जमीन की जंग से निकला सिंचाई घोटाले का जिन्न?

By: | Last Updated: Friday, 28 September 2012 8:44 AM
जमीन की जंग से निकला सिंचाई घोटाले का जिन्न?

मुंबई: महाराष्ट्र
के डिप्टी सीएम अजित पवार का
इस्तीफा मंजूर होने के करीब
है, दूसरी ओर बीजेपी के
अध्यक्ष नितिन गडकरी भी
सवालों के घेरे में हैं.
गडकरी बचाव के मुद्रा में है
और अंजलि दमानिया का उनपर
हमला तेज़ होता जा रहा है.

दरअसल ज़मीन के एक टुकड़े को
लेकर शुरू हुआ एक विवाद,
जिसके बाद घिर गए महाराष्ट्र
के उप मुख्यमंत्री अजित पवार
और इसके आरोप में उलझ गए
विपक्ष की सबसे बड़ी पार्टी
के राष्ट्रीय अक्ष्यक्ष.
महाराष्ट्र से लेकर दिल्ली
की राजनीति के इन दो
महारथियों को घेरने वाली हैं
अंजलि दमानिया.

विवाद की वजह बना महाराष्ट्र
के रायगढ़ जिले की करजत
तालुका में अंजलि दमानिया की
ज़मीन का एक टुकड़ा. एबीपी
न्यूज़ पहुंचा है झगड़े की उस
जमीन तक.

जब मई 2011 में अंजलि को ये पता
चला कि उनकी 59 में से 30 एकड़
जमीन कोंढ़ाणे डैम के लिए
छीनी जाने वाली है तो
उन्होंने सूचना के अधिकार को
हथियार बनाया.

अंजलि को सूचना के अधिकार के
तहत जानकारियाँ तो मिल रही
थीं लेकिन उससे कई गुना तेजी
से कोंकण इरिगेशन
डेवलेपमेंट कॉरपोरेशन यानी
केआईडीसी डैम के लिए ठेके
बांटने में लगी थीं. आरोप है
कि ठेके देने के लिए सारे
नियमों को ताक पर रखा जा रहा
था.

अंजलि दमानिया का कहना
है,”जुलाई से लेकर एक अगस्त तक
हम देश के बाहर थे और जिस दिन
वापस आए उस दिन पता चला कि इस
डैम के टेंडर्स हुए. टेंडर्स
फ्लोट हो गए. टेंडर्स अवॉर्ड
हो गए एफए नाम की एक कंपनी को. 3
अगस्त को हमने 13 लोगों को एक
लीगल नोटिस भेजा. कि हमारी
जमीन है वहां पर हम चिंतित है
तो जो भी है वहां पर हमें जरूर
बताएं. जैसे ही हमने लीगल
नोटिस भेजा तो वहां के एक सब
कॉन्ट्रेक्टर थे जो हमसे आकर
मिले. उन्होंने हमसे कहा कि
जो ज़मीन आपकी जा रही है उसकी
एक वैल्यू बताई और बोले आपको
कुछ अलग लगता हो तो हमको बताए.”

यहीं से इस पूरी कहानी में एक
नया मोड़ आया. अंजलि का दावा
है कि शायद वो पैसे ले लेतीं
लेकिन भ्रष्टाचार के खिलाफ
अन्ना का आंदोलन उनकी जिंदगी
का टर्निंग प्वाइंट साबित
हुआ. अंजलि का दावा है कि वो
दिल्ली के रामलीला मैदान में
अन्ना हजारे के आंदोलन के बाद
इस पूरी मुहिम से जुड़ी थीँ
और अपनी लड़ाई को आगे बढ़ाने
का फैसला किया.

दमानिया कहती हैं, “क्योंकि
उससे पहले अपना घर संसार
संभालने वाली मैं एक आम
नागरिक थी तब तक मैंने कभी
नहीं सोचा था कि मुझे
भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई
लड़नी चाहिए. लेकिन अन्ना जी
के आंदोलन में मुझे जगाया.
मुझे ऐसा लगने लगा कि अगर ये
पैसे मैं ले लेती हूं तो कहीं
ना कहीं मैं भी इस भ्रष्टाचार
का हिस्सा बन जाऊंगी. मैंने
पहली बार जिंदगी में आरटीआई
डालना शुरू किया.”

भ्रष्टाचार

पेशे से अंजलि दमानिया
पैथॉलॉजिस्ट हैं वो मुंबई के
सांताक्रूज में एक
डायग्नोसिस्ट सेंटर भी
चलाती है. लेकिन भ्रष्टाचार
के खुलासे के बाद अंजलि
इंडिया अंगेस्ट करप्शन के
साथ जुड़ गई थीं. सवाल ये है कि
अगस्त में ही अंजलि को ये
क्यों लगा कि इस डैम परियोजना
में भ्रष्टाचार हुआ है.

एक तरफ अंजलि ने अपनी लड़ाई
लड़ने का फैसला किया और दूसरी
तरफ 47 करोड़ का एक छोटा डैम
प्रोजेक्ट एक बहुत बड़े
प्रोजेक्ट में बदल गया.

अंजलि की ही जमीन के साथ वहां
कई और लोगों के खेत भी थे जो
अंजलि के साथ ही उनकी लड़ाई
में शामिल हो गए. अंजलि ने
आरटीआई डालना जारी रखा और
आरटीआई से मिली जानकारियों
के आधार पर अंजलि ने 10 अप्रैल
2012 को बॉम्बे हाईकोर्ट में एक
जनहित याचिका डाली थी. लेकिन
पीआईएल दाखिल करने के दो दिन
बाद ही अंजलि को करजक के
तहसीलदार ने एक लीगल नोटिस
भेजा.

अंजलि दमानिया कहती हैं,
“तहसीलदार ने कहा ये एक
अनकल्टीवेबवल लैंड है. नोटिस
का जवाब देने के लिए 7 दिन का
समय दिया गया. तब हमने उस लैंड
के फोटो लिए और मिट्टी टेस्ट
लिए. आरसीएफ से उसकी रिपोर्ट
ली कि ये सुपरफर्टाइल लैंड है
जिसमें हम जो चाहे ग्रो कर
सकते थे. ये सारी चीजें
तहसीलदार को देने के बावजूद 9
अगस्त को  मेरे खिलाफ
ऑर्डर्स निकाले और मेरी 59
एकड़ जमीन पर महाराष्ट्र
शासन लगा दिया है.”

जनहित याचिका के
बाद बॉम्बे हाईकोर्ट ने डैम
के निर्माण पर रोक लगा दी है.
अंजलि का दावा है कि उनके मन
में हमेशा से देश के प्रति
समर्पण का भाव रहा है और ये
संस्कार उन्हें अपने परिवार
से मिले हैं. कुछ इसी भाव से
अंजलि ने बीजेपी के
राष्ट्रीय अध्यक्ष नितिन
गडकरी को एक एसएमएस भी भेजा
था.

अंजलि का आरोप है कि वो इस
घोटाले को लेकर बीजेपी
अध्यक्ष नितिन गडकरी से जब
मिली तो उन्होंने शरद पवार से
अपने कारोबारी संबंधों का
हवाला देते हुए कोई भी मदद
करने से इंकार कर दिया.

अंजलि के पति एक कॉरपोरेट
कंपनी में काम करते हैं.
अंजलि दो बच्चों की मां हैं.
लेकिन अब उन्हें जाना जा रहा
है महाराष्ट्र में सिंचाई
घोटाले को उजाकर करने वाली
महिला के तौर पर.

दरअसल अंजलि ने सिर्फ अपनी
जमीन की पड़ताल के चलते जो
जानकारी निकलवाई उससे सिर्फ
एक मामले का खुलासा हुआ लेकिन
फिर धीरे-धीरे साफ हुआ
भ्रष्टाचार का ये पानी और भी
कई जगहों पर बह रहा है.

सिंचाई की हर परियोजना में
लगभग एक ही तरीके से मनमाने
ठेके दिए गए और फिर उनकी लागत
बढ़ा दी गई और इस तरह ये 70000
हजार करोड़ का सिंचाई घोटाला
सामने आया. आरोप ये भी है कि
सिंचाई घोटाले में किसानों
को जमीनें भी उनसे ले ली गईं.

महाराष्ट्र के
उपमुख्यमंत्री अजित पवार के
इस्तीफ़ा देने के बाद अंजलि
की हिम्मत और बढ़ी है और अब
उन्हें इतंजार है इस मामले के
सभी आरोपियों को कड़ी सजा
दिलाए जाने का.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: जमीन की जंग से निकला सिंचाई घोटाले का जिन्न?
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

यूपी STF को मिली बड़ी कामयाबी, छोटा राजन गैंग का शार्प शूटर खान मुबारक गिरफ्तार
यूपी STF को मिली बड़ी कामयाबी, छोटा राजन गैंग का शार्प शूटर खान मुबारक...

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की एसटीएफ टीम को बड़ी कामयाबी हासिल हुई है. एसटीएफ ने छोटा राजन गैंग के शार्प...

मुंबई : मार्निंग वाक कर रही पूर्व न्यूज एंकर पर गिरा नारियल का पेड़
मुंबई : मार्निंग वाक कर रही पूर्व न्यूज एंकर पर गिरा नारियल का पेड़

मुंबई: मुंबई में एक हादसे में महिला की मौत से बीएमसी पर गंभीर सवाल खड़े हो रहे है. ये हादसा...

पेंटागन ने कहा- डायरेक्ट डायलॉग से तनाव दूर करें भारत और चीन
पेंटागन ने कहा- डायरेक्ट डायलॉग से तनाव दूर करें भारत और चीन

नई दिल्लीः अमेरिकी रक्षा मंत्रालय पेंटागन ने भारत और चीन के बीच सीधी बातचीत की अपील की है....

बाढ़ और बारिश से बेहाल आधा हिंदुस्तान, गुजरात- मध्य प्रदेश में बिगड़े हालात, असम में कुछ सुधार
बाढ़ और बारिश से बेहाल आधा हिंदुस्तान, गुजरात- मध्य प्रदेश में बिगड़े हालात,...

नई दिल्ली: देश के कई राज्यों में बारिश ने कहर बरपा रखा है. तेज आंधी से और बारिश से जनजीवन अस्त...

शंकर सिंह वाघेला के इस्तीफे से गुजरात में बढ़ेगी कांग्रेस की मुश्किल
शंकर सिंह वाघेला के इस्तीफे से गुजरात में बढ़ेगी कांग्रेस की मुश्किल

गांधीनगर: गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री और बापू के नाम से मशहूर शंकर सिंह वाघेला ने कल कांग्रेस...

पीएम मोदी के डिनर में जाएंगे नीतीश, राहुल गांधी से भी होगी मुलाकात
पीएम मोदी के डिनर में जाएंगे नीतीश, राहुल गांधी से भी होगी मुलाकात

नई दिल्लीः देश के 13वें राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी 24 जुलाई को राष्ट्रपति पद से मुक्त होंगे. विदाई...

मंदिर की दान पेटी में मिले लाखों रुपये के चलन से बाहर हो चुके पुराने नोट
मंदिर की दान पेटी में मिले लाखों रुपये के चलन से बाहर हो चुके पुराने नोट

भुवनेश्वर: श्री जगन्नाथ मंदिर प्रशासन ने कहा है कि इसने नोटबंदी के बाद बंद किए गए 500 रूपये और 1000...

मुंबई: चलती कारों में चूहों की वजह से लग रही है आग, फायर ब्रिगेड की रिपोर्ट में खुलासा
मुंबई: चलती कारों में चूहों की वजह से लग रही है आग, फायर ब्रिगेड की रिपोर्ट...

मुंबई:  देशभर में लगातार चलती गाड़ी में आग लगने की घटनाएं सामने आ रही हैं. सिर्फ़ मुंबई में तीन...

मध्य प्रदेश के इंदौर में हाथ में बंदूक लिए टमाटर की पहरेदारी कर रहे हैं सुरक्षा गार्ड
मध्य प्रदेश के इंदौर में हाथ में बंदूक लिए टमाटर की पहरेदारी कर रहे हैं...

इंदौर: पिछले कुछ महीने से टमाटर का बाजार गरमाया हुआ है. मुंबई में टमाटर के कैरेट चुराए जा रहे और...

कुदरत की मार: गुजरात और महाराष्ट्र में पानी में डूबे मंदिर, गीर सोमनाथ में 10 फीट पानी भरा
कुदरत की मार: गुजरात और महाराष्ट्र में पानी में डूबे मंदिर, गीर सोमनाथ में 10...

नई दिल्ली: देश के कई राज्यों में बारिश से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है. गुजरात और महाराष्ट्र में...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017