जबलपुर सेंट्रल जेल की गायों की अनोखी डिमांड: दूध चाहिए तो पहले एफएम सुनाओ !

By: | Last Updated: Thursday, 27 February 2014 2:44 PM

जबलपुर: एफएम के शौकीन केवल लड़के-लड़कियां ही नहीं हैं. जानवरों को भी एफएम संगीत उतना ही प्रिय है. यकीन न हो तो जबलपुर सेंट्रल जेल की गायों से मिल आइए. ये गायें एफएम की दीवानगी में इस कदर डूबी हुई हैं कि हर दिन एफएम से दिल-बहलाने के बाद ही दूध देने का मूड बनाती हैं. इन गायों को एफएम सुनाने के लिए बकायदा लाउड स्पीकर की व्यवस्था की गई है.

 

 जबलपुर सेंट्रल जेल की गौशाला इन दिनों आकर्षण का केंद्र बनी हुई है. जितने मुलाकाती जेल में कैद अपने रिश्तेदारों से मिलने आते हैं, उससे ज्यादा लोग यहां की गौशाला की संगीतप्रेमी गायों को देखने आते हैं.

 

जेल की इस गौशाला में तकरीबन 127 मवेशी हैं जिनमे से 11 गायें दूध देती हैं. इस गौशाला के मवेशी एफ.एम. रेडियो सुनने का शौक रखते हैं. एफएम को लेकर दीवानगी इस कदर है कि जबतक रेडियो चालू ना करो तब तक गाएं दूध ही नहीं देती हैं.

 

गौशाला के प्रभारी के मुताबिक उन्होंने गौशाला में गायों को एफएम सुनाने के लिए लाउड स्पीकर लगवा रखे हैं. प्रभारी के मुताबिक़ यदि दिन के समय रेडियो बंद कर दिया जाए तो गायें एक साथ रंभाने लगती हैं.

 

गायों के इस संगीत प्रेम पर पशु विशेषज्ञों का कहना है कि संगीत का जानवरों पर भी प्रभाव पड़ता है और संगीत सुनने से वो शांत और अधिक प्रोडक्टिव हो जाते हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: जबलपुर सेंट्रल जेल की गायों की अनोखी डिमांड: दूध चाहिए तो पहले एफएम सुनाओ !
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017