छोटा होगा मोदी का मंत्रिमंडल, 75 साल से ज्यादा उम्र के नेताओं को नहीं मिलेगी जगह

By: | Last Updated: Friday, 23 May 2014 9:03 AM

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री की शपथ लेने जा रहे नरेंद्र मोदी क्या देश के मंत्रालयों की गिनती घटाने वाले हैं? सूत्रों से खबर मिल रही है कि देश के कई बड़े-छोटे मंत्रालयों का विलय किया जाएगा ताकि मंत्रिमंडल छोटा हो और कई अहम जिम्मेदारियां प्रधानमंत्री कार्यालय के जिम्मे हों.

 

कैबिनेट को लेकर माथापच्ची के बीच सूत्रों की माने तो नरेंद्र मोदी कैबिनेट छोटा रखना चाहते हैं लेकिन सहयोगियों ने मोदी पर दबाव बनाना शुरू कर दिया है. शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने कहा है कि उनके सांसद पहले से ज्यादा जीतकर आये हैं इसलिए ज्यादा मंत्री बनाए जाने चाहिए. उद्धव ठाकरे चाहते हैं कि शिवसेना की मंत्रिमंडल में ज्यादा हिस्सेदारी हो.

 

75 साल से ज्यादा के नेताओँ को जगह नहीं ?

मोदी के साथ 26 मई को 20-22 नेता मंत्री बनाए जा सकते हैं लेकिन कोई भी मंत्री 75 साल से ऊपर का नहीं होगा.  अगर ऐसा हुआ तो मुरली मनोहर जोशी और लाल कृष्ण आडवाणी जैसे नेताओं का पत्ता साफ हो जाएगा. हालांकि सूत्र ये बता रहे हैं कि इसमें एक-दो अपवाद हो सकते हैं .मोदी के मंत्रिमंडल में सभी राज्यों को मौका दिया जाएगा लेकिन सबसे ज्यादा चेहरे उत्तर प्रदेश से हो सकते हैं.

 

दिग्गजों को हराने वालों को मंत्रिमंडल में शामिल करने की फिलहाल कोई योजना नहीं है, न ही ये तय किया गया है कि चुनाव जीते सभी पूर्व मुख्यमंत्रियों को मोदी मंत्रिमंडल में शामिल किया जाए.

 

सूत्रों बता रहे हैं कि मोदी कैबिनेट में एनडीए में शामिल पीएमके, टीडीपी और शिवसेना जैसी पांच पार्टियों को जगह मिल सकती है. चुनाव में हारे नेताओं को मंत्री नहीं बनाया जाएगा लेकिन इसमें कोई अपवाद भी हो सकता है. आडवाणी को स्पीकर बनाया जा सकता है हालांकि मंत्रिमंडल और स्पीकर समेत सभी मुद्दों पर आखिरी पैसला मोदी लेंगे.

 

नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण के लिए अमिताभ बच्चन से लेकर रजनीकांत और सलमान खान तक को न्योता भेजा गया है. लता मंगेशकर को भी मोदी के शपथ का न्योता भेजा गया है.

 

मोदी का शपथग्रहण समारोह 26 मई को राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में किया जाएगा. इस समारोह में कुल 3000 लोग शामिल होंगे.