चंदे की चिकचिक फंसते जा रहे हैं केजरीवाल

By: | Last Updated: Tuesday, 19 November 2013 9:20 PM

<p style=”text-align: justify;”>
<b>नई दिल्ली: </b>चंदे की
चिकचिक AAP के संयोजक अरविंद
केजरीवाल का पीछा नहीं छोड़
रही. समाजसेवी अन्ना हजारे की
जो सीडी सामने आई है उसमें भी
अन्ना हजारे आंदोलन के दौरान
इकट्ठा हुए फंड के इस्तेमाल
को लेकर चिंतित दिखाई दे रहे
हैं. लेकिन ये पहला मौका नहीं
है जब केजरीवाल को चंदे को
लेकर जवाब देना पड़ा है.
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<b>आंदोलन के दौरान भी लगा था
आरोप </b>
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
आंदोलन शुरू होने के बाद पहला
मौका आया था साल 2011 में. नवंबर
का महीना. कांग्रेस महासचिव
दिग्विजय सिंह ने आरोप लगाया
था कि आंदोलन के नाम पर ऐसा
पैसा भी इकट्ठा किया जा रहा
है जिनके सोर्स का पता नहीं
है. उस वक्त रामलीला मैदान
में डोनेशन कैंप चल रहे थे. इन
कैंपों में लोग स्वेच्छा से
पैसे दान दे रहे थे. बदले में
पर्ची भी मिल रही थी. दान देने
का एक विकल्प था सीधे बैंक
खाते में पैसे ट्रांसफर.
मामला इसी तरीके को लेकर उलझा
था. आरोप लगने के बाद आंदोलन
के मंच से वो सारे पैसे
लौटाने का ऐलान खुद केजरीवाल
को करना पड़ा था जिनके सोर्स
का पता नहीं था.
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<b>किरण बेदी ने उठाया बजट का
मुद्दा</b>
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<b>मई 2012  </b>
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
इस बार अंग्रेजी अखबार
इंडियन एक्सप्रेस ने खबर
छापी थी जिसमें अन्ना हजारे
ये कहते दिखाई पडे कि किरण
बेदी ने उन्हें फंड के गलत
इस्तेमाल की शिकायत की है.
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
ये फंड Public Cause Research Foundation (PCRF) के
खाते में था जिसका इस्तेमाल
केजरीवाल और उनके सहयोगियों
के हाथों में था. उस वक्त भी
फंड का मामला काफी उछला था.
एक्सप्रेस के मुताबिक 3 मार्च
2012 के उस खत में ये बातें थीं.
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
“मुझे किरण बेदी जी का ईमेल
मिला है. उन्होंने लिखा है कि
PCRF का बजट बनाया जाना चाहिए.
बजट में होना चाहिए कि किस मद
में कितना इस्तेमाल होना है.
PCRF के स्टॉफ पर काफी खर्च हो
रहा है. ये पैसा जनता का है और
इसलिए इसे संभल कर खर्च होना
चाहिए.”
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
इस वक्त भी केजरीवाल को सफाई
देनी पड़ी थी.
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<b>2 करोड़ का चैक?</b>
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<b>सितंबर 2012</b>
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
इस दौरान सामने आया कि अरविंद
केजरीवल 2 करोड़ के चैक लेकर
अन्ना हजारे के पास गए थे. ये
दो करोड़ उस फंड का था जो IAC के
आंदोलन के लिए इकट्ठा हुए थे.
अन्ना हजारे ने उस वक्त ये
रकम लेने से इंकार कर दिया था.
अरविंद केजरीवाल के सहयोगी
कुमार विश्वास टीवी पर इस बात
को स्वीकार करते हुए भी दिखाई
दिए.
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<b>विदेश से लिए चंदे पर सवाल</b>
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<b>नवम्बर 2013</b>
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
एक बार फिर से केजरीवाल को जो
चिकचिक झेलनी पड़ी है वो चंदे
को लेकर ही है. पहला आरोप
स्वामी अग्निवेश ने लगाया कि
आंदोलन के पांच करोड़ अरविंद
केजरीवाल ने अपनी जेब में डाल
लिया. वहीं बीजेपी और
कांग्रेस दोनों ही इस मुद्दे
को लेकर AAP के पीछे पड़ गईं.
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
केजरीवाल पर आरोप लगा कि वो
विदेशों से गलत तरीके से फंड
ले रहे हैं. इस मुद्दे पर
गृहमंत्री ने जांच की बात तक
कह डाली. अरविंद केजरीवाल का
कहना है कि वो हर तरह की जांच
के लिए तैयार हैं लेकिन जांच
बाकी पार्टियों को मिले चंदे
की भी होनी चाहिए.
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<b>आंदोलन में मिले चंदे पर
सवाल</b>
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
मामला ठंडा तक नहीं पड़ा था
कि अचानक आंदोलन के चंदे का
मसला उठ गया. इस बार सीडी में
अन्ना हजारे खुद सवाल उठाते
नजर आए. लेकिन दिलचस्प ये है
कि अरविंद केजरीवाल का कहना
है कि आंदोलन को मिला 54 लाख का
चंदा तो पहले ही खत्म हो चुका
था इसलिए उसे चुनाव के लिए
इस्तेमाल करने का मतलब नहीं
था लेकिन ये बयान कुमार
विश्वास के बयान से उल्टा है
जिसके दो करोड़ का चंदा अन्ना
को सौंपने की बात कही गई थी.
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
कांग्रेस और बीजेपी दोनों AAP
के खिलाफ किसी भी मुद्दे को
घेरने के लिए तैयार बैठी थीं.
अरविंद केजरीवाल अपनी
ईमानदार छवि के आधार पर ही
वोट मांग रहे हैं. लेकिन चंदे
की चिकचिक और बढ़ती है तो
चुनावों में केजरीवाल और
उनकी पार्टी को नुकसान तय है.<br />
</p>

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: चंदे की चिकचिक फंसते जा रहे हैं केजरीवाल
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: home town
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017