म परिवर्तन कराने का वायरल सच?

नई दिल्लीः सोशल मीडिया पर पिछले कुछ दिनों से एक विदेशी महिला की चर्चा चल रही है.  वायरल वीडियों...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017