'जांच को लेकर दिल्ली पुलिस पर कोई दबाव नहीं'

By: | Last Updated: Monday, 20 May 2013 9:05 AM

नई
दिल्ली:
दिल्ली पुलिस
प्रमुख नीरज कुमार ने सोमवार
को कहा कि इंडियन प्रीमियर
लीग (आईपीएल) में स्पॉट
फिक्सिंग के लिए गिरफ्तार
राजस्थान रॉयल्स के तीन
खिलाड़ियों के प्रति नरमी
दिखाने को लेकर उस पर किसी
तरह का दबाव नहीं है.

कुमार
ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल
बोर्ड (बीसीसीआई) की
भ्रष्टाचार निरोधी इकाई के
प्रमुख रवि सावानी से
मुलाकात के बाद यह बात कही.
दिल्ली पुलिस ने साफ किया कि
राजस्थान रॉयल्स टीम
प्रबंधन ने अब तक दागी तिकड़ी
के खिलाफ प्रथम सूचना
रिपोर्ट (एफआईआर) दर्ज नहीं
कराई है.

एक समाचार चैनल
से बातचीत के दौरान कुमार ने
कहा, “हम पर किसी तरह का दबाव
नहीं है. हम अपने जांच को
तार्किक अंत देंगे. हमें इसकी
परवाह नहीं कि हमारे रास्ते
में कौन आता है.”

कुमार ने
कहा कि बीसीसीआई ने जो जांच
समिति बनाई है, उसके प्रमुख
के तौर पर सावानी ने उनसे
‘जांच में हासिल तथ्यों को
साझा करने का अनुरोध’ किया है
क्योंकि यह बोर्ड को जांच के
दौरान काफी काम आएंगे.

कुमार
ने कहा, “हमें बीसीसीआई के साथ
जानकारी साझा करने में कोई
दिक्कत नहीं है लेकिन हम ऐसा
अदालत की अनुमति के बाद ही कर
सकेंगे.”

सावानी ने कुमार
से आधे घंटे की मुलाकात के
बाद कहा कि आयुक्त के साथ
उनकी बैठक ‘सफल रही’ और
उन्होंने ‘सहयोग का वादा’
किया है.

सावानी ने कहा,
“मैं राजस्थान रॉयल्स
फ्रेंचाइजी से अनुरोध
करूंगा कि वह स्पॉट फिक्सिंग
मामले में गिरफ्तार अपने
खिलाड़ियों के खिलाफ एफआईआर
दर्ज कराए. इस बीच,
अनुशासनात्मक जांच जारी है
और इन खिलाड़ियों के खिलाफ
इसकी रिपोर्ट के आधार पर कदम
उठाए जाएंगे.”

बीसीसीआई ने
इस मामले को गम्भीरता से लेते
हुए रविवार को अपनी
कार्यकारिणी की आपात बैठक
में कुछ अहम कदम उठाए थे.
बोर्ड ने कहा कि अब आगे से
इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल)
के लिए खिलाड़ियों के
एजेंटों को भी मान्यता
(एक्रीडेशन) दिया जाएगा और
प्रत्येक टीम के साथ आईसीसी
की भ्रष्टाचार निरोधी इकाई
(एएचसीयू) के अधिकारी सफर
किया करेंगे.

इस बैठक में
राजस्थान रॉयल्स के
अधिकारियों को भी बुलाया गया
था. इन अधिकारियों ने भी
पकड़े गए तीनों खिलाड़ियों
के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने
की इच्छा जाहिर की थी.

उल्लेखनीय
है कि दिल्ली पुलिस ने बुधवार
देर रात राजस्थान रॉयल्स
फ्रेंचाइजी के तीन
खिलाड़ियों-शांताकुमारन
श्रीसंत, अजीत चंदेला और
अंकित चव्हाण को स्पॉट
फिक्सिंग के आरोपों के तहत
गिरफ्तार किया.

इस मामले
में गुरुवार को 11 सटोरिये भी
दबोचे गए. इन सबको गुरुवार को
दिल्ली की एक अदालत में पेश
किया गया, जिसने इन्हें पांच
दिन की पुलिस रिमांड पर भेज
दिया.

इन खिलाड़ियों ने
अपने ऊपर लगे आरोप स्वीकार कर
लिए. दिल्ली पुलिस मामले की
विस्तृत जांच कर रही है.
पुलिस ने कहा है कि जांच के
दौरान इस मामले में मुम्बई
अंडरवर्ल्ड का हाथ होने का
संकेत मिला है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ‘जांच को लेकर दिल्ली पुलिस पर कोई दबाव नहीं’
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ???? ?????? ????
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017