जेल जाने को लेकर केजरीवाल का खुला पत्र, लिखा- 'मैं मुजरिम नहीं हूं तो जमानत क्यों लूं?'

By: | Last Updated: Saturday, 24 May 2014 2:51 AM
जेल जाने को लेकर केजरीवाल का खुला पत्र, लिखा-  ‘मैं मुजरिम नहीं हूं तो जमानत क्यों लूं?’

नई दिल्ली: आप नेता अरविंद केजरीवाल ने आज अपने समर्थकों को उन परिस्थितियों के बारे में बताया जिनके चलते उन्हें जेल भेजा गया. इस बीच, दिल्ली में विधानसभा चुनाव को देखते हुए अपना आधार मजबूत करने के मुद्दे पर केजरीवाल की आम आदमी पार्टी ने व्यापक जनसंपर्क अभियान शुरू किया.

 

केजरीवाल ने पत्र में कहा है “मैंने पूर्व भाजपा अध्यक्ष नितिन गडकरी की असलियत उजागर की लेकिन वह खुलेआम घूम रहे हैं और मुझे जेल में डाल दिया गया. उन्होंने मुझे जमानत देने को कहा लेकिन मैंने ऐसा क्या अपराध किया है जिसके लिए मैं जमानत दूं ?” पत्र में केजरीवाल के हस्ताक्षर हैं और लिखा है “कैदी नंबर 3642, जेल नंबर 4, तिहाड़.” केजरीवाल का यह पत्र पार्टी के वरिष्ठ नेता मनीष सिसोदिया ने कार्यकर्ताओं की बैठक में पढ़ कर सुनाया. यह बैठक एक स्थानीय अदालत द्वारा केजरीवाल की न्यायिक हिरासत की अवधि 6 जून तक बढ़ाए जाने के बाद पार्टी की रणनीति तय करने के लिए बुलाई गई थी.

 

पत्र में केजरीवाल ने कहा है “मेरे खिलाफ मानहानि के कई मामले हैं लेकिन किसी में भी मुझसे जमानत के लिए नहीं कहा गया क्योंकि मैं अपराधी नहीं हूं. इस मामले में, मैंने सोचा कि मुझे राहत मिलेगी लेकिन मुझे जमानत देने के बजाय अदालत ने मुझे जेल भेज दिया. अब मैं तिहाड़ जेल में हूं और मेरे दिमाग में सवाल उठ रहे हैं कि आम आदमी भ्रष्टाचार से कैसे लड़ेगा ?” उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई में, वह भूखे रहे, पुलिस की लाठियां खाईं, अपमान सहा और अब “तिहाड़..” (जेल:) .

 

पत्र में उन्होंने लिखा है ‘‘मेरी ताकत सिर्फ और सिर्फ आप हैं. कृपया मेरे लिये प्रार्थना कीजिये.’’ पार्टी ने लोगों को केजरीवाल के रूख से अवगत कराने और पत्र की प्रतियां पूरे शहर में वितरित करने के लिए ‘‘संकल्प सभाएं’’ करने का निर्णय किया है.

 

आप नेता गोपाल राय ने बताया ‘‘हमें यह पत्र प्रत्येक घर में भेजना है क्योंकि मीडिया तथ्यों को गलत तरीके से पेश कर रहा है. सभी 70 विधानसभा क्षेत्रों में स्वयंसेवकों को एकत्र होना चाहिए और प्रत्येक वार्ड में संकल्प सभाओं के जरिये यह संदेश फैलाना चाहिए. जब तक हमारे नेता जेल से बाहर नहीं आ जाते तब तक हम चुप नहीं रहेंगे.’’ इन सभाओं के साथ साथ दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए आप जनसंपर्क कार्यक्रम भी शुरू करेगी.

 

आप की दिल्ली इकाई के सचिव और प्रवक्ता दिलीप पांडेय ने बताया ‘‘कल से, हम बूथ स्तर पर और वार्ड स्तर पर पार्टी संगठन का काम शुरू करेंगे. प्रत्येक विधानसभा सीट पर एक पर्यवेक्षक होगा जो पार्टी और कार्यकर्ताओं के बीच समन्वयक का काम करेगा.’’

 

पार्टी के नेता कुमार विश्वास ने कार्यकर्ताओं से भावनात्मक अपील की. उन्होंने कहा ‘‘आपके नेता :केजरीवाल: ने हमेशा आगे रह कर नेतृत्व किया और हमें यह दिखाने की जरूरत है कि उनके लिए उनकी गैर मौजूदगी में कैसे लड़ाई लड़ी गई.’’ कुमार विश्वास अमेठी लोकसभा सीट पर राहुल गांधी से हार गए हैं.

 

आप नेता योगेन्द्र यादव ने कहा कि लोकसभा चुनाव में आप और भाजपा के वोटों में 14 फीसदी का अंतर है और 7 फीसदी वोट इधर होने से पार्टी को मदद मिल सकती थी.

 

उन्होंने कहा कि लोगों के एक वर्ग में यह धारणा है कि ‘‘मोदी प्रधानमंत्री पद के लिए और केजरीवाल मुख्यमंत्री पद के लिए.’’ यह लोग अब भी आप को ही वोट देंगे.

 

यादव ने कहा कि आप के इस्तीफे से नाराज वर्ग और संतुष्ट हो सकता है क्योंकि पार्टी इसके लिए माफी मांग चुकी है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: जेल जाने को लेकर केजरीवाल का खुला पत्र, लिखा- ‘मैं मुजरिम नहीं हूं तो जमानत क्यों लूं?’
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ele2014
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017